[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: 5 वर्ष में 199 लोगों की मौत | News 4 India

5 वर्ष में 199 लोगों की मौत

रायपुर न्‍यूज 4 इंडिया। छत्‍तीसगढ़ के वन मंत्री महेश गागड़ा ने राज्‍य में पिछले पांच वर्षों में जंगली हाथियों के हमले में 199 लोगों की मौत को स्‍वीकारते हुए कहा कि इनके उत्‍पात को रोकने एवं उन्‍हें नियंत्रित करने के लिए कर्नाटक के विशेषज्ञों की मदद ली जायेगी। श्री गागड़ा ने 21 दिसंबर को विधानसभा में प्रश्‍नोत्‍तर काल में कांग्रेस सदस्‍य अरूण वोरा के पूरक प्रश्‍नों के उत्‍तर में बताया कि इस सत्र के तुरंत बाद कर्नाटक के विशेषज्ञों को इस समस्‍या से निजात के लिए बुलाया जायेगा तथा इसके साथ ही उनसे स्‍थानीय दलों को प्रशिक्षण भी दिलवाया जायेगा। वहां से छह प्रशिक्षित हाथियों को भी लाने की योजना है। पांच वर्षों में हाथियों ने सात हजार घरों एवं लगभग 33 हजार हेक्‍टेयर फसल को नुकसान पहुंचाया है। उन्‍होंने कहा कि शासन द्वारा पीडि़तों को लगभग साढ़े 39 करोड़ रूपए का मुआवजा वितरित किया गया है। इसके साथ ही हाथी रहवास एवं कारीडोर क्षेत्र के विकास हेतु जल श्रोतों का निर्माण फलदार वृक्षों को रोपण चारागाह का विकास एवं अग्नि सुरक्षा आदि का कार्य करवाया जा रहा है। हाथी राहत एवं पुनर्वास केंद्र की स्‍थापना की जा रही है। जिसमें समस्‍या मूलक हाथी को पकड़ कर सुधार हेतु रखा जायेगा। कांग्रेस सदस्‍य धनेंद्र साहू ने कहा कि वन्‍य क्षेत्र के बाहर सामान्‍य इलाके में हाथियों, जगली सुअर एवं अन्‍य जानवारें को अगर अपने प्राणों की रक्षा के लिए कोई व्‍यक्ति उन्‍हें मारता है तो उस पर वन्‍य जीव संरक्षण अधिनियम के तहत मामला दर्ज नहीं होना चाहिए। अध्‍यक्ष ने इस पर कहा कि केंद्र के अधिकार क्षेत्र का मामला है। मंत्री ने इस पर कोई जवाब नहीं दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *