[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: छत्तीसगढ़ | News 4 India - Part 2

छत्तीसगढ़

विकास और सामाजिक क्षेत्र ,छत्तीसगढ़ अग्रणी

विकास और सामाजिक क्षेत्र ,छत्तीसगढ़ अग्रणी

छत्तीसगढ़
रायपुर न्‍यूज 4 इंडिया। सबके साथ-सबका विकास की भावना के अनुरूप समावेशी विकास के ध्‍येय को लेकर काम कर रही छत्‍तीसगढ़ की रमन सरकार की यह अपने आप में बड़ी उपलब्धि रही कि राज्‍य की जीएसडीपी वृद्धि दर राष्‍ट्रीय औसत से भी अधिक रही। भारतीय रिजर्व बैंक ने भी अपनी वर्ष 2016-17 की वार्षिक रिपोर्ट में छत्‍तीसगढ़ सरकार के बेहतर वित्‍तीय प्रबंधन का उल्‍लेख करते हुए कहा है कि ऋण भुगतान पर राजस्‍व व्‍यय, विकासमूलक कार्यों पर और सामाजिक क्षेत्र की योजनाओं पर खर्च करने में छत्‍तीसगढ़ आगे रहा और देश में उसका प्रदर्शन सर्वश्रेष्‍ठ रहा। इस अवधि में छत्‍तीसगढ़ ने अपने बजट का 22.7 प्रतिशत व्‍यय किया है, जबकि राज्‍यों का औसत 12.8 प्रतिशत है। सामाजिक क्षेत्र की योजनाओं में 15.8 प्रतिशत राशि खर्च कर छग ने देश में सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन किया है, जबकि अन्‍य राज्‍यों का औसत 7.9 प्रतिशत है। छग ने सामाजिक क्षेत्र
एनआईटी के पूर्व छात्र विकास में करें योगदान

एनआईटी के पूर्व छात्र विकास में करें योगदान

छत्तीसगढ़
रायपुर न्‍यूज 4 इंडिया। छत्‍तीसगढ़ के मुख्‍यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्‍थान के देश विदेश से आए पूर्व छात्रों का राज्‍य में स्‍वागत करते हुए उनसे छत्‍तीसगढ़ के विकास में सक्रिय योगदान देने का आव्हान किया। डॉ.रमनसिंह ने यहां भारतीय प्रौद्योगिकी संस्‍थान और शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज के भूतपूर्व छात्रों के सम्‍मलेन को संबोधित करते हुए कहा कि इस संस्‍थान के छात्रों ने अपने ज्ञान प्रतिभा और छत्‍तीसगढ़ की माटी से मिले संस्‍कारों से दुनिया में छत्‍तीसगढ़ और इस संस्‍थान का नाम रोशन किया है। उन्‍होंने कहा कि छत्‍तीसगढ़ तेजी से बदल रहा है। बाहर से आने वाले छात्रों ने राजधानी रायपुर को देखकर इस बदलाव को महसूस किया होगा। कहा कि भिलाई और रायगढ़ जैसे शहरों के साथ-साथ बस्‍तर संभाग के दूरस्‍थ अंचलों के बीजापुर, दंतेवाड़ा, सुकमा जिलों में भी जाकर वहां विकास कार्यों को देखा जा सकता है।
5 वर्ष में 199 लोगों की मौत

5 वर्ष में 199 लोगों की मौत

छत्तीसगढ़
रायपुर न्‍यूज 4 इंडिया। छत्‍तीसगढ़ के वन मंत्री महेश गागड़ा ने राज्‍य में पिछले पांच वर्षों में जंगली हाथियों के हमले में 199 लोगों की मौत को स्‍वीकारते हुए कहा कि इनके उत्‍पात को रोकने एवं उन्‍हें नियंत्रित करने के लिए कर्नाटक के विशेषज्ञों की मदद ली जायेगी। श्री गागड़ा ने 21 दिसंबर को विधानसभा में प्रश्‍नोत्‍तर काल में कांग्रेस सदस्‍य अरूण वोरा के पूरक प्रश्‍नों के उत्‍तर में बताया कि इस सत्र के तुरंत बाद कर्नाटक के विशेषज्ञों को इस समस्‍या से निजात के लिए बुलाया जायेगा तथा इसके साथ ही उनसे स्‍थानीय दलों को प्रशिक्षण भी दिलवाया जायेगा। वहां से छह प्रशिक्षित हाथियों को भी लाने की योजना है। पांच वर्षों में हाथियों ने सात हजार घरों एवं लगभग 33 हजार हेक्‍टेयर फसल को नुकसान पहुंचाया है। उन्‍होंने कहा कि शासन द्वारा पीडि़तों को लगभग साढ़े 39 करोड़ रूपए का मुआवजा वितरित किया गया है। इसके सा
मेडिकल कॉलेज होंगे स्‍वशासी

मेडिकल कॉलेज होंगे स्‍वशासी

छत्तीसगढ़
रायपुर न्‍यूज 4 इंडिया। राज्‍य के सरकारी सभी मेडिकल, डेंटल, नर्सिंग और फिजियोथैरेपी कॉलेजों को स्‍वशासी करने की तैयारी शुरू हो गई है। सभी कॉलेज चिकित्‍सा शिक्षा विभाग से जुड़े हैं। स्‍वशासी होने के बाद इन कॉलेजों को आय का जरिया खुद ही निकालना होगा। उस आय से कॉलेज का संचालन होगा। कॉलेजों का संचालन स्‍वशासी सिस्‍टम से होने के बाद डाक्‍टरों और नर्सों सहित अन्‍य स्‍टाफ के तबादले ही नहीं होंगे। शासन की ओर से इस बारे में मेडिकल कॉलेजों के डीन व प्राचार्यों की राय मांगी गई थी। डी और प्राचार्यों ने अपनी राय दे दी है। उनकी सलाह को शासन के पास भेजा गया है। इस संबंध में जल्‍द निर्णय होने की संभावना है। स्‍वशासी होने के बाद कॉलेजों में बड़े बदलाव हो सकते हैं। चिकित्‍सा शिक्षा विभाग मेडिकल, डेंटल, नर्सिंग व फिजियोथेरेपी कॉलेजों को स्‍वशासी करने पर सालभर से विचार कर रहा है। डीएमई कार्यालय पहले ही इस
घूम रहे गिरोह, कभी मदद तो कभी घरों में बख्‍शीश मांगने के नाम पर ऐंठ रहे पैसे

घूम रहे गिरोह, कभी मदद तो कभी घरों में बख्‍शीश मांगने के नाम पर ऐंठ रहे पैसे

छत्तीसगढ़
रायपुर न्‍यूज 4 इंडिया। राजधानी में पिछले कुछ दिनों से बाहरी और संदिग्‍ध लोग मोहल्‍ले और कॉलोनियों में जाकर काम करने और मदद के बहाने रेकी कर रहे हैं। सड़क पर गाडि़यां रोककर अपना सामान-पर्स चोरी होने की दुहाई देकर पैसे मांगते हैं, तो कभी बच्‍चे के जन्‍म पर गाते-बजाते घरों में घुस जाते हैं। बख्‍शीश मांगने वाली महिलाएं तो मन मुताबिक पैसे न मिलने पर अपशब्‍दों के साथ बच्‍चे-परिवार के नाम पर ताना मारने लगती हैं। इसे लेकर पुलिस को भी शिकायतें मिली हैं। आला अफसरों का कहना है कि इस तरह कोई भी संदिग्‍ध रास्‍ते या घर-कॉलोनी के आसपास दिखाई दे तो सबसे पहले उनके मोबाईल पर फोटो खींच ले और फिर तत्‍काल पुलिस को सूचना दें। शहर के पॉश इलाकों में संदिग्‍ध और बाहरी लोगों के घूमने की खबर मिल रही है। बीते कुद महीनों में हुई आपराधिक घटनाओं में अजीबोगरीब तरीके इस्‍तेमाल किए गए हैं। पिछले दो सप्‍ताह के अंदर कुछ
शिक्षाकर्मियों के समर्थन में नक्सलियों ने फेंका पर्चा

शिक्षाकर्मियों के समर्थन में नक्सलियों ने फेंका पर्चा

छत्तीसगढ़, मुख्य समाचार
दंतेवाड़ा। शिक्षाकर्मियों के मांगों को नक्सलियों ने भी अब समर्थन देते पर्चा फेंका है। हालांकि पुलिस ऐसे किसी पर्चे की खबर से इंकार करती है लेकिन किरंदुल थाना क्षेत्र के समलवार स्कूल के पास सोमवार को ग्रामीणों ने ऐसे पर्चे देखे। जिसमें दक्षिण सब जोनल ब्यूरो भाकपा (माओवादी) द्वारा जारी किया गया है। J नवंबर 2017 में जारी प्रिंटेंट इस पर्चे में शिक्षाकर्मियों आपके मांगे लेकर संघर्ष करो, हम आपका साथ है, के साथ सात बिंदू शिक्षाकर्मियों के समर्थन में है। शिक्षाकर्मियों का संविलियन, समान काम का समान वेतन, क्रमोन्न्ति से पदोन्न्ति, गैर शिक्षण कार्य करवाना बंद करने, शिक्षा का निजीकरण बंद और बजट में पुलिस पर नहीं शिक्षा के लिए 20 प्रतिशत खर्च करने का उल्लेख है। ज्ञात हो कि नक्सली 2 से 8 दिसंबर तक पीएलजीए सप्ताह बना रहे हैं। सप्ताह के शुरू होने से एक दिन पहले नक्सलियों ने अपना पर्चा-बैनर भांसी था
पुलिस चौकी में लगती है प्रोफेशनल कोर्स की क्‍लास

पुलिस चौकी में लगती है प्रोफेशनल कोर्स की क्‍लास

छत्तीसगढ़
रायपुर न्‍यूज 4 इंडिया। कोई युवा नहीं चाहता कि उसे किसी वजह से पुलिस थाने जाना पड़े, वो भी हर हफ्ते, लेकिन छत्‍तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से 45 किमी दूर धमतरी में एक पुलिस चौकी ऐसी है, जहां जाने के लिए आस-पास के युवा इंतजार में रहते हैं चौकी में पुलिसकर्मी, युवाओं की क्‍लास भी लेते हैं, लेकिन कोई डांट-डपट वाली क्‍लास नहीं बल्कि प्रोफेशनल कोर्स की क्‍लास। बिरेझर पुलिस चौकी की बात है। चौकी के पुलिसकर्मी अपने तमाम काम में से समय निकालकर जिले के युवाओं के लिए प्रोफेशनल कोर्स की क्‍लासेज लगाते हैं। हर शनिवार को दो घंटे ये क्‍लास चलती है। क्‍लास नवंबर में 5 स्‍टूडेंट से शुरू हुई थी। एक महीने में ही संख्‍या 50 तक पहुंच चुकी है।  
80 हजार शिक्षाकर्मी होंगे बर्खास्‍त

80 हजार शिक्षाकर्मी होंगे बर्खास्‍त

छत्तीसगढ़
रायपुर न्‍यूज 4 इंडिया। छत्‍तीसगढ़ में लगभग एक लाख 80 हजार शिक्षाकर्मी (संविदा शिक्षक) के हड़ताल के कारण बड़ी संख्‍या में स्‍कूलों के ताले नहीं खुलने को गंभीरता से लेते हुए राज्‍य सरकार ने तीन दिन में ड्यूटी पर वापस नहीं आने वाले शिक्षाकर्मियों को बर्खास्‍त करने तथा शिक्षण कार्य के लिए 12वीं पास स्‍थानीय युवकों को आमंत्रित करने का आदेश दिया है। राज्‍य के अपर मुख्‍य सचिव एम.के.राउत ने दो अलग-अलग आदेश जारी किये हैं। जिससे शिक्षाकर्मियों के आंदोलन से कड़ाई से निपटने के निर्देश दिए गए हैं। राज्‍य के स्‍कूल शिक्षा सचिव ने दो दिन पूर्व 90 प्रतिशत स्‍कूलों को खुले होने का दावा किया था, लेकिन श्री राउत द्वारा जारी इन दोनों आदेशों से साफ लगता है कि आंदोलनकारियों के कई हजार स्‍कूलों के ताले नहीं खुलने के दावे में कहीं ज्‍यादा सच्‍चाई है। श्री राउत ने सभी जिला पंचायतों और जनपद पंचायतों के मुख्‍य
छत्‍तीसगढ़ सीडी कांड की अब मप्र करेगा जांच

छत्‍तीसगढ़ सीडी कांड की अब मप्र करेगा जांच

छत्तीसगढ़
रायपुर न्‍यूज 4 इंडिया। सेक्‍स सीडी कांड की जांच सीबीआई एसपी और जबलपुर जोन के एसपी पीके पांडे को सौंपने की चर्चा है। अभी वे छत्‍तीसगढ़ के प्रभार में भी हैं। उनका मुख्‍यालय जबलपुर है और वे वहीं बैठते हैं। वे आर्थिक मामलों को देखते हैं। सीबीआई ने कोई अधिकृत घोषणा नहीं की है। उनके साथ एक अफसर होंगे। यह टीम जांच के लिए 21 नवंबर या 22 नवंबर को रायपुर जा सकती है। सीबीआई की टीम सबसे पहले इस मामले की जांच कर रही एसआईटीसे मीटिंग करेगी। सीबीआई प्रवक्‍ता आरके गौर ने बताया कि सीबीआई सीडी कांड की जांच करेगी।
छत्तीसगढ़ सरकार है अग्रणी

छत्तीसगढ़ सरकार है अग्रणी

छत्तीसगढ़
रायपुर न्यूज 4 इंडिया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गठन के 17 वर्षों में विभिन्न क्षेत्रों में छत्तीसगढ़ की उपलब्धियों की सराहना करते  हुए कहा कि खनिज संपदा से संपन्न इस राज्य में विकास की अपार संभावनाएं हैं श्री कोविंद नया रायपुर में देर शाम राज्य गठन की 17 वीं वर्षगांठ पर आयोजित पांच दिवसीय कार्यक्रमों के समापन उत्सव पर राज्य की महान विभूतियों के नाम पर स्थापित राज्य  अलंकरणों से 18 नागरिकों और पांच संस्थाओं को सम्मानित करने के बाद आयोजित समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि लंबे संघर्ष के बाद अस्तिवत्व में आए इस राज्य को आगे बढ़ाने में रमनसिंह सरकार बहुत अच्छा कार्य कर रही है। राज्य के खाद्य सुरक्षा कानून, वनवासियों को मुफ्त में नमक 56 लाख परिवारों को निशुल्क स्वास्थ्य बीमा कार्ड जैसे राज्य में चल रहे कई लोक कल्याणकारी कार्यों का जिक्र करते हुए कहा कि जिन उद्देश्य को लेकर नए