10 मिनट में दो महिलाओं ने दिया घटना को अंजाम और हो गईं गायब

इटारसी। पुलिस अधीक्षक ने आज एलकेजी ज्वेलर्स का निरीक्षण किया, संचालकों से बातचीत के बाद उन्होंने वहां के कर्मचारी से भी चर्चा कर घटना का ब्यौरा लिया। सुबह करीब 9:40 बजे इटारसी थाने पहुंचे एसपी अरविंद सक्सेना ने सबसे पहले थाने का निरीक्षण किया, अपराधों की समीक्षा कर पेंडिंग मामलों की जानकारी ली। इसके बाद वे एलकेजी ज्वेलर्स पहुंचे जहां सोमवार को महिलाओं ने करीब सवा पांच लाख रुपए की ज्वेलरी चुरा ली थी। पुलिस ने मामले में धारा 380 का प्रकरण पंजीबद्ध किया है। एसपी श्री सक्सेना ने निरीक्षण के बाद कहा कि इसमें किसी संगठित गिरोह का हाथ हो सकता है, जो अलग-अलग हिस्सों में काम करते हैं। भोपाल, ग्वालियर, रतलाम और बीना में भी ऐसी घटनाएं हो चुकी हैं। हम इनकी टेक्निक का परीक्षण कर रहे हैं, उम्मीद है जल्द ही वारदात का पर्दाफाश होगा।

उल्लेखनीय है कि शहर के प्रसिद्ध सराफा संस्थान एलकेजी ज्वेलर्स में चोरी की घटना का पता रात में स्टॉक को चेक करते समय चला है। घटना दोपहर लगभग 1 बजे के आसपास की बताई जा रही है। सीसीटीवी में चेक करने पर पता चला दो महिलाओं ने चोरी की घटना को अंजाम दिया है। संचालक दिनेश गोठी के अनुसार लगभग पांच लाख बीस हजार रुपए की 12 जोड़ लगभग (177 ग्राम) सोने की कान की झुमकी चोरी हुई है। घटना में दो महिलाओं ने बड़ी ही चालाकी से चोरी को अंजाम दिया है। चोरी का पता चलते ही पुलिस को सुचना दी गयी। पुलिस ने अभी घटनास्थल का मौका मुआयना किया है, और सभी जगह अपने स्तर पर जांच शुरू कर दी है।

बस स्टैंड तरफ से आयीं थी
सराफा बाजार में एलकेजी प्रतिष्ठान के बाहर लगे कैमरे से स्पष्ट हुआ है कि आरोपी महिलाएं बस स्टैंड तरफ से पैदल आयी थीं और वारदात के बाद श्री टैगोर स्कूल तरफ पैदल ही चली गईं। पुलिस ने सराफा बाजार के अन्य प्रतिष्ठानों के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज भी ली है जिन्हें खंगाला जा रहा है। इस घटना के बाद सूचना मिलने पर स्थानीय पुलिस ने तत्काल रेलवे स्टेशन की फुटेज देखी है, लेकिन वहां इन महिलाओं की कोई भी गतिविधि दिखाई नहीं दी है।

विशेष डिजाइन मांगी थी
एलकेजी के कर्मचारी राजेश ने एसपी को बताया कि महिलाओं ने उससे विशेष डिजाइन की ज्वेलरी मांगी थी। वे कह रहीं थी कि उनकी बुआ के पास जो डिजाइन है, वैसी ही ज्वेलरी उसे चाहिए। महिलाओं ने उसे बातों में लगाकर ज्वेलरी का एक पूरा डिब्बा उड़ा लिया। सेल्समेन को इस वारदात की भनक तक नहीं लगी और ज्वेलरी पसंद न आने का कहकर महिलाएं वहां से चली गईं। बताया जाता है कि महिलाएं वहां करीब दस मिनट तक रुकी थीं।

इनका कहना है…
यह संगठित गिरोह है, भोपाल, ग्वालियर, रतलाम और बीना में भी ऐसी घटनाएं हो चुकी हैं। हम इनकी टेक्निक का परीक्षण कर रहे हैं, उम्मीद है जल्द ही वारदात का पर्दाफाश होगा।
अरविंद सक्सेना, पुलिस अधीक्षक

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *