[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: भगोड़े अपराधियों के लिए लोकसभा में पेश हुआ बिल, जप्त होगी संपत्ति | News 4 India

भगोड़े अपराधियों के लिए लोकसभा में पेश हुआ बिल, जप्त होगी संपत्ति

नई दिल्‍ली न्‍यूज 4 इंडिया। सरकार ने 12 मार्च को लोकसभा में भगोड़ा आर्थिक अपराध बिल पेश कर दिया। इसमें धोखाधड़ी या लोन डिफॉल्‍ट करने के बाद विदेश भागने वालों की संपत्ति जब्‍त करने का प्रावधान है। यह उन डिफॉल्‍टरों पर लागू होगा जिन पर 100 करोड़ रूपए या इससे ज्‍यादा बकाया है मनीलॉन्ड्रिंग विरोधी कानून में भी आर्थिक अपराधियों की संपत्ति जब्‍त करने का प्रावधान है लेकिन इसमें गलत तरीके से कमाई गई सं‍पत्ति ही जब्‍त की जा सकती है। वह भी दोषी पाए जाने के बाद। नए कानूनमें धोखाधड़ी करने वाले की सभी संपत्ति जब्‍त करने का प्रावधान है चाहे वह गलत तरीके से कमाई गई हो या सही तरीके से।

बिल इस संदर्भ में महत्‍वपूर्ण है कि पिछले महीने पीएनबीने सबसे बड़े बैंकिंग घोटाले का खुलासाकिया। हीरा कारोबारी नीरव मोदी और मेहुल चौकसी 12,717 करोड़ रूपए की धोखाधड़ी के बाद विदेश चले गए हैं इससे पहले शराब कारोबारी विजय माल्‍या भी विदेश भाग चुका है।

बिल में कहा गया है कि अभी ऐसे लोग कार्रवाई की भनक लगते ही सजा से बचने के लिए देश छोड़कर चले जाते हैं। कई बार कोर्ट कार्रवाई के दौरान भी ऐसा हुआ है इससे आपराधिक मामलों की जांच में बाधा आती है ऐसे अपराधों से बैंकिंग सेक्‍टर की स्थिति खराबहुई है मौजूदा कानून इस समस्‍या से निपटने में सक्षम नहीं हे वित्‍त राज्‍य मंत्री शिव प्रताप शुक्‍ला ने इसे सदन में पेश किया। बीजू जनता दल के सांसद भतृहरि माहताब ने यह कहकर बिल का विरोध किया कि इससे सरकार को किसी व्‍यक्ति को बिना दोषी साबित किए उसकी संपत्ति पर कब्‍जा करने का अधिकारी मिल जाएगा। यह मौलिक अधिकारों का हनन है।

100 करोड़ रूपए या ज्‍यादा का डिफॉल्‍ट किया हो, उसके नाम गिरफ्तारी का वारंट हो, कार्रवाई से बचने के लिए विदेश चला गया हो या कार्रवाई में सहयोग के लिए विदेश से नहीं आ रहा हो।

धोखाधड़ी करने वाली विदेशी संपत्ति भी जब्‍त की जा सकती है। इसमें बेनामी संपत्ति शामिल है। जब्‍त संपत्ति बेच कर कर्ज लौटाने के लिए एडमिनिस्‍ट्रेट नियुक्‍त किया जायेगा।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *