[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: ग्‍लासहाउस फिर खुलने को तैयार | News 4 India

ग्‍लासहाउस फिर खुलने को तैयार

लंदन न्‍यूज 4 इंडिया। ब्रिटेन में लंदन के क्‍यू गार्डंस में मौजूद दुनिया का सबसे बड़ा ग्‍लासहाउस 5मई को फिर लोगों के लिए खुलेगा। यह घोषणा रिनोवशन प्रोजेक्‍ट मैनेजर एंडू विलियम ने की। 14 फरवरी को उन्‍होंने बताया ग्‍लासहाउस 2013 में जर्जर होने के बाद बंद कर दिया गया था 2014 में इसका पुर्ननिर्माण शुरू हुआ। इस पर 365 करोड़ रूपए खर्च हुए हैं। ग्‍लासहाउस में अफ्रीका, अमेरिका, ऑस्‍ट्रेलिया और एशिया महाद्वीपों के अलावा हिमालय के दुर्लभ प्रजाति के 1000 पेड़-पौधे लगाए गए हैं।

1860 में विक्‍टोरियाई आर्किटेक्‍ट ने बनाया था

इस ग्‍लासहाउस को विक्‍टोरिया ग्‍लासहाउस और टैंपरेट हाउस के नाम से भी जाना जाता है,क्‍योंकि इसे विक्‍टोरियाई आर्किटेक्‍ट डेसीमस बर्टन ने 1860 में डिजाइन किया था इसे बनाने में तीन साल लगे। 1863 से यह प्रमुख पर्यटन एवं शोध केंद्र बना हुआ है।

ग्‍लासहाउस 628 फीट लंबा है इसमें तीन जंबो जोट खड़े हो सकते हैं।

इसके पुर्ननिर्माण में कांच के 15 हजार नए स्‍लैब लगाए गए हैं।

बीते 13 महीने से यहां पौधे रोपे जा रहे हैं ये 22 देशों से मंगाए गए हैं।

120 साल पुराना साइकिड भी मौजूद

हाउस के सुपरवाइजर स्‍कॉट टेलर ने बताया कि यहां पौधों की संकटग्रस्‍त, दुर्लभ प्रजातियां लगाई जा रही हैं इसमें ऑस्‍ट्रेलिया का ताड़, दक्षिण अफ्रीका का 120 साल पुराना साइकिड एनसेफलेर्टस वुडी भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *