[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: प्यानो बजाकर कर लिया टॉप….. | News 4 India

प्यानो बजाकर कर लिया टॉप…..

सीबीएसई 12वीं के नतीजे घोषित हो गए हैं और हर बार की तरह इस बार भी बाजी लड़कियों ने मारी है. 12वीं में टॉप करने वाली की छात्रा ने 99.6 फीसदी मार्क्स हासिल किए हैं. रक्षा को 500 में से 498 नंबर आए हैं.

प्रधानमंत्री मोदी से बेहद प्रभावित?

रक्षा बताती हैं कि वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ’ अभियान से काफी प्रभावित हैं. रक्षा गोपाल का मानना है कि देश में सब को समान मौका मिलना चाहिए. लड़के-लड़कियों में भेदभाव नहीं करना चाहिए.

रक्षा ने कहा कि वे प्रधानमंत्री मोदी जी की नीतियों को काफी सपोर्ट करती हैं. देश में मोदी जी का प्रभाव दूसरे प्रधानमंत्रियों से अलग है.

क्या है रक्षा का सपना?

17 साल की रक्षा ने सफलता का श्रेय अपने माता-पिता और शिक्षकों को दिया है. रक्षा आगे चलकर आईएफएस अफसर बनना चाहती है. रक्षा के पिता गोपाल श्रीनिवासन गुजरात स्टेट पेट्रोलियम कॉरपोरेशन में चीफ फाइनेंसर ऑफिसर हैं. जबकि, मां रजनी गोपाल गृहणी हैं.

नोएडा के एमिटी स्कूल में पढ़ने वाली रक्षा ने तीन विषयों इंग्लिश कोर, पॉलिटिकल साइंस और इकनॉमिक्स में 100 में से 100 अंक हासिल किए. साइकोलॉजी और हिस्ट्री में 100 में से 99 नंबर लाए हैं.

कौन सा कॉलेज है बेस्ट चॉइस?

रक्षा का कहना है कि मैं डीयू से पॉलिटिकल साइंस में ऑनर्स करना चाहती हूं. इकनॉमिक्स भी मेरा पसंदीदा विषय है.’

रक्षा का कहना है कि वो ग्रेजुएसन बाद यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी करुंगी.’

आमतौर पर सीबीएसई

परीक्षा में साइंस को अच्छे अंक लाने की गारंटी माना जाता है. लेकिन रक्षा ने इस बात को गलत साबित कर दिया है. रक्षा की कामयाबी से उन छात्रों को हिम्मत मिलेगी जिन्हें आर्ट्स पढ़ने का मन तो होता है लेकिन परिवार और दोस्तों के दबाव में साइंस या कॉमर्स ले लेते हैं.

कामयाबी का मूल मंत्र

रक्षा कहती हैं, ‘मैंने परीक्षा से कुछ महीने पहले टेस्ट पेपर हल करना शुरू कर दिया था. इससे मुझे प्रश्नों के सटीक जवाब देने की प्रैक्टिस हो गई थी. उन्हें ये उम्मीद तो थी कि परीक्षा के बाद अच्छे नंबर आएंगे. लेकिन, टॉप करने की उम्मीद नहीं थी.’

रक्षा के मुताबिक परीक्षा के दिनों में स्ट्रेस दूर करने के लिए वह प्यानो बजाया करती थी. प्यानो बजा कर ही वो अपना स्ट्रेस दूर करती थी. अच्छे नंबर पाने के लिए उन्होंने 7-8 घंटे की पढ़ाई की.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *