[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: सुप्रीम कोर्ट जज बनेगी महिला वकील | News 4 India

सुप्रीम कोर्ट जज बनेगी महिला वकील

नई दिल्‍ली न्‍यूज 4 इंडिया। सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने सीनियर एडवोकेट इंदु मल्‍होत्रा को सुप्रीम कोर्ट जज बनाने की सिफारिश की है। सुप्रीम कोर्ट के 67 साल के इतिहास में पहली बार कोई महिला वकील सीधे सुप्रीम कोर्ट में जज नियुक्‍त होंगी। उनसे पहले सुप्रीम कोर्ट में 6 महिला जज रही है, लेकिन सभी अलग-अलग हाईकोर्ट से प्रमोट होकर यहां पहुंची थी। फिलहाल जस्टिस आर भानुमति सुप्रीम कोर्ट में इकलौती महिला जज हैं। कॉलेजियम ने 10 जनवरी की बैठक में उत्‍तरांखड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस केएम जोसेफ को भी सुप्रीम कोर्ट जज बनाने की मंजूरी दी।

अब तक सभी महिला जज हाईकोर्ट से प्रमोट होकर पहुंची

जस्टिस फातिमा बीवी- केरल हाईकोर्ट से रिटायर होने के बाद 1989 में सुप्रीम कोर्ट भेजी गईं। वह 29 अप्रैल 1992 तक यहां रहीं।

जस्टिस सुजाता वी मनोहर- केरल हाईकोर्ट से 8 नवंबर, 1994 को सुप्रीम कोर्ट पहुंची। 27 अगस्‍त 1999 को रिटायर हुईं।

जस्टिस रूमा पाल- 28 जनवरी2000 को सुप्रीम कोर्ट में ज्‍वाइन किया। 2 जून 2006 तक रहीं। बतौर महिला जज सबसे लंबा कार्यकाल।

जस्टिस ज्ञान सुधा मिश्रा- झारखंड हाईकोर्ट से सुप्रीम कोर्ट में प्रमोट हुई। 30 अप्रैल 2010 से 27 अप्रैल 2014 तक यहां रहीं।

जस्टिस रंजना प्रकाश देसाई- 13 सितंबर 2011 से 29 अक्‍टूबर 2014 तक सुप्रीम कोर्ट में रही। 2013 में जस्टिस मिश्रा के साथ पूर्ण महिला बेंचमें बैठकर इतिहास रचा था।

जस्टिस आर भानुमति- 13 अगस्‍त 2014 को सुप्रीम कोर्ट ज्‍वाइन किया। 19 जुलाई 2020 को रिटायर होंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *