सैलरी पैकेज लाखों में

हम जॉब या कोई भी पेशा इसलिए करते हैं ताकि अपना और अपने परिवार का भरण-पोषण करने के साथ ही अनेक सामाजिक, आर्थिक, धार्मिक आदि सहित अपने जीवन की सभी आवश्यकताएं अच्छी तरह पूरी कर सकें. अब, आजकल के जटिल जीवन में अपनी सभी जरूरतों को पूरा करने के लिए हमारे लिए ज्यादा से ज्यादा पैसा कमाना लाजमी हो गया है.

आजकल हर व्यक्ति अपने कारोबार, पेशे या जॉब से ज्यादा से ज्यादा रुपया-पैसा कमाना चाहता है ताकि न सिर्फ उसकी जीवन संबंधी सभी जरूरतें ही पूरी हो सकें बल्कि, समाज में उसकी हैसियत और प्रतिष्ठा भी बढ़े. हमारी यही चाहत अक्सर हमें हायर स्टडीज के लिए प्रेरित करती है. हमने इस आर्टिकल में आपकी सहूलियत के लिए कुछ ऐसे कोर्सेज का जिक्र किया है जिन्हें करने के बाद आपको प्रत्येक वर्ष कई लाख रूपये का सैलरी पैकेज मिल सकता है. आइये जानते हैं कैसे?…..
स्टडी/ प्रोफेशनल कोर्सेज का महत्व
जैसेकि हम सब जानते ही हैं कि आजकल हमारे देश सहित दुनिया भर में हायर स्टडीज की श्रेणी में विभिन्न कॉलेजों, यूनिवर्सिटीज और सरकारी तथा प्राइवेट एजुकेशनल/ नॉन-एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस द्वारा ग्रेजुएशन, पोस्टग्रेजुएशन, पीएचडी और रिसर्च वर्क के साथ ही कई प्रोफेशनल डिग्री/ डिप्लोमा कोर्सेज भी करवाए जाते हैं जो स्टूडेंट्स को अपना भावी करियर बनाने में काफी सहायता करते हैं. किसी भी प्रोफेशनल कोर्स में प्राप्त की गई डिग्री/ डिप्लोमा ही आपको अपनी संबद्ध फील्ड में बेहतरीन सैलरी पैकेज वाला पसंदीदा जॉब प्रोफाइल दिलवाने के लिए अक्सर पर्याप्त होता है. अपनी स्टडी फील्ड में डिप्लोमा या ग्रेजुएशन, पोस्टग्रेजुएशन, पीएचडी की डिग्री और रिसर्च वर्क के साथ ही विभिन्न पेशेवर कोर्सेज जैसेकि, एमबीए, एमसीए, एमबीबीएस, एलएलबी, इंजीनियरिंग में विभिन्न आईआईटी कोर्सेज आदि कुछ ऐसे कोर्सेज हैं जिन्हें पूरा करने के बाद आप अपना करियर शुरू करते ही लाखों रूपये प्रति वर्ष कमाने लगते हैं.
यह तो हम सभी जानते हैं कि धन कमाना आसान नहीं होता है और पैसा कमाने के लिए हरेक व्यक्ति को कई किस्म के पापड़ बेलने पड़ते हैं. इस आर्टिकल में भारत के कुछ ऐसे करियर-ओरिएंटेड स्टडी/ प्रोफेशनल कोर्सेज के बारे में विवरण पेश है जो आपको बढ़िया सैलरी पैकेज दिलवाते हैं बशर्ते आप पूरी मेहनत करें और लगातार अपने टैलेंट तथा स्किल्स निखारने के साथ ही लेटेस्ट जानकारी से अपडेटेड रहें. आइये इस विषय में विस्तार से चर्चा करें: 

महत्वपूर्ण हाइली पेड जॉब ओरिएंटेड कोर्सेज/ प्रोफेशन्स:  

मास्टर ऑफ़ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (एमबीए) कोर्स: यह भारत में एमबीबीएस के समान ही काफी लोकप्रिय प्रोफेशनल कोर्स है जो प्रति वर्ष अपने स्टूडेंट्स को कई लाख रूपये के सैलरी पैकेज दिलवाता है. आजकल हमारे देश में कई कॉलेज, यूनिवर्सिटीज, बिजनेस स्कूल्स और इंस्टीट्यूट्स एमबीए का कोर्स करवाते हैं. इनमें भारत के कुछ प्रमुख बिजनेस स्कूल्स हैं: आईआईएम बैंगलोर, कलकत्ता, अहमदाबाद, इंदौर, कोज़िकोड, लखनऊ, शिलॉंग और कई नए आईआईएम्स. आमतौर पर इस कोर्स की अवधि 2 वर्ष होती है और भारत के विभिन्न आईआईएम्स द्वारा पेश किये जा रहे एमबीए प्रोग्राम्स में एडमिशन लेने के लिए कैंडिडेट्स के लिए एमबीए एंट्रेंस टेस्ट अर्थात कॉमन एडमिशन टेस्ट (कैट) पास करना जरुरी है. इसके अलावा, अन्य प्रमुख बिजनेस स्कूल्स जैसे जैट, स्नेप आदि संबद्ध एंट्रेंस टेस्ट लेने के बाद ही सफल कैंडिडेट्स को अपने इंस्टीट्यूट में विभिन्न एमबीए कोर्सेज में एडमिशन देते हैं.
एमबीए कोर्स से संबद्ध करियर और सैलरी प्रोस्पेक्टस: एमबीए कोर्स करने के बाद अक्सर कैंडिडेट्स सभी ऑफिसेज और संगठनों में मैनेजमेंट से संबद्ध विभिन्न जॉब प्रोफाइल्स में जॉब ज्वाइन करते हैं. मैनेजमेंट जॉब्स में जूनियर लेवल, मिडिल लेवल और सीनियर लेवल मेनेजर्स के साथ ही मैनेजमेंट हेड आदि से संबद्ध जॉब प्रोफाइल्स जैसेकि, प्रेजिडेंट, वाईस प्रेजिडेंट, कॉर्पोरेट हेड, चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर (सीईओ), चीफ ऑपरेशनल ऑफिसर (सीओओ), चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर (सीएफओ) आदि जॉब प्रोफाइल्स शामिल की जा सकती हैं. अगर आपने भारत के टॉप 20 बिजनेस स्कूल्स से एमबीए की डिग्री प्राप्त की है तो आपको प्रत्येक वर्ष 50 लाख रूपये से 1.8 करोड़ रूपये तक के शानदार सैलरी पैकेज वाली जॉब मिल सकती है. अगर आपने किसी मिडिल लेवल के बी-स्कूल से अपनी एमबीए की डिग्री प्राप्त की है तो भी आपको रु. 10 लाख – 20 लाख प्रति वर्ष का सलारी पैकेज मिल सकता है. इसके अलावा अगर आपने किसी एवरेज बी-स्कूल से एमबीए किया है तो आपको शुरू में रु. 5 लाख से रु. 10 लाख तक सैलरी मिलेगी.  
एमबीबीएस कोर्स और मेडिकल लाइन में प्रोफेशन्स: आज हमारे जीवन में डॉक्टर्स की अहमियत को कोई नकार नहीं सकता है. डॉक्टर्स विभिन्न रोगों से न सिर्फ हमारी रक्षा ही करते हैं बल्कि विभिन्न जानलेवा बीमारियों से हमारी जान भी बचाते हैं और हमें हेल्दी रहने के विभिन्न तरीके भी समझाते हैं. आपको अपनी मनचाही फील्ड में डॉक्टर बनने के लिए मेडिकल फील्ड से संबद्ध डिग्री प्राप्त करनी होगी जैसेकि, एमबीबीएस, बीडीएस, बीफार्मा आदि. आपको मेडिकल फील्ड के विभिन्न कोर्सेज में एडमिशन लेने के लिए नीट – यूजी/ पीजी  एंट्रेंस एग्जाम देना होगा. आप चाहे जनरल फिजिशियन बने या फिर कोई स्पेशलाइज्ड डॉक्टर, आपको अपने करियर के शुरू के दिनों में कम से कम 5 लाख रु. प्रति वर्ष सैलरी मिलेगी. मेडिकल प्रोफेशनल्स की अधिकतम सैलरी 40 लाख रु. प्रति वर्ष भी हो सकती है. एक बार अपनी फील्ड में अपनी अच्छी पहचान बना लेने के बाद और वर्क एक्सपीरियंस बढ़ने के साथ ही अपना क्लिनिक खोलने पर आपकी अधिकतम इनकम की कोई सीमा नहीं रहेगी.
चार्टर्ड अकाउंटेंट (सीए): चार्टर्ड अकाउंटेंट किसी भी कंपनी या संगठन के सभी फाइनेंशियल  लेन-देनों और क्रियाकलापों के लिए जिम्मेदार होते हैं और फाइनेंस से संबद्ध सभी मामले संभालते हैं. अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करने के बाद स्टूडेंट्स को 2 वर्ष का चार्टर्ड अकाउंटेंट प्रोग्राम अवश्य पास करना होता है. एक बार सीए एग्जाम पास कर लेने के बाद आपको विभिन्न कंपनियों और ऑफिसेस में काफी बढ़िया सैलरी पैकेज वाले जॉब प्रोफाइल्स मिलते हैं. आप फाइनेंशियल कंसलटेंट या सीए के तौर पर अपना काम भी शुरू कर सकते हैं. जैसे-जैसे आपका कार्य अनुभव बढ़ता जाता है, वैसे-वैसे ही आपकी कमाई भी लगातार बढ़ती ही जाती है और किसी भी सीए को प्रतिवर्ष 35 लाख रु. तक अधिकतम सैलरी मिल सकती है.
इन्वेस्टमेंट बैंकर्स: यह अपेक्षाकृत कम मशहूर पेशा है लेकिन इसमें शानदार करियर की संभावनायें बहुत अधिक हैं. इस पेशे के लिए आपके पास जबरदस्त मैथमेटिक्स स्किल्स होने चाहिए और आपका काम विभिन्न सरकारी तथा प्राइवेट कंपनियों, दफ्तरों और इंस्टीट्यूशंस को उनके फाइनेंशियल गोल्स प्राप्त करने के तरीके सुझाना है और ये पेशेवर अपने संबद्ध ऑफिसेज और कंपनियों में सभी किस्म के शॉर्ट-टर्म और लॉन्ग-टर्न फाइनेंशियल प्लान्स को बनाते और लागू करवाते हैं. इस पेशे के लिए आपको संबद्ध ट्रेनिंग प्रोग्राम पूरा करना होता है और आपके पास फाइनेंस, एकाउंटिंग या मैथमेटिक्स विषय सहित कम से कम ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए. जहां तक सैलरी पैकेज का सवाल है, किसी एक्सपीरियंस्ड इन्वेस्टमेंट बैंकर को 26 लाख रु. प्रति वर्ष या इससे भी अधिक सैलरी मिल सकती है.
आईटी एंड सॉफ्टवेयर इंजीनियर्स: कंप्यूटर साइंस में बैचलर ऑफ़ कंप्यूटर साइंस (बीसीए) और मास्टर ऑफ़ कंप्यूटर साइंस (एमसीए) की डिग्री प्राप्त करने के बाद आप आईटी और सॉफ्टवेयर इंजीनियर के तौर पर काम कर सकते हैं. इस फील्ड में वॉलंटरी सर्टिफिकेशन्स भी उपलब्ध हैं. उक्त पेशे में आप अपनी संबद्ध कंपनी या इंस्टीट्यूशन के कंप्यूटर सिस्टम्स से संबद्ध सभी इश्यूज की देखरेख करते हैं जिसमें डिजाइनिंग, इम्प्लीमेंटेशन और कंप्यूटर्स को मैनेज करने से संबद्ध सभी कार्य शामिल होते हैं. आपको एक आईटी और सॉफ्टवेयर इंजीनियर के तौर पर 10 – 20 वर्ष के अनुभव के साथ 22 लाख रु. प्रति वर्ष तक का सैलरी पैकेज मिल सकता है.
लेक्चरर और प्रोफेसर: आज भी भारत में टीचिंग प्रोफेशन को काफी सम्मानजंक समझा जाता है. अपनी सम्बद्ध स्टडी फील्ड में पोस्टग्रेजुएशन और पीएचडी की डिग्री प्राप्त करने के बाद और नेट टेस्ट पास करने के बाद आप देश के विभिन्न कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज तथा एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस में लेक्चरर और प्रोफेसर की जॉब कर सकते हैं. टीचर्स को ‘बिल्डर्स ऑफ़ नेशन’ भी कहा जाता है. आजकल एक्सपीरियंस्ड लेक्चरर्स और प्रोफेसर्स को लगभग 8 लाख – 16 लाख रूपये तक प्रति वर्ष तक सैलरी मिलती है.
मार्केटिंग प्रोफेशनल्स: आजकल पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था एक बाज़ार या मार्केट अर्थव्यवस्था में बदल चुकी है. इंटरनेट और डिजिटलीकरण ने मार्केटिंग को और अधिक जटिल तथा संभावनाओं से लैस कर दिया है. अगर आपने मार्केटिंग या बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में बैचलर या मास्टर डिग्री प्राप्त की है तो आप इस प्रोफेशन में नई ऊंचाईयां छू सकते हैं. आजकल तकरीबन सभी सरकारी और प्राइवेट कंपनियां और इंस्टीट्यूशंस मार्केटिंग प्रोफेशनल्स को अपनी इनकम और प्रॉफिट बढ़ाने के लिए विभिन्न जिम्मेदारियां सौंपते हैं. इन कामों में मार्केट रिसर्च वर्क, प्रोडक्ट डेवलपमेंट, आईडिया प्रमोशन और स्पॉन्सरशिप जैसे काम शामिल हैं. अगर आप मार्केटिंग के प्रोफेशन में माहिर हैं और अपनी कंपनी को प्रॉफ़िट्स दिलवाते हैं तो आपको एक मार्केटिंग मेनेजर के तौर पर शुरू में एवरेज सैलरी 6-7 लाख रुपये से लेकर कुछ वर्षों के अनुभव के बाद अधिकतम 22 लाख रुपये प्रति वर्ष तक मिल सकती हैं

Related posts

Leave a Comment