अपनी ही गलती से गिरफ्तार हुआ बैंक मैनेजर

छिंदवाडा//
तीन किसानों के नाम पर केसीसी के जरिए किया फर्जीवाड़ा

मृतक के नाम पर भी ले लिया लोन
डीएसपी ने की मामले की जांच

छिंदवाड़ा के तामिया विकासखंड के तीन आदिवासी किसानों के नाम पर फर्जी दस्तावेजों के आधार पर लोन निकालने के आरोपी महाराष्ट्र बैंक के पूर्व मैनेजर को तामिया पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है ।तामिया के तीनों किसानों ने केसीसी में फर्जीवाड़े की शिकायत एसपी गौरव तिवारी से की थी किसानों ने आरोप लगाया था कि उन्होंने कभी बैंक से कोई लोन नहीं लिया फिर भी उनके नाम पर बैंक ने वसूली का नोटिस जारी किया था। इस बात की जांच डीएसपी एके पांडे ने की ।जांच से मामला साफ हो गया कि केसीसी फर्जी दस्तावेजों के आधार पर निकाले गए थे इस बात पर पुलिस का कहना है कि बैंक से केसीसी के नाम पर फर्जी लोन देने के मामले केवल एक ही गांव के खुले हैं इन मामलों में आरोपी ने फर्जी दस्तावेज भी तैयार किए हैं जिसमें उसका सहयोग करने वाले और भी आरोपी हो सकते हैं गिरफ्तार आरोपी से पूछताछ में और भी फर्जी लोन के मामले सामने आ सकते हैं हद तो इस बात की है कि बैंक मैनेजर ने मृतक के नाम पर ही 100000 रुपए की केसीसी जारी की जब मृतक के बेटे के पास वसूली के नाम की नोटिस जारी हुई तब मृतक के बेटे ने बताया कि उस वक्त तो उसके पिता की मृत्यु हो चुकी थी तो वह केसीसी कैसे लेंगे आरोपी अमित शुक्ला वर्तमान में महाराष्ट्र बैंक की शाखा दिवारी जिला अलवर राजस्थान में पदस्थ हैं आरोपी किसी काम से तामिया आया हुआ था तभी मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने उसे धर दबोचा पुलिस आरोपी से गबन के संबंध में पूछताछ कर रहे हैं आरोपी के खिलाफ धारा 420 467 468 और 471 आईपीसी के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है।

Related posts

Leave a Comment