[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: एक क्लिक पर पता चल जाएगा | News 4 India

एक क्लिक पर पता चल जाएगा

भोपाल न्‍यूज 4 इंडिया। प्रदेश के सभी कॉलेज व स्‍कूलों को जियो-टैग किया जा रहा। अच्‍छी प्‍लानिंग और गड़बड़ी रोकनेके लिहाज से इसे महत्‍वपूर्ण बताया जा रहा है। इसके जरिए कॉलेज व स्‍कूल की पूरी हकीकत गूगल मैप की तरह एक पोर्टल पर नजर आएगी। उच्‍च शिक्षा विभाग में ही हर साल मान्‍यता के लिए सैकड़ों संस्‍थाएं आवेदन करती हैं। ऐसे क्षेत्र के लिए मान्‍यता मांगी जाती है जहाँ पहले से कॉलेज संचालित है। अब इन बातों का विशेष ध्‍यान रखा जा सकेगा। जियो टैग से पूरी स्थिति एक बार में ही एक स्‍थान से ही पता चल सकेगी। जियो टैग के जरिए यह तत्‍काल पता कर सकेंगे कि किस क्षेत्र में कितने कॉलेज हैं और कहाँ कॉलेज खोलने की आवश्‍यकता है। कॉलेज के आसपास संचालित होने वाले स्‍कूल की जानकारी भी पता चल सकेगी। कॉलेज से स्‍कूल व कॉलेजों के बीच की दूरी भी पता कर सकेंगे।

नहीं कर सकेंगे गड़बड़ी

जियो टैग होने के बाद निजी कॉलेज गड़बड़ी नहीं कर सकेंगे। गड़बड़ी करने की कोशिश की तो वह उजागर हो जाएगी। वर्तमान में कई संस्‍थाएं अलग-अलग कॉलेज एक ही भवन में संचालित कर रही हैं। यदि कोई ऐसा करता है तो उसकी लोकेशन के जरिए बड़ी आसानी से पकड़ा जा सकता है।

डॉ. अनिल पाठक, ओएसडी उच्‍च शिक्षा विभाग का कहना है कि इस नई व्‍यवस्‍था के लिए इंफ्रा मैपिंग ऐप तैयार किया गया है। जिसका कोड कॉलेज के प्राचार्य या एक अधिकृत व्‍यक्ति को दिया गया है। इस ऐप के माध्‍यम से कॉलेज की फोटो, प्रवेश मार्ग सहित कॉलेज की अन्‍य जानकारी टैग कराई जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *