[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: दो हजार करोड़ खर्च फिर भी ये हाल | News 4 India

दो हजार करोड़ खर्च फिर भी ये हाल

छिन्‍दवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। जिले के चौरई विकासखंड में बन रहे पेंच परियोजना में अब तक करीब दो हजार करोड़ रूपया खर्च हो चुका है। कुल 25 सौ करोड़ के प्रोजेक्‍ट में करीब साढ़े 12 सौ करोड़ रूपए से बना माचागोरा बांध पिछले दो साल से लबालब है। नहरों का निर्माण पूरा नहीं हो पाने से बांध का पानी खेतों तक नहीं पहुंच पा रहा है नहरों के निर्माण पर लगभग 12 सौ करोड़ खर्च होने हैा जिसमें 722 करोड़ अब तक खर्च किए जा चुके हैं। बावजूद इसके इस रबी सीजन में 85 हजार हेक्‍टेयर के विरूद्ध पेंच परियोजना से बमुश्किल 17 हजार हेक्‍टेयर भूमि सिंचित हो पा रही है इसमें छिन्‍दवाड़ा जिले का करीब 5 हजार और सिवनी जिले का लगभग 12 हजार हेक्‍टेयर रकबा शामिल है।

50 फीसदी ही हो पाया नहरों का निर्माण

पेंच परियोजना की 30 किमी लंबी दायी तट नहर का 90 फीसदी और बायीं तट नहर का 70 फीसदी निर्माण हो पाया है दायीं और बायीं तट नहर सहित करीब 700 किमी नहर का निर्माण परियोजना में होना है अब तक 50 फीसदी ही नहरें बन पाई हैं निर्माण के बावजूद कई डिस्‍ट्रब्‍यूटरी व माइनर केनाल बड़ी नहरों से कनेक्ट नहीं हो पाई हैं।

जून 2019 का टारगेट

वर्ष 2013 से नहरों का निर्माण शुरू हुआ था। दो साल में ठेका कं‍पनियों को नहरों का निर्माण करना था। निर्माण की गति धीमी होने के बावजूद विभाग के बड़े अधिकारी कंपनियों पर मेहरबानी दिखाते रहे। तीन बार एक्‍सटेंशन दिया गया। इसके बाद भी नहरों का निर्माण गति नहीं पकड़ पाया। अब विभाग ने जून 2019तक निर्माण पूरा करने का लक्ष्‍य रखा है।

फिर भी निर्माण का ठौर नहीं

विभाग ने टेल व धमनिया डिस्‍ट्रीब्‍यूटरी का ठेका समाप्‍त करने के बाद मेंटेना कंपनी को दोबारा मौका दिया है करीब दो माह पहले कंपनी की वापसी हुई है, लेकिन काम अब तक शुरू नहीं हो सका है वहीं नांदना और हरदुआ डिस्‍ट्रीब्‍यूटरी के बेलेंस वर्क के लिए अब भी ठेकेदार का इंतजार हो रहा है।

निर्माण में देरी क्‍यों

पेंच परियोजना की अधिकांश नहरों का ठेका टर्न की के तहत किया गया था कंपनियों ने अधिकांश समय भू-अर्जन और ड्राइंग डिजाइन में ही बिता दिया।

कंपनियों को अनुबंध के अनुसार दो साल में नहरों का निर्माण पूरा करना था। तीन बार एक-एक साल की समय अवधि बढ़ाई गई। इसके बाद भी कंपनियां काम नहीं कर पाईं।

छह माह पहले विभाग ने एचईएस कंपनी का टेल धमनिया व नांदना और हरदुआ नहर का ठेका समाप्‍त कर दिया।

अब पिछले तीन माह से विभाग बेलेंस वर्क के लिए टेंडर प्रक्रिया में जुटा हुआ है दो-दो कॉल के बाद भी विभाग को ठेकेदार नहीं मिल पा रहे हैं।

राजीव फिरके, ईई, पेंच परियोजना का कहना है कि परियोजना में अब तक दो हजार करोड़ रूपए का व्‍यय हुआ है डेम का निर्माण पूरा हो गया है नहरों का निर्माण भी अब शुरू हो गया है सिवनी ब्रांच केनाल में तेजी से काम चल रहा है टेल व धमनिया में भी कंपनी ने काम शुरू कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *