[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: एक कंपनी, दो योजना – News 4 India

एक कंपनी, दो योजना

छिन्‍दवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। शहर में माचागोरा से शहर में पानी पहुंचाने के लिए बनाई गई जलआवर्धन योजना और सीवरेज योजना का काम एक साथ शुरू हो गया है। जलआवर्धन योजना के लिए मेरे राइजिंग से पानी पहुंचाने के लिए पाइन-लाइन आ गए हैं। सीवरेज योजना के लिए सर्वे का काम चल रहा है। इन दोनों ही योजनाओं का काम एक ही कंपनी को टेंडर होने के कारण एक साथ काम शुरू हो होगा।

सीवरेज योजना

कुल प्रोजेक्‍ट 174.85 करोड़ रूपए का है, जिसे 36 माह में तैयार करके देना है। शहर में सीवरेज लाइन बिछने के बाद शहर में खुली ना‍ली-नाले नहीं रहेंगे। इसके लिए हर 250-250 मीटर पैकेज में सीवरेज लाइन को खोदकर इसे पूरा किया जाएगा।

यह बनेगा

266 किलोमीटर का सीवरेज नेटवर्क जोन एक और दो बनेगा। 7 हजार 407 मेन होल और 95 लाख का फर्स्‍ट स्‍टेज पंप बनेगा। 28.30 लाख एमएलडी का सीवरेज ट्रीटमेंट प्‍लांट करीब 3190 लाख रूपए से बनेगा। सीवरेज पंपिंग स्‍टेशन स्‍पेल एक और दो बनेगा जिसकी लागत 234.28 लाख होगी। कोलाढाना में सवरेज प्‍लांट और वार्ड नंबर 35, 48, 24 और 9 में बायोगैस प्‍लांट बनेगा।

 

यह चल रहा

सीवरेज ट्रीटमेंट प्‍लांट का काम शुरू करने से पहले वार्ड स्‍तर पर सर्वे किया जा रहा है। इसके लिए कए सहमति पत्र परिवार के सदस्‍यों की संख्‍या, सीवरेज सिस्‍टम सहित अन्‍य बिन्‍दुओं की जानकारी जुटाई जा रही है।

जलआवर्धन योजना

योजना नगरनिगम में शामिल सभी 24 ग्रामीण वार्डों या फिर शहर के चारफाटक से जुड़े हुए निगम क्षेत्र के रहवासियों को माचागोरा डेम से पानी पिलाया जाएगा। अमृत योजना के तहत जलआवर्धन योजना में इसका काम होगा। चौरई विकासखंड के माचागोरा डेम से इन क्षेत्रों में पानी की सप्‍लाई करने की योजना है।

ये बनेगा

धरमटेकड़ी में फिल्‍टर प्‍लांट बनाया जाएगा। डीपीआर में ककई गांव में इंटक बेल(जहां डेम का पानी पीने योग्‍य साफ किया जाता है) बनाया जाएगा। यहां से पानी फिल्‍टर प्‍लांट में यानि धरमटेकड़ी तक पहुंचाया जाएगा। 27 एमएलडी का नया ट्रीटमेंट प्‍लांट और 11 पानी की टंकी, 18 किलोमीटर की राइजिंग लाइन बिछेगी।

यह चल रहा

फिल्‍टर प्‍लांट से पानी टंकी तक पानी पहुंचाने के लिए मेन राइजिंग लाइन बिछाने के लिए डीआई पाइप (डक्‍टाइल आयरन) बुलाए गए हैं। धमरटेकड़ी के पांच एकड़ में फिल्‍टर प्‍लांट लगाए जाना है। जिसके लिए 125 छोटे बड़े जंगली पेड़ को हटाया जाएगा जिसकी अनुमति ली जा रही है। इसी से लगे पांच एकड़ क्षेत्र में पार्क बनाने का प्रस्‍ताव चल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *