[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: SOURCE NEWS | News 4 India - Part 22

Author: SOURCE NEWS

पब्लिक मनी का कैस उपयोग कर सकते हैं

पब्लिक मनी का कैस उपयोग कर सकते हैं

मुख्य समाचार, राष्ट्रीय खबर
नई दिल्‍ली न्‍यूज 4 इंडिया। राज्‍यसभा सदस्‍यता से अयोग्‍य करार दिए जा चुके जदयू के पूर्व अध्‍यक्ष शरद यादव के वेतन और सभी भत्‍तों पर सुप्रीम कोर्ट ने 7 जून को रोक लगा दी है। कोर्ट ने कहा कि अयोग्‍य होने के बावजूद वह पब्लिक मनी का इस्‍तेमाल कैसे कर सकते हैं सुप्रीम कोर्ट ने दिल्‍ली हाईकोर्ट को शरद यादव की सदस्‍यता का मामला जल्‍द निपटाने को कहा। हाईकोर्ट में सुनवाई 12 जुलाई को होगी। तब तक वह सरकारी बंगले में रह पाएंगे।
क्‍यों न सीबीआई या एसआईटी से जांच कराई जाए

क्‍यों न सीबीआई या एसआईटी से जांच कराई जाए

मध्य प्रदेश
जबलपुर न्‍यूज 4 इंडिया। हाईकोर्ट ने राज्‍य शासन और पीएससी को नोटिस जारी कर पूछा है कि क्‍यों न पीएससी की प्रारंभिक परीक्षा की जांच सीबीआई या एसआईटी से कराई जाए। जस्टिस विजय शुक्‍ला की एकल पीठ ने मामले की अगली सुनवाई 25 जून को नियत की है। नरसिंहपुर निवासी विवेक सिंह की ओर से दायर याचिका में कहा गया है कि पीएससी की प्रारंभिक परीक्षा 18 फरवरी को आयोजित की गई थी प्रारंभिक परीक्षा में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी हुई1मॉडल आन्‍सरशीट जारी होने के बाद पीएससी ने पांच प्रश्‍नों को डिलीट कर दिया। दस प्रश्‍नों के उत्‍तर बदल दिए गए। इससे कई उम्‍मीदवारों के परीक्षा परिणाम प्रभावित हुए हैं याचिका में कहा गया कि पीएससी ने प्रश्‍न तैयार करने वाले 7 एक्‍सपर्ट प्रोफेसरों को ब्‍लैक लिस्‍टेड कर दिया, लेकिन सार्वजनिक नहीं किए गए। इसकी वजह से पूरी परीक्षा संदेह के घेरे में आ गई है। याचिकाकर्ता की ओर से अधिवक्‍त
नहीं दिखाई दे रही मप्र की झलक

नहीं दिखाई दे रही मप्र की झलक

मध्य प्रदेश
भोपाल न्‍यूज 4 इंडिया।   मुख्‍यमंत्री, मंत्रियों और वरिष्‍ठ अधिकारियों के लिए तैयार हुए नए मंत्रालय भवन में अब मप्र की स्‍थापत्‍य कला, पर्यटन और इतिहास की झलक भी दिखाई देगी। भवन के अंदर ऐसे स्‍थान चिन्ह्ति किए जाएंगे, जहां मूर्ति, पेंटिंग, फोटो या अन्‍य चीजें लगाई जा सकें। ऐसा इसलिए किया जा रहा है क्‍योंकि तैयार नई बिल्डिंग के स्‍ट्रक्‍चर में ऐसा कहीं भी अहसास नहीं मिल रहा कि यह मप्र सरकार का सचिवालय है मसलन यहां की किसी प्रसिद्ध चीज की झलक नहीं मिल रही। पिछले दिनों हुई बैठक में जब यह विचार आया तो आनन-फानन में संबंधित विभाग की तरफ से इसकी कवायद शुरू हुई। बताया जा रहा है कि अगस्‍त के पहले पखवाड़े तक मंत्रालय विस्‍तार के तहत बन रहे नए भवन का लोकार्पण हो सकता है। तब तक यह सारी प्रक्रिया पूरी करनी है बाकायदा इसके लिए एक कमेटी बनाई जाएगी। बताया जा रहा है कि नए मंत्रालय के कॉरीडोर और कमरों म
जवान झूला फांसी पर

जवान झूला फांसी पर

मध्य प्रदेश
भोपाल न्‍यूज 4 इंडिया।  राजधानी के निशातपुरा इलाके में संजीव नगर स्थित बंद घर में 7 जून को दोपहर मिलिट्री के जवान का शव फंदे पर लटका मिला। साथियों ने बताया कि वह 6 जून को ड्यूटी पर आया था पर 7 जून को नहीं आया तो साथी उसे देखने घर पहुंचे थे पुलिस ने परिजनों को सूचना भेजी है शव को अभिरक्षा में रखा गया है। 8 जून को सुबह परिजनों की मौजूदगी में पीएम हो सकेगा। एसआई रोशन सिंह ने बताया कि मृतक जुगल किशोर चंद्रवंशी(26) मूलत: साजापुर के देवरी का निवासी था मिलिट्री की 21वीं कोर में आरक्षक के पद पर था दो साल पहले उसकी शादी हुई थी पत्‍नी के साथ वह संजीव नगर में रहता था 6 जून को पत्‍नी मायके चली गई थी, और वह ड्यूटी के बाद घर पहुंचा था 7 जून को जब ड्यूटी पर नहीं आया तो अधिकारियों ने पता लगाने साथियों को घर भेजा था साक्षी आरक्षक सुदीप कुमार जब जुगल के घर पहुंचे तो अंदर से दरवाजा बंद था खिड़की से झांकक
21000 कोर्ट की फीस चुकाने भी लग रहे 10-20 के टिकट

21000 कोर्ट की फीस चुकाने भी लग रहे 10-20 के टिकट

मध्य प्रदेश
भोपाल न्‍यूज 4 इंडिया।  राजधानी की अदालतों में कोर्ट फीस भरने के लिए वकील और पक्षकार को बीस-बीस रूपए रसीदी टिकट ग्रीन पेपर पर चिपका रहे हैं सबसे ज्‍यादा दिक्‍कत चेक बाउंस से जुड़े मामले में हो रहे हैं क्‍योंकि इसमें कोर्ट फीस भरनी अनिवार्य है उधर कचहरी में स्‍टाम्‍प पेपर ढूंढ़े नहीं मिल रहे हैं वही मजिस्‍ट्रेट बिना कोर्ट फीस के मामले खारिज करने की बात कर रहे हैं । ऐसे में पक्षकारों के पास अपने मामले को बचाने के लिए ग्रीन पेपर पर कोर्ट फीस टिकट चिपकाकर कोर्ट अपने मामलों को बचा रहे हैं नियमानुसार जब तक चेक बाउंस के मामले में निर्धारित कोर्ट फीस जमा नहीं हो जातीहहै तब तक कोर्ट मामला दर्ज नहीं कर सकती है। मप्र देश का पहला राज्य है जहां चेक बाउंस के मामलों में सर्वाधिक कोर्ट फीस देनी होती है एक लाख तक 5 प्रतिशत और 5 लाख तक 4 प्रतिशत कोर्ट फीस देनी होती है। देश के अन्‍य प्रमुख राज्‍यों में च
मिड कॅरियर ट्रेनिंग के बाद ही बनेंगे  

मिड कॅरियर ट्रेनिंग के बाद ही बनेंगे  

मध्य प्रदेश
भोपाल न्‍यूज 4 इंडिया। नायब तहसीलदारों को 5 वर्ष की सेवा के बाद एवं तहसीलदार के पद पर पदोन्‍नति के पहले मिड कॅरियर ट्रेनिंग दिलवाई जाएगी। यह ट्रेनिंग पांच सप्‍ताह की होगी। नोडल एजेंसी आर.सी.व्‍ही.पी. नरोन्‍हा प्रशासन एवं प्रबंधकीय अकादमी होगी। एक सप्‍ताह देश के ख्‍यातिलब्‍ध प्रबंधकीय संस्‍थान में  नेतृत्‍व एवं प्रबंधकीय विकास पर और एक सप्‍ताह किसी अन्‍य प्रदेश में वहांकी राजस्‍व संबंधी प्रणाली एवं नवाचार पर प्रशिक्षण दिलाया जायेगा। इसमें एक सप्‍ताह का विदेश में भी प्रशिक्षण कराया जा सकेगा। प्रशिक्षणार्थियों का चयन वरिष्‍ठता के आधार पर किया जायेगा। मिड कॅरियर ट्रेनिंग में राजस्‍व विभाग से संबंधित अधिनियमों निर्देशोंपर रिफ्रेशर कोर्स, अधिनियमों परिपत्रों आदि में अद्यतन संशोधन एवं उनका क्रियान्‍वयन, प्रबंधकीय एवं नेतृत्‍व क्षमता का विकास, विदेशों एवं अन्‍य राज्‍यों में हो रहे भू-प्रबंधन स
51000 डुप्‍लीकेट खातों में जा रही थी राशि

51000 डुप्‍लीकेट खातों में जा रही थी राशि

मध्य प्रदेश
भोपाल न्‍यूज 4 इंडिया। सामाजिक न्‍याय और निशक्‍तजन कल्‍याण विभाग ने जांच में प्रदेश में ऐसे करीब 51 हजार पेंशन हितग्राहियों के बचत खाते पकड़े हैं जिनमें पेंशन की राशि दो या उससे अधिक बार ट्रांसफर की जा रही थी यानी इन सभी खातों में डुप्‍लीकेसी थी एक हितग्राही की एक से ज्‍यादा जगह पेंशन का लाभ मिलता रहा। जबकि एक हितग्राही  एक ही पेंशन का लाभ ले सकता है इन खातों में पिछले दो साल में 2 करोड़ रूपए से ज्‍यादा ट्रांसफर किए गए। फिलहाल मामला अब पकड़ में आया है विभाग ने राशि वसूलने के लिए संबंधित बैंकों को लिखा है यदि हितग्राही अतिरिक्‍त पेंशन राशि को वापस नहीं करते हैं तो विभाग उनके खाते ब्‍लॉक करेगा। साथ ही उनकी पेंशन भी रोक देगा। ऐसे आया मामला सामने विभाग 37 लाख से अधिक पेंशन हितग्राहियों को सिंगल क्लिक पेंशन योजना से भुगतान करता है विभाग ने इसके लिए हितग्राहियों के खातों की जांच करव
जब्‍त किया कीटनाशक

जब्‍त किया कीटनाशक

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिन्‍दवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। कृषि विभाग के अमले ने 7 जून को दोपहर को साई बीज भंडार में औचक निरीक्षण किया। यहां अवैधानिक रूप से बेची जा रही कीटनाशक दवाएं जब्‍त की गईं। जांच के दौरान दुकान संचालक अनुपस्थित रहा तो वहां मौजूद कर्मचारी उपलब्‍ध सामग्री का स्‍टाक रजिस्‍टर, बिल वाउचर, लाइसेंस नहीं दिखा पाया। यहां खाद का लायसेंस संगीता नर्रे के नाम पर पाया गया। कर्मचारी ने बताया कि जुन्‍नारदेव के श्री गुप्‍ता संचालन करते हैं। कृषि विभाग के एसडीओ पीएस ऊट्टी ने बताया कि खाद बीच भंडार संचालक को नोटिस देकर स्‍टाक रजिस्‍टर सहित अन्‍य जानकारी मांगी गई थी कई बार नोटिस के बाद भी जब दुकान संचालक ने जानकारी उपलब्‍ध नहीं कराई तो दुकान की निरीक्षण कार्रवाई की गई। ऊट्टी ने बताया कि संचालक अन्‍य दस्‍तावेज नहीं दिखाते हैं तो पूरी दुकान सील कर लायसेंस निलंबित करने की कार्रवाई करेगा।  कृषि विभाग के कर्मचा
इतनी ही हो पाईं वैध  

इतनी ही हो पाईं वैध  

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिन्‍दवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। नगरनिगम क्षेत्र की अवैध कॉलोनियों को वैध करने की तैयारी चल रही है इसके लिए शहर की 267 कॉलोनियों में से पहले 45 को चिन्हित किया गया था जिसमें आए दावे-आपत्तियों के बाद 36 कॉलोनियों को वैध करने के लिए अंतिम प्रकाशन जारी हुआ है अब इन कॉलोनियों को वैध करने के लिए लगने वाली कॉलोनाइजर और रहने वाले लोगों के साथ मिलकर इसे वैध किया जाएगा। इन 36 कॉलोनियों को वैध करने के लिए नगरनिगम के उपयंत्रियों द्वारा सर्वे किया जा रहा है। जो इस बात की रिपोर्ट प्रस्‍तुत करेंगे कि किस कॉलोनी में मूलभूत सुविधा पहुंचाने के लिए कितनी राशि खर्च करना होगा। इसके आधार पर शासन के पास कार्ययोजना बनकर पहुंचेंगी जहां पर जनभागीदारी, कॉलोनाइजर और शासन की ओर से यहां सुविधाएं पहुंचाई जाएंगी। चिन्हित 36 अवैध कॉलोनियों को चिन्हित कर अधिसूचना जारी की गई है। इस कालोनी का डायवर्सन पत्र और मास्‍टर प्‍

छह की मौत, तब जाकर जागा प्रशासन

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
  छिन्‍दवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। पातालकोट के रातेड़ गांव में पानी की कमी से मवेशियों के मौत की खबर से प्रशासन में हड़कंप मच गया है। 6 जून की रात यहां 6 और मवेशियोंकी मौत हो गई है यहां पानी की कमी से मरने वाले मवेशियों की संख्‍या 43 हो गई है 7 जून की सुबह यहां एसडीएम सहित अन्‍य अधिकारियों ने डेरा डाल दिया। एसडीएम ने ग्राम पंचायत सचिव को अगले 15 दिन तक टैंकर से पानी परिवहन करने के निर्देश दिए हैं। रातेड़ में पानी की कमी और मवेशियों की मौत को लेकर प्रशास‍निक अधिकारियों से संपर्क किया तो जिला मुख्‍यालय में उथल-पुथल मच गई। पीएचई एसडीओ बीएल उईके के साथ विभाग का अमला रात 12 बजे रातेड़ पहुंच गया। रात भर कर्मचारियों ने बीजाढाना से रातेड़ तक कवायद की। बीजाढाना के ट्यूबवेल का मोटर पंप जलने के कारण वहां तत्‍काल मोटरपंप बदला गया। सुबह अधिकारियों के पहुंचने से पहले टंकी में पानी भर दिया गया।