[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: आधी रात को जब वेश बदलकर रिक्शेवाले के पास पहुंचे एस पी | News 4 India

आधी रात को ये क्या करते है इस जिले के एस पी

डालटनगंज। ‘अंधेरी रातों में, सुनसान राहों पर एक मसीहा निकलता है, जिसे लोग शहंशाह कहते हैं।’ यह गाना भले ही फिल्मी हो लेकिन अंधेरी रात में अगर कोई लोगों की पीड़ा और जरूरतों को जानने-समझने के लिए सुनसान रास्तों पर निकल पड़े तो सचमुच वह मसीहा से कम नहीं।
जब देश में राजतंत्र कायम था तो पलामू में एक बेहद लोकप्रिय राजा हुए मेदिनी राय। वे अक्सर रात में वेश बदलकर अपनी प्रजा की स्थिति जानने के लिए निकल पड़ते थे और जो कमियां दिखती थी, उन्हें दूर करते थे। अपनी इसी कार्यशैली से वे लोकप्रिय भी हुए और लोगों के लिए मसीहा बन गये। जिनकी पूजा आज भी होती है।
राजा मेदिनी राय के बाद पलामू में शायद ही कोई जनप्रतिनिधि या अधिकारी ऐसा हुआ, जिसने आम लोगों की पीड़ा करीब से जानने-समझने की कोशिश की। काफी दिनों के बाद पलामू को एक ऐसा अधिकारी मिला है, जो न केवल लोगों की जरूरतों को समझने का प्रयास कर रहा है, अपितु उनकी समग्र सुरक्षा को प्राथमिकता भी दे रहा हैं। यह अधिकारी कोई और नहीं, बल्कि जिले के पुलिस अधीक्षक इंद्रजीत माहथा हैं।
इन्होंने अपनी कल्पना में एक ऐसा पलामू गढ़ रखा है, जो अपराध से मुक्त हो, स्वच्छता जिसके माथे की बिन्दी हो और जहां भयमुक्त वातावरण में लोग खुलकर सांस ले सकें। अपने सपने का पलामू बनाने के लिए वे अथक प्रयास कर रहे हैं।
इसी कड़ी में बुधवार को आधी रात एसपी माहथा सड़कों पर निकल पड़े। इस दौरान उन्होंने विभिन्न चैक-चैराहों पर सुरक्षा का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने अस्पताल चौक और स्टेशन रोड में रिक्शावालों, यात्रियों और टिकट काउंटर पर मौजूद रेलकर्मियों से सुरक्षा के बारे में पूछताछ की।
पुलिस अधीक्षक ने इन लोगों से सुरक्षा का चाक-चौबंद करने के लिए सुझाव भी मांगे। पुलिस अधीक्षक ने फल दुकानदार से भी बात की। आधी रात को एसपी को अपने बीच पाकर रेलयात्री, रेलकर्मी, रिक्शावाले और दुकानदार सभी गदगद थे। पुलिस अधीक्षक के इस कदम की चारों ओर सराहना हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *