वेटरनरी डॉक्ट रों की अधिकतम आयु सीमा बढ़ेगी

न्‍यूज 4 इंडिया बिलासपुर. पशु चिकित्सा विभाग में सेवारत डॉक्टरों को हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली है। हाईकोर्ट ने वेटरनरी डॉक्टरों के परीक्षा में शामिल होने को लेकर अधिकतम आयु सीमा के नियमों में बदलाव के निर्देश भारतीय पशु चिकित्सा परिषद को दिए हैं।

याचिका पर सुनवाई

  1. चीफ जस्टिस अजय कुमार त्रिपाठी और जस्टिस पीपी साहू की बेंच द्वारा शुक्रवार को दिए गए आदेश के तहत सीबीएसई को भी नीट के लिए जारी फॉर्म में वेटरनरी डॉक्टरों के लिए कॉलम जोड़ने के निर्देश दिए गए हैं। हाईकोर्ट ने सीबीएसई को सात दिनों के भीतर याचिकाकर्ताओं के नतीजे जारी करने के निर्देश दिए गए हैं।
  2. मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन के लिए सीबीएसई द्वारा नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेस टेस्ट यानी नीट का आयोजन किया जाता है। मेडिकल के अन्य पाठ्यक्रमों के साथ ही पशु चिकित्सा विज्ञान और पशुपालन की डिग्री कोर्स में प्रवेश के लिए सीबीएसई द्वारा टेस्ट लिया जाता है।
  3. भारतीय पशु चिकित्सा परिषद द्वारा 8 जुलाई 2016 को जारी अधिसूचना के नियम 6 के तहत प्रवेश परीक्षा में शामिल होने के लिए न्यूनतम आयु सीमा 17 वर्ष और अधिकतम 25 वर्ष निर्धारित की गई है। पशु चिकित्सा क्षेत्राधिकारी के पद पर कार्यरत गिरीश पटेल और रीमा नंदी ने पशु चिकित्सा विज्ञान और पशुपालन की डिग्री कोर्स में प्रवेश के लिए परीक्षा दी, लेकिन सीबीएसई ने निर्धारित अधिकतम आयु सीमा 25 वर्ष से अधिक होने के कारण दोनों के रिजल्ट घोषित नहीं किए। उन्होंने एडवोकेट सुनील कुमार सोनी के जरिए हाईकोर्ट में याचिका प्रस्तुत की थी।
  4. हाईकोर्ट ने याचिका मंजूर करते हुए भारतीय पशु चिकित्सा परिषद को भविष्य में होने वाली परीक्षाओं के लिए 2016 में जारी अधिसूचना के नियम 6 में बदलाव करने के निर्देश दिए हैं। परिषद को अधिकतम आयु सीमा 35 वर्ष या संबंधित राज्य सरकार द्वारा निर्धारित आयु सीमा के मुताबिक अधिसूचना जारी करनी होगी। साथ ही सीबीएसई को वेटरनरी डॉक्टरों के लिए नीट के फॉर्म में कॉलम जोड़ने के निर्देश दिए गए हैं।
  5. सीबीएसई को सात दिनों के भीतर याचिकाकर्ताओं के रिजल्ट घोषित करने के भी निर्देश हाईकोर्ट ने दिए हैं। दोनों के चयनित होने की स्थिति में प्रवेश के लिए निर्धारित 30 सितंबर का प्रभाव याचिकाकर्ताओं पर नहीं पड़ेगा।

Related posts

Leave a Comment