[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: मेरे भ्रूण का डीएनए टेस्‍ट कराओ और सबको सच बताओ | News 4 India

मेरे भ्रूण का डीएनए टेस्‍ट कराओ और सबको सच बताओ

सिवनी न्‍यूज 4 इंडिया। ससुराल पक्ष की प्रताड़ना और पति द्वारा चरित्र पर संदेह को लेकर जबलपुर निवासी एक महिला इतनी आहत हुई कि उसने पहले अबार्शन कराया और फिर अपने भ्रूण को लेकर जबलपुर से कुरई पहुंच गई।

वहां थाने पहुंचकर मामला दर्ज करने और भ्रूण का डीएनए टेस्‍ट करा कर सच सामने लाने की गुहार लगाई। इस मांग को लेकर पुलिस थाने के चक्‍कर लगा रही पीडि़ता 6 जनवरी को जब कुरई थाने में पहुंची तो पुलिस ने भ्रूण को जब्‍त कर लिया। मामले की छानबीन करने का हवाला देकर महिला को लौटा दिया। पीडि़ता का आरोप है कि वह पिछले दो माह से भटक रही है, लेकिन उसे न्‍याय नहीं मिल रहा है। कुरई थाना प्रभारी का कहना है कि 26 दिसंबर को हुई मारपीट में दोनों पक्षों की ओर से काउंटर मामला दर्ज किया गया था दोनों के बीच चरित्र को लेकर विवाद चल रहा है फिलहाल भ्रूण को जब्‍त कर लिया गया है, जिसकी जांच कराई जाएगी।

यह है मामला

जबलपुर निवासी रीता शिवहरे का विवाह सिवनी जिले के खवास के रहने वाले पंकज शिवहरे के साथ सात माह पहले हुआ था। पंकज उसे मायके में छोड़ आया था जब रीता परिजनों के साथ खवाज पहुंची तो ससुराल वालों ने विवाद किया। रीता का आरोप है कि उसके साथ 26 दिसंबर को मारपीट की गई, जिससे उसके गर्भ में पल रहे बच्‍चे को नुकसान पहुंचा। जब वह मायके गई तो डॉक्‍टरों ने पुलिस केस होने का हवाला देकर भर्ती करने से इंकार कर दिया। उसने निजी अस्‍पताल में मेडिकल जांच कराई और जबलपुर में ही रीता ने गर्भपात कराया। वह अपना भ्रूण लेकर सिवनी पहुंची और फिर एक थाने से दूसरे थाने वह रिपोर्ट लिखाने व भ्रूण का डीएनए टेस्‍ट कराने भटकती रही।  6 जनवरी को रीता कुरई पहुंची, वहां भी पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने सें इंकार कर दिया। बाद में रीता एएसपी के पास पहुंची तो उन्‍होंने थाना प्रभारी को कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *