[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: छत्तीसगढ़ | News 4 India - Part 4

छत्तीसगढ़

BSP ने फूंका चुनावी बिगुल

BSP ने फूंका चुनावी बिगुल

छत्तीसगढ़
छत्तीसगढ़  न्‍यूज 4 इंडिया।  बहुजन समाज पार्टी ने आगामी विधानसभा चुनाव का बिगुल फूंक दिया है. बसपा संस्थापक कांशीराम के जन्मदिन पर सत्ता प्राप्त करो संकल्प लेकर बसपा ने इसका आगाज कर दिया है. सूबे में बसपा के आगामी विधानसभा चुनाव के बिगुल फूंकने के बाद राजनीतिक हलचल तेज हो गई है. बहुजन समाज पार्टी के मतदाताओं की छत्तीसगढ़ में अच्छी खासी संख्या है. प्रदेश में बसपा के 5 लाख 35 हजार से ज्यादा मतदाता हैं, जो राजनीतिक गणित बनाने और बिगाड़ने में अपनी अहम भूमिका रखते हैं. जब राज्य का गठन हुआ था, तब साल 2003 के विधानसभा चुनाव में बसपा के 3 विधायक और 2008 में 2 विधायक और साल 2013 में बसपा का एक विधायक हैं. 2018 के विधानसभा चुनाव में बसपा और कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर दोनो दलों के बीच बातें चल रही हैं. बसपा के प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश वाजपेयी का कहना है कि बसपा उस पार्टी के साथ जाएगी जो
RSS बढ़ा रहा है इस तरह शाखाएं

RSS बढ़ा रहा है इस तरह शाखाएं

छत्तीसगढ़
छत्तीसगढ़  न्‍यूज 4 इंडिया।    राजधानी रायपुर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की एक प्रेसवार्ता आयोजित की गई. इसमें बताया गया कि छत्तीसगढ़ में संघ किस तरह से देश और प्रदेश में अपनी शाखाएं बढ़ा रहे है. इस दौरान संघ की नीतियों व कार्यों की जानकारी भी दी गई. संघ की शाखाओं के लाभ भी बताए गए. सह संघ संचालक डॉ. पुर्णेन्दु सक्सेना ने बताया कि साल 2011 में देशभर में जहां 27 हजार 78 स्थानों पर 39 हजार 908 शाखाएं लगती थीं, वो बढ़कर 37 हजार 190 स्थानों पर 58 हजार 967 शाखाएं हो गई हैं. इसी तरह छत्तीसगढ़ प्रांत में भी वृद्धि हो रही है. यहां साल 2012 में 818 स्थानों पर 1 हाजर 41 शाखाएं लगती थीं, जो साल 2018 में बढ़कर 1 हजार 159 स्थानों पर 1481 शाखाएं संचालित हो रही हैं. प्रेसवार्ता में बताया गया कि संघ ने भारतीय भाषाओं में ही पढ़ाई, परीक्षा और नियुक्तियों की मांग रखी है. संघ का मानना है कि प्राथमिक
जहां जंगलों में भी सूखा

जहां जंगलों में भी सूखा

छत्तीसगढ़
रायपुर न्‍यूज 4 इंडिया। छत्‍तीसगढ़ में गर्मी की आहट के साथ ही जंगलों में सूखा पड़ने लगा है नेशनल पार्क और टाइगर रिजर्व फॉरेस्‍ट के साथ-साथ राज्‍य के भी 11 अभयारण्‍यों के ज्‍यादातर तालाब सूख चुके हैं या सूखने की कगार पर हैं पानी की कमी होने से जंगली जानवरों के लिए पानी का संघर्ष शुरू हो चुका है जानवर पानी के लिए भटक रहे हैं उदंती सीतानदी से लेकर अचानकमार टाइगर रिजर्व में जानवर छोटे-छोटे गड्ढों में बचे पानी से प्‍यास बुझा रहे हैं वन विभागका सोलर पंप से जंगल के तालाबों में पानी भरने का फार्मूला फेल हो चुका है इस वजह से जो तालाब सूख रहे हैं उन्‍हें दोबारा भरने का कोई विकल्‍प नहीं है।
साथियों को जा रहे थे कैंप छोड़ने और अचानक ही 

साथियों को जा रहे थे कैंप छोड़ने और अचानक ही 

छत्तीसगढ़
जगदलपुर न्‍यूज 4 इंडिया। छत्‍तीसगढ़ में 11 महीने बाद 13 मार्च को सबसे बड़ा नक्‍सली हमला हुआ। सुकमा जिले के किस्‍टाराम में नक्‍सलियों के हमले में सीआरपीएफ के 9 जवान शहदी हो गए। ये जवान सुबह नक्‍सलियों से हुई एक मुठभेड़ से लौटे थे उसके बाद छुट्टी से लौटे साथ जवानों को उनके कैंप छोड़ने जा रहे थे ये सभी जवान माइन प्रोटेक्‍टेड व्‍हीकल पर सवार थे लेकिन विस्‍फोट इतना तेज था कि एमपीवी के परखच्‍चे उड़ गए। घटना में दो जवान घायल भी हुए हैं सभी जवान अजमेर बटालियन के थे। हमले के वक्‍त सुकमा एसपी अभिषेक मीणा और एएसपी नक्‍सल ऑपरेशन किस्‍टाराम कैंप में ही थे सूत्रों के अनुसार जवानों के कैंप से निकलने से लेकर वापस लौटने तक पूरे रोडमैप के बारे में नक्‍सलियों को जानकारी थी कहा ये भी जा रहा रहा है कि खुफिया विभाग ने नक्‍सली हमले की चेतावनी भी दे रखी थी फिर भी हमला हो गया। 6 राज्‍यों के 9 जवान शहीद
मानसिक तनाव में तीन को मारी गोली ,फिर कर ली आत्महत्या 

मानसिक तनाव में तीन को मारी गोली ,फिर कर ली आत्महत्या 

छत्तीसगढ़
राजनांदगावं न्‍यूज 4 इंडिया। छत्‍तीसगढ़ के बालोद जिले के संबलपुर में 12 मार्च को एक व्‍यक्ति ने तीन लोगों को गोली मारने के बाद आत्‍महत्‍या कर ली। तीनों घायलों का इलाज किया जा रहा है पुलिस के अनुसार आरोपी एक जनप्रतिनिध का निजी सुरक्षा अधिकारी रह चुका है आरोपी पी चंद्रवंशी ने संबलपुर के पास कथित तौर पर आपसी विवाद और मानसिक तनाव के कारण गोलियां चला दीं। इस वजह से यशोदा, मनोज और मोहन घायल हो गए। इन सभी की स्थिति खतरे के बाहर बताई गई है इस घटना के बाद चंद्रवंशी ने स्‍वयं को भी गोली मार ली, जिससे उनकी मौत हो गई।
वोटिंग को तैयार नहीं बीजेपी विधायक

वोटिंग को तैयार नहीं बीजेपी विधायक

छत्तीसगढ़
छत्तीसगढ़  न्‍यूज 4 इंडिया।   बीजेपी के पास 50 विधायक हैं, जबकि कांग्रेस के पास 39 विधायक हैं और एक विधायक है बसपा का. इसलिए बीजेपी कैंडिडेट की जीत तय मानी जा रही है, लेकिन पेंच फंसा है सरोज पांडेय को लेकर. पार्टी के भीतर ज्यादातर विधायक सरोज के पक्ष में मतदान के लिए तैयार नहीं हैं. वो उन्हें पार्टी आलाकमान से थोपा गया कैंडिडेट मानकर चल रहे हैं. बीजेपी के भीतर मची घमासान में प्रदेश अध्यक्ष धर्मलाल कौशिक का गुट काफी मजबूत है. उन्हें सीएम रमन सिंह का वरद-हस्त प्राप्त है. दूसरी ओर   इस बात की चर्चा भी खूब है कि सरोज पांडेय सीएम की दौड़ में सबसे आगे हैं. उन्हें उम्मीद है कि साल 2018 में होने वाले विधानसभा चुनाव के बाद पार्टी उन्हें राज्य की पहली महिला मुख्यमंत्री के तौर पर नवाजेगी. राज्यसभा का दिया गया टिकट भविष्य की राजनीति से जोड़कर देखा जा रहा है. ये बात भी सामने आई है कि बतौर महा
मुठभेड़ में शहीद हुआ बिहार का लाल

मुठभेड़ में शहीद हुआ बिहार का लाल

छत्तीसगढ़
बेगूसराय न्‍यूज 4 इंडिया। छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले के संवेदनशील नक्सल प्रभावित रावघाट में बुधवार को बिहार के बेगूसराय जिले के मंझौल पंचायत-एक निवासी उमेश सिंह का पुत्र सीमा सुरक्षा बल का आरक्षी अमरेश कुमार नक्सलियों से मुठभेड़ में शहीद हो गए। बुधवार की रात इसकी जानकारी परिवारवालों को मिलते ही मानों उनपर पहाड़ टूट पड़ा। परिवार में चहुंओर कोहराम मच गया। शुक्रवार को शहीद का शव घर पहुंचा। शव घर पहुंचते ही पूरा माहौल गमगीन हो गया। शहीद के घर ढढ़स बंधाने वालों का लगा है तांता गुरुवार को अमरेश की शहादत की जानकारी जैसे-जैसे गांव वालों को मिलती गई पड़ोसियों व शुभचिंतकों का सांत्वना देने के लिए तांता लगा रहा। परिजनों से मिली जानकारी के अनुसार अमरेश कुमार सीमा सुरक्षा बल 134 बटालियन के आरक्षी पद पर कार्यरत थे। बताया गया कि छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में रावघाट से सीमा सुरक्षा बल 134 बटालियन
मिला नारी शक्ति सम्मान

मिला नारी शक्ति सम्मान

छत्तीसगढ़
रायपुर  न्‍यूज 4 इंडिया।  महिला सशक्तिकरण के लिए छत्तीसगढ़ को दो राष्ट्रीय पुरस्कार मिले हैं। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर गुरुवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रायपुर के सखी वन स्टॉप सेंटर और जशपुर के कांसाबेल में संचालित बेटी जिंदाबाद बेकरी को नारी शक्ति सम्मान 2017 से सम्मानित किया है। महिला एवं बाल विकास मंत्री रमशीला साहू के साथ विभाग की सचिव डॉ. एम. गीता और जशपुर के कांसाबेल की बेटी पार्वती चौहान को यह सम्मान दिया गया। सम्मान के तहत एक लाख रुपए और प्रशस्ति पत्र दिया जाता है।
सबसे ज्यादा बेरोजगार

सबसे ज्यादा बेरोजगार

छत्तीसगढ़
छत्तीसगढ़    न्‍यूज 4 इंडिया।  हर चुनाव के समय युवाओं को एक आस रहती कि शायद ये सरकार आएगी और हमारी बेरोजगारी दूर कर देगी. ऐसा ही सोचते-सोचते उस युवा के 5 साल निकल जाते हैं. फिर उसे एक उम्मीद जागती है कि शायद अब कुछ बेहतर होगा, लेकिन हकीकत में होता कुछ नहीं. छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा प्रस्तुत आंकड़ों पर गौर करें तो ये बात साफ नज़र आ रही है कि प्रदेश में बेरोजगारों की संख्या पिछले एक साल में न सिर्फ बढ़ी बल्कि तेजी से बढ़ी है. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक वर्ष 2017-18 मार्च में 19 लाख 53 हजार 556 दर्ज की गई थी, जो अब तक बढ़कर 23 लाख 80 हजार 161 हो गई है. इसका मतलब ये है कि शिक्षित बेरोजगारों की संख्या बढ़ गयी है. आंकड़ों पर ध्यान दें तो समझ आता है कि पिछले एक साल में छत्तीसगढ़ में बेरोजगारों की संख्या तक़रीबन 4 लाख 26 हजार 605 तक बढ़ी है.दुर्ग में 3 लाख 9 हजार 529 रजिस्टर्ड बेरोजगार हैं. 1 लाख 90 हज
समर्पण करने पहुंचे 29 नक्सली

समर्पण करने पहुंचे 29 नक्सली

छत्तीसगढ़
  छत्तीसगढ़ न्‍यूज 4 इंडिया।  सुकमा में  8 मार्च को एक साथ 29 नक्सलियों के आत्मसर्मण करने का दावा पुलिस ने किया है. इनमें से 11 महिला नक्सली बताई जा रही हैं. नक्सली सैकड़ों की संख्या में ग्रामीणों को साथ लेकर पुलिस थाने में समर्पण करने पहुंचे थे. सुकमा पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक कोतवाली में पुलिस अधिकारियों के सामने नक्सलियों ने समर्पण किया है. कोंटा एरिया कमेटी में सक्रिय थे समर्पित नक्सली. नक्सल नीतियों से परेशान होकर आत्मसर्मण करने की बात कही जा रही है. मामले में पुलिस कानूनी प्रक्रिया कर रही है. पुलिस ने समर्पण करने वाले नक्सलियों को सरकार के योजना के तहत हर लाभ देने का अश्वासन दिया है. साथ ही सुरक्षा भी मुहैया कराने की बात कही है. बताते हैं कि समर्पण करने वाले नक्सली कई नक्सल हिंसाओं में शामिल थे.  छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग में नक्सली हिंसा को समाप्त करने सुरक्षा