1000 से अधिक संत पत्थरों से भरा ट्रक लेकर होंगे कश्मीर रवाना

कानपुरः जम्मू कश्मीर में भारतीय जवानों की मदद के लिए अब संत अागे अाए हैं। अलगाववादियों और आतंकवादियों से जूझ रहे सेना और अर्धसैनिक बलों के जवानों की सहायता के लिए संतों का एक जत्था रवाना होने की तैयारी कर रहा है। कानपुर से तकरीबन एक हजार संत 7 मई को कश्मीर रवाना होंगे। संतों ने बताया कि वह अपने साथ पत्थरों से भरा एक ट्रक भी लेकर जा रहे हैं। संतों ने कहा कि वह पत्थरबाजों को उन्हीं की भाषा में जवाब देंगे। जन सेना के संस्थापक बालयोगी चैतन्य महाराज ने मीडिया से बातचीत मेें कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो और भी संत सेना की मदद के लिए भेजे जाएंगे।
संत चौतन्य बोले की कश्मीर में देशद्रोही हमारे जवानों पर पत्थर बरसा रहे हैं। इसलिए उन देशद्रोहियों को उन्हीं की भाषा में जवाब देने के लिए एक पत्थरबाजों की सेना तैयार की गई है तो कश्मीर जाकर उन्हें मुंह-तोड़ जवाब देगी। उन्होंने कहा कि हमने इस बारे में पीएम मोदी से बात की थई लेकिन उन्होंने ये बात नहीं मानी और न ही प्रशासन ने इसकी इजाजत दी। फिर भी हम अब परिणामों की परवाह किए बिना अपने रास्ते पर अागे बढ़ेगें। संतों ने जाने के लिए 100 कारें और 3 बसें बुक की हैं। बाकी लोग 14 मई को ट्रेन से वहां पहुंचेगे।

One Comment

  • जीतेन्द्र चीमनलाल परीख

    यह बहुत ही जरुरी था। देरसे हुआ लेकीन अच्छा निर्णय है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *