[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: अंचल से भी गूंज उठी एग्रीकल्‍चर कॉलेज की मांग – News 4 India

अंचल से भी गूंज उठी एग्रीकल्‍चर कॉलेज की मांग

छिन्‍दवाड़ा न्‍यूज4 इंडिया। कृषि बाहुल्‍य जिले में कृषि अनुसंधान और उद्यानिकी शिक्षा के लिए पर्याप्‍त संसाधन मौजूद है। यहां 25 साल से कृषि महाविद्यालय शुरू करने की मांग की जा रही है। इस साल के पहले दिन से प्रशासकीय गलियारे में एग्रीकल्‍चर कॉलेज के लिए जमीन तलाशने की कवायद शुरू होने के बाद जिला मुख्‍यालय सहित ग्रामीण अंचल के लोग भी एग्रीकल्‍चर कॉलेज जल्‍द खोलने के समर्थन में एकजुट हो रहे हैं। जिले के सामाजिक, स्‍वयंसेवी युवा और धार्मिक संगठन मुख्‍यमंत्री को ज्ञापन देने की तैयारी कर चुके हैं। जिले के सभी विधायक, नगरीय निकायाअें के अध्‍यक्ष, मंडी अध्‍यक्ष सहित अन्‍य जनप्रतिनिधियों ने जिले में एग्रीकल्‍चर कॉलेज खोले जाने की मांग की है। अमरवाड़ा, परासिया सहित अन्‍य नगरों में आदिवासी समाज, लोधी समाज, पवार समाज संगठन के पदाधि‍कारी मुख्‍यमंत्री के नाम एसडीएम को ज्ञापन दे चुके हैं। अब जिले के प्रवास पर आ रहे  मुख्‍यमंत्री को ज्ञापन देने की तैयारी कर रहे हैं।

लीलाधर बांगड़े, अध्‍यक्ष नप लोधीखेड़ा का कहना है कि एग्रीकल्‍चर कॉलेज खुलने से जिले के छात्रों को शिक्षा प्राप्‍त करने अन्‍यत्रनहीं जाना पड़ेगा। हम मुख्‍यमंत्री को पत्र लिखकर जिले में कॉलेज खोलने का आग्रह करेंगे। छात्रों व किसानों को खेतों में अनुसंधान का लाभ मिलेगा।

अध्‍यक्ष नप चांद, भारती ऋषि वैष्‍णव, चांद में जमीन उपलब्‍ध करवा देंगे। कृषि महाविद्यालय चांद नगरीय क्षेत्र में खोला जाए। चांद में महाविद्यालय के लिए अनुकूल परिस्थितियां हैं। ऐसे में यहां पर महाविद्यालय खोलने से खेती किसानी को भी फायदा मिल सकेगा।

माया डेहरिया, अध्‍यक्ष नगर परिषद बड़कुही जिले में एग्रीकल्‍चर कॉलेज खुलने से पूरे जिले को इसका लाभ मिलेगा। वर्तमान में विद्यार्थी जिले के बाहर रहकर कृषि विज्ञान की पढ़ाई कर रहे हैं, कृषि कॉलेज खुलने से विद्यार्थियों को बाहरी क्षेत्र में नहीं जाना पड़ेगा।

प्रवीण पालीवाल, अध्‍यक्ष, नपा पांढुर्ना एग्रीकल्‍चर कॉलेज खुलने से जिले के विद्यार्थियों को कृषि संकाय में उच्‍च शिक्षा पाने सुविधा होगी। वर्तमान में विद्यार्थियों को ग्‍वालियर, रायपुर और अन्‍य प्रदेशों में जाना पड़ता है इस विषय को लेकर मुख्‍यमंत्री से चर्चा करेगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *