नींद से अचानक उठकर मत करें ऐसे काम, हो सकता है हार्ट अटैक

1. नींद से जुड़ी अनजानी बातें

नींद से जुड़ी आपने बहुत सी बातें सुनी होंगी। पूरी नींद लेनी चाहिए, किस तरह के बिस्तर का इस्तेमाल करें कि अच्छी नींद आए, पूरी एवं अच्छी नींद क्यों है जरूरी, यहां तक कि नींद के दौरान होने वाले अनुभवों के बारे में भी आपने सुन रखा होगा। लेकिन आज हम आपको नींद से जुड़ी एक पते की बात बताने जा रहे हैं।
2. कितने घंटे की नींद हो
हमारे लिए कितने घंटे की नींद जरूरी है, हमें रात में कितने बजे सो जाना चाहिए और सुबह कितने बजे उठना चाहिए यह सब डॉक्टर बताते हैं। लेकिन एक बात जो कोई नहीं बताता है वह यह कि आपको नींद से किस प्रकार से उठना चाहिए।
3. झटके से ना उठे
जी हां… सुनने में शायद अजीब लग रहा हो लेकिन आप नींद से किस प्रकार से उठते हैं इसका सीधा असर आपके हार्ट पर होता है। कुछ लोग सुबह आराम से अपना बिस्तर छोड़ते हैं लेकिन वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो अचानक झटके के साथ उठते हैं, मानो किसी ने सुबह-सुबह डरा दिया हो।

4. हार्ट के लिए है ख़तरा

कभी भी नींद से जागने के बाद अचानक नहीं उठना चाहिए, यह आप में हार्ट अटैक के खतरे को और भी अधिक बढ़ा देता है। कुछ लोग रात में बाथरूम जाने के लिए, पानी पीने के लिए, मोबाइल पर कॉल लेने के लिए या फिर अन्य कुछ कारणों से उठते हैं। बीच रात में उठना सही है लेकिन अचानक से झटके के साथ उठना आपके लिए हानिकारक साबित हो सकता है।
5. और भी हैं नुक्सान
यदि आपकी या आपके परिवार में किसी की इसी तरह से नींद से झटके से उठने की आदत है, तो तुरंत इस आदत को बदल डालिए। काम कितना भी जरूरी क्यों ना हो, लेकिन नींद से उठकर बिस्तर छोड़ते टाइम अचानक से उठकर भागना नहीं चाहिए। यह हमारे हार्ट पर प्रेशर डालता है।
6. डॉक्टर की राय लें
डॉक़्टरों द्वारा इसके पीछे कई कारण बताए गए हैं। उनके अनुसार जब हम नींद में होते हैं, तो हमारा मन और सभी इन्द्रियां अचेत अवस्था में होती हैं। ये इन्द्रियां अचेत से जाग्रत अवस्था में आने में कुछ समय लेती हैं। लेकिन अचानक उठकर भागने से ये इन्द्रियां चिंतित हो जाती हैं, इन्हें अपनी पोजीशन में आने का समय ही नहीं मिल पाता।7. ऐसा ना करें

विशेषज्ञों की मानें तो एकदम उठने में गिर जाने, या किसी चीज से टकराने का खतरा तो होता ही है। लेकिन सबसे जरूरी है यह जानना कि बाहरी चोट के अलावा अचानक उठने से अंदरूनी शारीरिक अवस्था पर क्या असर होता है।
8. ब्लड प्रेशर हो ऐसा तो
डॉक्टर कहते हैं कि कुछ लोगों का रक्त चाप विभिन्न शारीरिक मुद्राओं में काफी तेजी से बदलता है। वे बैठे हों, चल रहे हों, लेटे हों या दौड़ रहे हों, इन सभी में उनका रक्त चाप काफी तेजी से बदलता है। यूं तो हर किसी का रक्तचाप बताई गई अवस्थाओं में बदलता जरूर है, लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो रक्तचाप के मामले में असामान्य माने जाते हैं।
9. ख़तरा है इसमें
ऐसे लोग ही यदि नींद से झटके से उठ जाएं, तो यह उनके लिए बहुत बड़ा खतरा है। ऐसे व्यक्तियों को एकदम उठने से चक्कर आने, या गिरने की सम्भावना होती है। क्योंकि हो सकता है कि नींद में उनका रक्तचाप काफी गिरा हुआ हो, जो झटके से उठने से उन्हें शारीरिक क्षमता देने में असहाय हो।

10. हार्ट के लिए सही नहीं

एक और कारण है जिसकी वजह से डॉक्टर नींद से झटके से उठने से मना करते हैं। उनके अनुसार कुछ लोगों में सभी नसों को जाग्रत होकर हृदय को सही गति से रक्त पहुंचाने में समय लगता है। सोते समय हृदय को रक्त की आवश्यकता भी कम होती है और रक्त-वाहिनी नसें भी कम रक्त ही पहुंचा रही होती हैं।
11. पूरी ऑक्सीजन नहीं मिलती
लेकिन एकदम उठने पर हृदय को एकदम अधिक रक्त/ऑक्सीजन चाहिए होते हैं, और शारीर को सप्लाई करने में कुछ क्षण लग जाते हैं। यही बात हार्ट अटैक का कारण बन सकती है।
12. थोड़ा वेट करें
इसलिए नींद से उठने के बाद क्या करें और क्या नहीं, इस पर ध्यान देना चाहिए। नींद से उठने के बाद झटके से बिस्तर नहीं छोड़ना चाहिए, यह तो आप जान चुके। लेकिन आपको क्या नियम फॉलो करने चाहिए, ये भी जान लीजिए।

13. 2 मिनट रोक कर चलें

डॉक्टर की मानें तो नींद खुलने के बाद कम से कम 2 से 3 मिनट तक बिस्तर ना छोड़ें। चाहे आपको कितनी भी जल्दी क्यों ना हो, आपको सुबह ऑफिस जाने के लिए कितनी ही देरी क्यों ना हो रही हो, लेकिन बिस्तर आप कुछ मिनट के बाद ही छोड़ें तो हार्ट अटैक से बच सकेंगे।
14. रात में उठना हो तो
रात में भी यदि आपको उठना पड़े तब भी कुछ बातों का ध्यान रखें। जैसे कि यदि बाथरूम भी जाना हो तो नींद खुलने के बाद कुछ सेकेंड्स रुकें, फिर धीमे से उठें और एक मिनट बिस्तर पर बैठे रहें। खुद पर इतना नियंत्रण रखें कि आप कुछ देर बाद ही बिस्तर से उठ सके

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *