[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: मध्य प्रदेश – Page 4 – News 4 India

मध्य प्रदेश

इलाज कराना है तो कराओ, वरना जाओ

इलाज कराना है तो कराओ, वरना जाओ

मध्य प्रदेश
भोपाल न्‍यूज 4 इंडिया। सुल्‍तानिया अस्‍पताल के आबिदा वार्ड की साफ-सफाई के दौरान पलंग से गिरने से प्रसूता की मौत का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि 13 जुलाई को फिर अस्‍पताल में साफ-सफाई के नाम पर मरीज के परिजन को बाहर कर दिया गया। इसके चलते गार्ड और परिजनों के बीच विवाद हो गया। हालांकि बाद में अस्‍पताल प्रबंधन की समझाइश के बाद मामला शांत हो गया। मरीजों के परिजनों ने बताया कि दोपहर में अस्‍पताल में साफ-सफाई के नाम पर उनको बाहर कर दिया गया। इस दौरान गार्डों ने उनसे धक्‍का-मुक्‍की भी की। इसी को लेकर विवाद होने लगा। परिजनोंका कहना है कि आबिदा वार्ड में एक पलंग पर दो-दो प्रसूताओं को भर्ती कर रखा है। उनके बच्‍चों को भी एक ही पलंग पर रखा गया है। इससे इंफेक्‍शन का खतरा बना रहता है। जब ड्यूटी डॉक्‍टरों से इस बारे में शिकायत करते हैं तो जवाब मिलता है कि इलाज कराना है तो कराओ, वरना दूसरे अस्‍पताल
अब रिकॉर्ड होगा ब्‍लॉकचेन तकनीक में

अब रिकॉर्ड होगा ब्‍लॉकचेन तकनीक में

मध्य प्रदेश
भोपाल न्‍यूज 4 इंडिया। प्रदेश में लैंड रिकॉर्ड से होने वाली छेड़खानी से उपजे विवादों को रोकने के लिए राजस्‍व विभाग एक रिकॉर्ड की पांच से सात कॉपियां तैयार करवाने जा रहा है। ऑनलाइन किए जा रहे रिकॉर्ड में से अगर एक में भी टेंपरिंग होती भी है तो शेष में इसमें बदलाव करना संभव नहीं होगा। यह ब्‍लॉक चेन सिस्‍टम की तर्ज पर काम करेगा। अब तक लैंड रिकार्ड में एक भूमि के कई नामों पर दर्ज होने के मामले सामने आते रहते हैं। यह तय कर पाना बहुत मुश्किल होता है कि असली भू-स्‍वामी कौन है। इसी के साथ भूमि के उपयोग को लेकर भी विवाद की स्थिति बनती है। इस तरह के विवाद बरसों चलते रहते हैं। भू-सुधार के तहत राजस्‍व विभाग ऐसे किसी भी विवाद को शुरूआती स्‍तर पर ही पकड़ लेगा। यह पता चल जाएगा कि रिकॉर्ड में छेड़छाड़ तो नहीं की गई है। पायलट प्रोजेक्‍ट होगा शुरू लैंड रिकॉर्ड की कॉपी को ब्‍लॉक चेन सिस्‍टम के तहत
इस अदालत को जवाब दें सीएम

इस अदालत को जवाब दें सीएम

मध्य प्रदेश
भोपाल न्‍यूज 4 इंडिया। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से कहा है कि जब वे महाकाल की नगरी उज्‍जैन से अपने जन आशीर्वाद यात्रा की शुरूआत करें तो सबसे पहले भोलेनाथ को साक्षी मानते हुए हिन्‍दूओं की आस्‍था का महाकुंभ सिंहस्‍थ में हुए घोटालों के सच को बताएंगे और इसके लिए दोषी लोगों को क्‍या दंड मिला यह उजागर करेंगे। मुख्‍यमंत्री यह भी बताएंगे कि नर्मदा क्षिप्रा लिंक परियोजना जिस पर 432 करोड़ खर्च किए गए इसकी स्थिति क्‍या है। क्षिप्रा में मिल रहे गंदे नालों को रोकने का जो वादा किया था, क्‍या वह पूरा हुआ इसका भी जवाब वे अपनी आशीर्वाद यात्रा में देंगे। श्री सिंह ने कहा कि 15 सौ करोड़ का घोटाला सिंहस्‍थ के आयोजन पर किया गया है। जिसका जवाब वे उज्‍जैन से प्रदेश की जनता को दें। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने पांव-पांव वाले नाम से 15 साल पहले अपने को प्रचारित करने वाले मुख्‍यमंत
अब वाट्सएप में दवाओं की लिस्‍ट

अब वाट्सएप में दवाओं की लिस्‍ट

मध्य प्रदेश
भोपाल न्‍यूज 4 इंडिया। भोपाल के जयप्रकाश जिला चि‍कित्‍सालय में मरीजों को दवाओं की भरपूर उपलब्‍धता के लिये सभी विशेषज्ञों और चिकित्‍सकों को उपलब्‍ध दवाओं की सूची प्रति दिन वाट्सएप पर मिल रही है। राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मिशन के संचालक एस विश्‍वनाथन ने बताया कि चि‍कित्‍सकों को वाट्सएप पर 312 दवाओं की सूची उपलब्‍ध कराई गई है। इससे चिकित्‍सक जब दवाओं का पर्चा लिखें और यदि इसमें से कोई दवा की आवश्‍यकता हो, तो स्‍टोर को तत्‍काल सूचित किया जा सके। श्री विश्‍वनाथन ने बताया कि इस अभिनव प्रयोग से मरीजों को सभी दवाएं उनके रोग के अनुसार मिल सकेंगी। साथ ही सामान्‍यत: उपयोग में आने वाली दवाओं की उपलब्‍धता भी सुनिश्चित होगी। योजना के क्रियान्‍वयन में सराहनीय योगदान के लिए उन्‍होंने फार्मासिस्‍ट शोभानाथ दुबे और अस्‍पताल प्रबंधक महेंद्र सिंह की सराहना की।
अब हिन्‍दी पेपर पास करना होगा अनिवार्य

अब हिन्‍दी पेपर पास करना होगा अनिवार्य

मध्य प्रदेश
भोपाल न्‍यूज 4 इंडिया। राज्‍य सरकार ने सहकारिता विभाग में लोक सेवा आयोग के द्वारा सीधी भर्ती के माध्‍यम से चयनित सहायक आयुक्‍त यह सहायक पंजीयक के लिए विभागीय परीक्षा उत्‍तीर्ण करने के नये नियम जारी किया है। जिसमें गैर हिन्‍दी  भाषी सहायक आयुक्‍त को हिन्‍दी का पेपर उत्‍तीर्ण करना जरूरी किया गया है। नये नियमों के तहत अब सहकारिता विभाग साल में दो बार जनवरी एवं जुलाई में विभागीय परीक्षा आयोजित करेगा। परीक्षा में छह प्रश्‍न-पत्र होंगे जिनमें शामिल हैं- सहकारिता सामान्‍य, सहकारिता तथा सामान्‍य विधि(पुस्‍तकों सहित), सहकारी बैंकिंग प्रणाली, सहकारी लेखा-अंकेक्षण, आदेश लेखन(पुस्‍तकों सहित)तथा सामान्‍य हिन्‍दी(गैर हिन्‍दी भाषी प्रशिक्षु अधिकारियों के लिए)। नियम में कहा गया है कि ऐसे समस्‍त अधिकारियों को गैर हिन्‍दी भाषी समझा जायेगा जिन्‍होंने मैट्रिक या उसके समकक्ष परीक्षा हिन्‍दी माध्‍यम या हिन्
घोटाले के मास्‍टरमाइंड

घोटाले के मास्‍टरमाइंड

मध्य प्रदेश
इंदौर न्‍यूज 4 इंडिया।  व्‍यापमं घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय ने 13 जुलाई को ईडी कोर्ट में पहली चार्जशीट पेश कर दी। इसमें पीएमटी 2012 और 2013 के साथ ही प्री-पीजी मेडिकल 2012 में हुए घोटाले की जांच रिपोर्ट भी संलग्‍न है। इसमें डॉ. जगदीश सागर, डॉ. विनोद भंडारी, व्‍यापमं के एग्‍जाम कंट्रोलर व डायरेक्‍टर डॉ. पंकज त्रिवेदी और अन्‍य अधिकार नितिन मोहिंद्रा को आरोपी बनाया गया है। चार्जशीट में कहा गया है कि इस घोटाले का मास्‍टरमाइंड डॉ. त्रिवेदी था। उन्‍होंने मोहिंद्रा के साथ व्‍यापमं के अजय कुमार सेन और सीके मिश्रा को भी अपने साथ मिलाया और छात्रों को मेडिकल परीक्षा में पास कराने के एवज में रूपए लिए। ईडी ने जांच में एक लेन-देन 1.81 करोड़ रूपए का पाया है। जिसमें त्रिवेदी ने 75 लाख रूपए रखे। ईडी ने अभी तीन परीक्षाओं के ही घोटाले की जांच की चार्जशीट पेश की है, लेकिन अभी 10 से ज्‍यादा व्‍यापमं
कास्टिंग डायरेक्‍टर ने मॉडल को बनाया बंदी

कास्टिंग डायरेक्‍टर ने मॉडल को बनाया बंदी

मध्य प्रदेश
भोपाल न्‍यूज 4 इंडिया। मुंबई फिल्‍म इंडस्‍ट्री में खुद को कास्टिंग डायरेक्‍टर बताने वाले एक सिरफिरे आशिक ने बीएसएनएल के रिटायर एजीएम की मॉडल बेटी को बंधक बना लिया। वह 12 जुलाई जुलाई को देर रात देसी कट्टा लेकर कवर्ड कैंपस में उनके घर में जा घुसा था। कमरे में उसने खुद पर और मॉडल पर कैंची से कई वार भी किए। 13 जुलाई की सुबह 7 बजे पुलिस ने उसे बाहर निकालने के लिए रेस्‍क्‍यू शुरू किया। ढेरों समझाइश दी गई, लेकिन वह अलीगढ़ से अपने पिता को बुलाने की मांग पर अड़ा रहा। देर शाम साढ़े सात बजे दोनों शादी की शर्त पर कमरे से बाहर निकले। इस बीच उसने एक सब इंस्‍पेक्‍टर को घायल भी कर दिया। सोशल मीडिया पर कई पोस्‍ट किए, जिनमें वह मॉडल से शादी करने की बातें करता रहा। पुलिस के अनुसार युवती को बंधक बनाने वाला यूपी के अलीगढ़ का रोहित सिंह है। पुलिस ने शुरू की समझाइश पुलिस ने पहुंचते ही रोहित सिंह से
101 प्रशासनिक सेवा अधिकारी हुए एकतरफा

101 प्रशासनिक सेवा अधिकारी हुए एकतरफा

मध्य प्रदेश
भोपाल न्‍यूज 4 इंडिया। राज्‍य शासन के सामान्‍य प्रशासन विभाग ने पिछले दिनों कई आदेश जारी कर राज्‍य प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों के स्‍थानांतरण आदेश जारी किये थे, लेकिन उनमें से 101 अधिकारियों ने अभी तक नई पदस्‍थापना स्‍थल पर ज्‍वाईन नहीं किया है। राज्‍य शासन ने 16 जुलाई तक इन सभी अधिकारियों को नई पदस्‍थापना स्‍थल पर ज्‍वाइन करने को कहा है। साथ ही कोषालयों को निर्देश दिये हैं कि वो 12 जुलाई के बाद इन अधिकारियों का वेतन आहरण ना करें। इन अधिकारियों को शासन ने एक तरफा कार्यमुक्‍त कर दिया है।
मेधावी छात्रा ने शिवराज मामा से कहा नहीं चाहिए ऐसा लैपटॉप

मेधावी छात्रा ने शिवराज मामा से कहा नहीं चाहिए ऐसा लैपटॉप

मध्य प्रदेश
सतना न्‍यूज 4 इंडिया।  जिले की एक मेधावी छात्रा ने ज्‍यादा बिल आने पर बिजली चोरी का प्रकरण बनाए जाने से व्‍यथित होकर मुख्‍यमंत्री मेधावी छात्र योजना के तहत मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की ओर से मिले लैपटॉप को लौटाने की पेशकश की है। जिले के बिरसिंहपुर कस्‍बे की छात्रा साक्षी अग्रवाल को 12वीं में 87 फीसदी अंक मिलने पर मुख्‍यमंत्री मेधावी छात्र योजना के तहत शासन की ओर से लैपटॉप दिया गया था। बिजली कंपनी की विजिलेंस टीम ने पिछले दिनों उसके घर में जांच की और लैपटॉप के उपयोग को व्‍यावसायिक उपयोग मानकर उसके पिता के खिलाफ बिजली चोरी एवं घरेलू बिजली का व्‍यवसायिक उपयोग करने का मामला दर्ज कर भारी भरकम बिल थमा दिया। परिवार पर बिजली चोरी का ठप्‍पा लगने से व्‍यथित और शर्मसार छात्रा ने अब लैपटॉप शासन को ही लौटाने का फैसला कर डाला है। बिजली विभाग के अनुसार छात्रा के घर पर एकबत्‍ती कनेक्‍शन था। छात्र
30000 की रिश्वत लेते खाद्य अधिकारी को 4 साल की सजा

30000 की रिश्वत लेते खाद्य अधिकारी को 4 साल की सजा

मध्य प्रदेश
दमोह न्‍यूज 4 इंडिया। विशेष न्‍यायाधीश उपेंद्र प्रताप सिंह की अदालत ने 12 जुलाई को फैसला सुनाते हुए जिले में पूर्व में खाद्य अधिकारी पद पर पदस्‍थ रहे अशोक कुमार पुत्र बालचंद जैन 64 साल निवासी गंजबसौदा जिला विदिशा को रिश्‍वत के मामले में दोषी पाते हुए 4 साल के कठोर कारावास एवं 500 रूपए अर्थदंड की सजा से दंडित कर जेल भेज दिया है। लोक अभियोजक वीर सिंह राजपूत ने बताया कि फरियादी तीरथ पटेल से आरोपी अशोक कुमार जैन खाद्य अधिकारी द्वारा शासकीय उचित मूल्‍य की दुकान को आवंटित करने के लिए 40 हजार रूपए की रिश्‍वत मांग रहा था। लोकायुकत सागर की टीम ने 13 2015 को खाद्य अधिकारी को 30 हजार रूपए रिश्‍वत लेते हुए गिरफ्तार किया था।