[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: नया नाम नया डॉस – News 4 India

नया नाम नया डॉस

मुंबई न्‍यूज 4 इंडिया। विवादों में फंसी पद्मावती की रिलीज का रास्‍ता साफ हो गया है। सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्‍म सर्टिफिकेशन बिना कोई कट लगाए फिल्‍म को यू/ए सर्टिफिकेट देने को तैयार हो गया है, लेकिन इससे पहले 5 बदलाव की शर्त रखी है। इनके तहत फिल्‍म का नाम बदलकर पद्मावत रखना होगा। घूमर डांस में सुधार करने होंगे। सीबीएफसी के अध्‍यक्ष प्रसून जोशी ने कहा कि पांचों बदलावों के बाद ही रिलीज की मंजूरी देंगे। निर्माता-निर्देशक संजय लीला भंसाली भी बदलाव करने को तैयार हैं। जोशी के साथ 28 दिसंबर को विशेषज्ञों की समिति ने फिल्‍म समीक्षा की थी।

5 बदलाव

नाम पद्मावत करना होगा। भंसाली ने समिति से कहा था कि फिल्‍म इतिहास नहीं, काल्‍पनिक रचना पर आधारित है।

घूमर डांसमें सुधार करना होगा। विरोध करने वालों का कहना है कि राजपूत राजघरानों में रानियां घूमर नहीं करती थीं।

डिस्‍क्‍लेमर देना होगा कि यह सती प्रथा को महिमामंडित नहीं करती है।

फिल्‍म काल्‍पनिक होने का डिस्‍क्‍लेमर देना होगा। 28 नवंबर को अंतिम आवेदन में फिल्‍म की कॉपी में डिस्‍क्‍लेमर नहीं दिया गया था।

ऐतिहासिक स्‍थालों के भ्रामक संदर्भों को बदलना होगा।

श्री राजपूत करणी सेना के अध्‍यक्ष सुखदेव सिंह ने कहा कि अंडरवर्ल्‍ड के दबाव में मंजूरी दी गई। फिल्‍म दिखाने वाले सिनेमाघरों में तोड़फोड़ करेंगे। करणी सेना के संरक्षक लोकेंद्र सिंह कालवी ने दावा किया कि समिति ने सेंसर बोर्ड से कहा था कि खामियों की वजह से फिल्‍म रिलीज नहीं हो सकती। घूमर गाना बैन हो। करणी सेना और जौहर स्‍मृति संस्‍थान ने समीक्षा को भंग कर नया पैनल बनाने की मांग की है। मेवाड़ के पूर्व राजपरिवार के सदस्‍य विश्‍वराज सिंह ने भी फैसले पर सवाल उठाते हुए इसके प्रमुख प्रसून जोशी को खत लिखा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *