[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: विकास और सामाजिक क्षेत्र ,छत्तीसगढ़ अग्रणी – News 4 India

विकास और सामाजिक क्षेत्र ,छत्तीसगढ़ अग्रणी

रायपुर न्‍यूज 4 इंडिया। सबके साथ-सबका विकास की भावना के अनुरूप समावेशी विकास के ध्‍येय को लेकर काम कर रही छत्‍तीसगढ़ की रमन सरकार की यह अपने आप में बड़ी उपलब्धि रही कि राज्‍य की जीएसडीपी वृद्धि दर राष्‍ट्रीय औसत से भी अधिक रही। भारतीय रिजर्व बैंक ने भी अपनी वर्ष 2016-17 की वार्षिक रिपोर्ट में छत्‍तीसगढ़ सरकार के बेहतर वित्‍तीय प्रबंधन का उल्‍लेख करते हुए कहा है कि ऋण भुगतान पर राजस्‍व व्‍यय, विकासमूलक कार्यों पर और सामाजिक क्षेत्र की योजनाओं पर खर्च करने में छत्‍तीसगढ़ आगे रहा और देश में उसका प्रदर्शन सर्वश्रेष्‍ठ रहा। इस अवधि में छत्‍तीसगढ़ ने अपने बजट का 22.7 प्रतिशत व्‍यय किया है, जबकि राज्‍यों का औसत 12.8 प्रतिशत है। सामाजिक क्षेत्र की योजनाओं में 15.8 प्रतिशत राशि खर्च कर छग ने देश में सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन किया है, जबकि अन्‍य राज्‍यों का औसत 7.9 प्रतिशत है। छग ने सामाजिक क्षेत्र पर अन्‍य राज्‍यों की तुलना में लगभग दोगुना व्‍यय किया है। राजको‍षीय घाटे को निर्धारित सीमा के भीतर रखने में भी रमन सरकार सफल रही है और छग जीएसडीपी के प्रतिशत के रूप में देश में न्‍यूनतम ऋण भार वाला राज्‍य बना।

उपलब्धियां

ग्रॉस वेल्‍यू एडेड में मेन्‍यूफेक्‍चरिंग सेक्‍टर अंतर्गत छग का योगदान 16.4 से बढ़ कर 22.6 प्रतिशत हो गया है, जो देश में सर्वाधिक है।

बिजली, रसोई गैस, पेयजल आपूर्ति व अन्‍य जनोपयोगी सेवाओं में 16.77 प्रतिशत वृद्धि के साथ छग पहले स्‍थान पर रहा।

मेन्‍यूफेक्‍चरिंग सेक्‍टर, व्‍यापार, होटल व परिवहन सेवाओं में नये रोजगार सृजन के मानकों में देश में 11 फीसदी वृद्धि के साथ छग का दूसरा स्‍थान रहा।

लेबर इन्‍टेसिंव सेक्‍टर में गुजरात के बाद छग 10.6 प्रतिशत के साथ सर्वाधिक ग्रॉस वेल्‍यू वृद्धि हासिल करने वाला राज्‍य बना।

ऋण भुगतान पर राजस्‍व व्‍यय केवल 4.6 प्रतिशत जबकि राज्‍यों का औसत 11.4 प्रतिशत है।

अनुसूचितजनजातियों के लिए 38 प्रतिशत और अनुसूचित जातियों के लिए 12 प्रतिशत राशि खर्च की जा रही है।

छग में स्‍टील का उत्‍पादन राज्‍य निर्माण के समय 4.4 मिलियन टन के आसपास था, जो अब बढ़कर 15 मिलियन टन हो गया।

वर्ष 2013-14 में सीमेंट का उत्‍पादन में 8.5 मिलियन टन होता था जो आज 19.8 मिलियन टन तक पहुंच गया।

एल्‍युमिनियम का उत्‍पादनएक लाख टन से बढ़ कर 3.45 लाख टन तक पहुंच गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *