[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: प्रवासी व मेयरों की अनोखी बैठक | News 4 India

प्रवासी व मेयरों की अनोखी बैठक

नई दिल्‍ली न्‍यूज  4 इंडिया। 9 जनवरी को दिल्‍ली में 23 देशों के प्रवासी भारतीय सांसदों की एक अनोखी संसद बैठी। पीएम नरेंद्र मोदी ने इसे संबोधित करते हुए कहा मैं दुनिया से आए सभी मित्रों का सवा सौ करोड़ भारतीयों की ओर से स्‍वागत करता हूं। दुनिया में भारत का अगर कोई स्‍थान एम्‍बेसडर है तो आप लोग हैं। वेलकम टू इंडिया वेलकम टू होम। आपकी पुरानी पीढि़यां देश के अलग-अलग हिस्‍सों से जुड़ी हुई हैं। आप जब भारत के किसी एयरपोर्टपर उतरते हैं तो इसी मिट्टी का जुड़ाव सामने आता है। आंखों से भावनाएं सामने आती हैं। आप रोकना चाहते हैं, लेकिन ऐसा नहीं कर पाते। आप भारत से दुनिया के जिस हिस्‍से में गए वहां अपनी पहचान छोड़ी। भारतीयता को जीवित रखा। साथ ही वहां के खानपान और जीवन में भी घुल गए। आज ये मिनी वर्ल्‍ड पार्लियामेंट मेरे सामने है। देश का गौरव बढ़ाने के लिए आप अभिनंदन के पात्र हैं।

2017 में एक लाख करोड़ का एफडीआई आया

मोदी ने कहा कि तीन या चार साल में दुनिया का भारत के प्रति नजरिया बदला है। भारत ट्रांसफॉर्म हो रहा है। पिछले साल एक लाख करोड़ रूपए का एफडीआई भारत आया। ईज ऑफ डूइंग में 42 स्‍थानों का सुधार हुआ।

पीएम मोदी ने कहा- भारत को जानिए क्विजमें 5 हजार से ज्‍यादा प्रवासी भारतीय युवाओं ने हिस्‍सा लिया। इस साल ज्‍यादा बड़े लेवल पर करेंगे। नीति आयोग के 2020 के एजेंडे में आपको खास जगह दी गई है।

15 साल पहले हुई थी शुरूआत

प्रवासी भारतीय दिवस की शुरूआत 2003 में अटल बिहारी बाजपेयी की सरकार ने की थी। इस साल 16वीं बार इसे 6 से 8 जनवरीतक सिंगापुर में आयोजित किया गया। 9 जनवरी के दिन ही 1915 में महात्‍मा गांधी अफ्रीकासे भारत लौटे थे। यह सबसे ज्‍यादा 7 बार दिल्‍ली में आयोजित हुआ है।

गुयाना से 20 सांसद आए

141 सदस्‍यों में सबसे अधिक 20 सांसद और तीन मेयर गुयाना के थे। इसके अलावा अमेरिका, ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका, कनाडा आदि देशों के शामिल रहे। अमेरिका के दो मेयर थे, जो सीनेट के सदस्‍य भी थे।

3 देशों के पीएम भारतीय हैं

दुनिया के तीन देशों के भारतीय मूल के प्रधानमंत्री हैं। आयरलैंड में भारतीय मूल के लियो वरदाकर, पुर्तगाल में एंटोनियो लुईस द कोस्‍टा और मॉरिशस में प्रविन्‍द जगनाथ प्रधानमंत्री हैं। इसके अलावा अमेरिका, गुयाना, पुर्तगाल में भारतीय मूल के लोग कैबिनेट मंत्री भी हैं। कनाडा में 4 मंत्री भारतीय मूल के हैं।

दुनिया में 3.8 करोड़ लोग भारतीय मूल के हैं

दुनिया में तीन करोड़ 80 लाख लोग भारतीय मूल के रहते हैं। 29 देशों में भारतीय मूल के लोगों की आबादी एक लाख से ज्‍यादा है। इनमें पर्सन ऑफ इंडियन ओरिजिन और नॉन रेजिडेंट इंडियन शामिल हैं। सबसे अधिक 41 लाख लोग सऊदी अरब में रहते हैं। इसके बाद नेपाल में 40 लाख और यूएई में 35 लाख भारतीय मूल के हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *