[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: राष्ट्रीय खबर | News 4 India - Part 48

राष्ट्रीय खबर

क्या सच में हो रही है ईवीएम में हैकिंग

क्या सच में हो रही है ईवीएम में हैकिंग

मुख्य समाचार, राष्ट्रीय खबर
नई दिल्‍ली न्‍यूज 4 इंडिया। गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजे 18 दिसंबर को जारी होंगे। वोटों की गिनती सुबह 8 बजे से शुरू होगी। 11 बजे तक हार-जीत की तस्‍वीर साफ हो जाएगी। सात सर्वे एजेंसियों के एग्जिट पोल में दोनों राज्‍यों में भाजपा सरकार बनने का दावा किया गया है। हार-जीत के फैसले से पहले ही गुजरात में कांग्रेस और पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने ईवीएम हैकिंग के दावे शुरू कर दिए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्‍य गुजरात के परिणामों पर भाजपा और कांग्रेस के साथ-साथ देशभर की निगाहें हैं। यहां मुकाबला मोदी बनाम राहुल गांधी था। भाजपा लगातार छठी बार सरकार बनाना चाहती है, जबकि राहुल 22 साल बाद गुजरात जीतकर पार्टी अध्‍यक्ष के तौर पर पारी का आगाज चाहते हैं। गुजरात के नतीजे 2019 के चुनाव पर भी असर डालेंगे। 2014 में विकास के गुजरात मॉडल पर ही मोदी प्रधानमंत्री बने थे। इसी ब
पाकिस्तान बना मुद्दा

पाकिस्तान बना मुद्दा

मुख्य समाचार, राष्ट्रीय खबर
नई दिल्‍ली न्‍यूज 4 इंडिया। पाकिस्‍तान के साथ बातचीत के सारे रास्‍ते बंद हैं। सीमा पर फायरिंग है। घुसपैठ की कोशिशें है। यहां तक कि हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आरोप लगा चुके हैं कि पास्तिान गुजरात चुनाव में हस्‍तक्षेप कर रहा है। इस पर भाजपा-कांग्रेस में आरोपों की जंग तक हो गई, लेकिन पाकिस्‍तान से भारत के रिश्‍तों का दूसरा पहलू भी है। कारोबार, लोगों के बीच संबंध और सांस्‍कृतिक आदान-प्रदान के पैमानों पर पिछले तीन वर्षों में मोदी सरकार में कोई खास असर नहीं आया, बल्कि इस सरकार ने तो पाकिस्‍तान से भारत आने वाले नागरिकों को सहूलियत देने के लिए भी महत्‍वपूर्ण कदम उठाए हैं। जैसे- पिछले साल से पाकिस्‍तान, से विस्‍थापित होकर आने वाले हिंदू, सिख एवं अन्‍य अल्‍पसंख्‍यक समुदायों के लोगों को आधार और पैन कार्ड देने की सुविधा शुरू की है। साथ ही वे अब यहां घर भी खरीद सकते हैं और बैकों में खाते
1 फरवरी से होगा लागू

1 फरवरी से होगा लागू

मुख्य समाचार, राष्ट्रीय खबर
नई दिल्‍ली न्‍यूज 4 इंडिया। एक राज्‍य से दूसरे में सामान ले जाने के लिए 1 फरवरी 2018 से ई-वे बिल जरूरी होगा। ट्रायल के लिए कारोबारी और ट्रांसपोर्ट 16 जनवरी से जीएसटी पोर्टल पर बिल जेनरेट कर सकेंगे। 16 दिसंबर को जीएसटी काउंसिल की 24 वीं बैठक में यह फैसला हुआ। राज्‍य के भीतर सप्‍लाई के लिए 1 जून से यह अनिवार्य होगा। यानी जून से ई-वे बिल देश भर में लागू होगा। इससे पहले राज्‍य अपनी सुविधा से इसे शुरू कर सकते हैं। 6 अक्‍टूबर की बैठक में काउंसिल ने इसे 1 अप्रैल से देशभर में लागू करने का फैसला किया था, लेकिन टैक्‍स चोरी के कारण अक्‍टूबर में कलेक्‍शन गिर गया। इसलिए इसे जल्‍दी लागू किया जा रहा है। सितंबर के 95,131 करोड़ की तुलना में अक्‍टूबर 83,346 करोड़ रू. टैक्‍स आया है। जीएसटी लागू होने के बाद किसी भी महीने में यह सबसे कम टैक्‍स कलेक्‍शन है। 50हजार रू. से ज्‍यादा के सामान के लिए ई-वे बिल
हमलों ने बनाया राहुल को मजबूत

हमलों ने बनाया राहुल को मजबूत

मुख्य समाचार, राष्ट्रीय खबर
नई दिल्‍ली न्‍यूज 4 इंडिया। राहुल गांधी ने 16 दिसंबर को कांग्रेस अध्‍यक्ष का पद संभाल लिया1 47 साल के राहुल ने अध्‍यक्ष बनते ही मोदी सरकार पर हमला बोला। कहा, देश में आग और हिंसा फैलाई जा रही है वह तोड़ते हैं, हम जोड़ते हैं वह आग लगाते हैं। हम बुझाते हैं। वह गुस्‍सा करते हैं, हम प्‍यार करते हैं। अध्‍यक्ष के रूप में अंतिम भाषण सोनिया ने कहा-राजनीति में आने के बाद हुए भयंकर निजी हमलों ने राहुल को और भी निडर व मजबूत बना दिया। अध्‍यक्ष सोनिया गांधी का आखिरी भाषण 16 मिनट का राजनीति में प्रवेश- मैं पति व बच्‍चों को राजनीति से दूर रखना चाहती थी। राजीव जी की हत्‍या के बाद कांग्रेस कमजोर होने लगी। सांप्रदायिक तत्‍व उभरने लगे। तब अध्‍यक्ष बनी। जिम्‍मेदारी नकारती तो इंदिरा और राजीव की आत्‍मा को ठेस पहुंचती। मोदी सरकार- आज जैसी चुनौती कभी नहीं रही। संवैधानिक मूल्‍यों पर हमला हो रहा है। भय-
तारीख पे तारीख रोकने की गुजारिश

तारीख पे तारीख रोकने की गुजारिश

उत्तर प्रदेश, मुख्य समाचार, राष्ट्रीय खबर
इलाहाबाद न्‍यूज 4 इंडिया। राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि न्‍याय में देरी अन्‍याय है। इस अन्‍याय से बचने के लिए अदालतों को तारीख पर तारीख लगाने की प्रवृत्ति को रोकना होगा। न्‍यायालयही गरीबों का सबसे बड़ा सहारा होता है, लेकिन न्‍यायालय के दरवाजे गरीबों की पहुंच से दूर हो गये हैं, क्‍योंकि न्‍याय बहुत महंगा हो गया है और त्‍वरित नहीं होता। न्‍याय सरल, सस्‍ता और त्‍वरित हो ऐसी व्‍यवस्‍था होनी चाहिए। राष्‍ट्रपति ने वैकल्पिक न्‍याय प्रक्रिया पर भी जोर दिया। देश में सस्‍ता, सरल और सुलभ न्‍याय दिलाने पर बल देते हुए कहा कि न्‍याय की भाषा को स्‍थानीय भाषा में अनुवाद करारकर उपलब्‍ध कराया जाना चाहिए जिससे गरीब और आम समझ वाले व्‍यक्ति को भी वास्‍तविक स्थिति की जानकारी मिले। राष्‍ट्रपति ने इलाहाबाद उच्‍च न्‍यायालय के प्रांगण से झलवा में न्‍यायाधीशों और कर्मचारियों के लिए प्रस्‍तावित न्‍याय ग्राम
सी एम  सहित तीन दोषियों को मिली सजा

सी एम सहित तीन दोषियों को मिली सजा

मुख्य समाचार, राष्ट्रीय खबर
नई दिल्‍ली न्‍यूज 4 इंडिया। झारखंड के पूर्व मुख्‍यमंत्री मधु कोड़ा और पूर्व कोयला सचिव एचसी गुप्‍ता सहित कोयला घोटाले के चार दोषियों को सीबीआई कोर्ट ने 3-3 साल जेल की सजा सुनाई है। सजा को हाईकोर्ट में चुनौती देने के लिए चारों को तुरंत दो माह की अंतरिम जमानत भी मिल गई। विशेष सीबीआई जज भरत पराशर ने झारंखड के राजहरा नॉर्थ कोयला ब्‍लॉक आवंटन घोटाले में 16 दिसंबर को सजा सुनाई। सजा पाने वाले अन्‍य लोगों में राज्‍य के पूर्व मुख्‍य सचिव अशोक कुमार बसु और विनी आयरन एंड स्‍टील उद्योग के डायरेक्‍टर विजय जोशी भी शामिल हैं, कोड़ा और जोशी पर 25-25 लाख, गुप्‍ता और बसु पर एक-एक लाख और विनी आयरन पर 50 लाख रूपए जुर्माना भी लगाया है।यह रकम 3 जनवरी 2018 तक कोर्ट में जमा करवानी होगी। राजहरा नॉर्थ कोयला ब्‍लॉक के लिए विनी आयरन ने जनवरी 2007 में आवेदन किया था। झारंखड सरकार और इस्‍पात मंत्रालय की सिफारि
PM आवास योजना का लाभ उठाने के लिए ये 4 शर्तें करें पूरी

PM आवास योजना का लाभ उठाने के लिए ये 4 शर्तें करें पूरी

मुख्य समाचार, राष्ट्रीय खबर
पीएम आवास योजना का उद्देश्य है कि सभी को पक्का मकान मिले। हां इस योजना की कुछ शर्तें जरूर हैं जिन्हें जानना आपके लिए बेहद जरूरी है। सबसे पहले तो ऐसे लोग जिनके पास इस पहले से घर है वह इस योजना का लाभ नहीं उठा सकता है। प्रधानमंत्री आवास योजना का नियम है कि लाभ उसे ही मिलेगा जिसके पास पहले से कोई पक्का मकान नहीं होगा। ऐसे और भी नियम हैं जिनके बारे में हम आपको आगे बता रहे हैं। पहली शर्त पक्के घर का लाभ उठाने वाले माता-पिता के विवाहित बेटे-बेटियां तो वैसे भी अलग परिवार माने जाते हैं। हालांकि, पति-पत्नी दोनों PMAY का लाभ नहीं ले सकते। यानी, बेटे-बहू या बेटी-दामाद के नाम पर हर हाल में एक ही मकान पर सब्सिडी मिल सकती है। यह उनकी मर्जी होगी कि मकान का मालिकाना हक कोई एक अपने पास रखें या दोनों साथ-साथ। आगे पढ़ें कितनी ब्याज पर कितनी सब्सिडी देगी सरकार। दूसरी शर्त प्रधानमंत्री आवास योजना की शर
इस शख्स ने बताई मोदी से नफरत की 22 वजहें

इस शख्स ने बताई मोदी से नफरत की 22 वजहें

मुख्य समाचार, राष्ट्रीय खबर
कांग्रेस पार्टी से निलंबित नेता मणिशंकर अय्यर द्वारा ‘नीच’ कहे जाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात विधानसभा चुनाव की रैलियों में कहा था कि, आखिर मुझसे इतनी नफरत क्यों है? लोगों का मुझ पर भरोसा करना गलत है क्या? साथ ही उन्होंने कहा था कि, क्योंकि मैं एक गरीब परिवार में पैदा हुआ हूं, क्योंकि मैं निचली जाति से आता हूं? क्योंकि मैं एक गुजराती हूं? क्या सिर्फ यही वजह है कि वो लोग मुझसे नफरत करते हैं। इसी बीच, पीएम मोदी के इन सभी सवालों का एक फेसबुक यूजर देवदन चौधरी नाम के शख्स ने सिलसिलेवार प्वाइंट्स में जवाब दिया है। जो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। बता दें कि, ख़बर लिखे जाने जाने तक इस पोस्ट को तीन हजार से ज्यादा लोग शेयर कर चुके हैं। वहीं इस पोस्ट को चार हजार से ज्यादा लोग लाइक भी कर चुके है। तो आइए आपको भी बताते है आखिर देवदन चौधरी ने अपने पोस्ट में क्या कारण
पहली बार, CM और शिक्षा मंत्री को छोड़, सभी MLA स्कूल फीस वाले बिल पर विपक्ष के साथ

पहली बार, CM और शिक्षा मंत्री को छोड़, सभी MLA स्कूल फीस वाले बिल पर विपक्ष के साथ

मुख्य समाचार, राष्ट्रीय खबर
रांची. झारखंड विधानसभा के शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन गुरुवार को शिक्षा मंत्री नीरा यादव द्वारा पेश स्कूल फीस वाले (झारखंड शिक्षा न्यायाधिकरण संशोधन विधेयक-2017) सरकार पास नहीं करा सकी। स्पीकर डॉ. दिनेश उरांव ने सत्ता पक्ष को चार मौके दिए। पर सीएम रघुवर दास और शिक्षामंत्री नीरा यादव को छोड़कर सभी विधायक विपक्ष के साथ हो गए। झारखंड में ऐसा पहला मौका है, जब किसी बिल पर सत्ता पक्ष के सभी विधायकों ने सरकार का साथ नहीं दिया। दरअसल सीएम चाहते हैं कि स्कूलों में नेताओं का हस्तक्षेप न हो। वहीं विधायक स्कूलों में अपना दबदबा चाहते हैं। इसलिए ऐसी स्थिति बनी। - कांग्रेस विधायक बादल पत्रलेख ने इस बिल में तीन संशोधन का प्रस्ताव दिया था। इनमें स्कूलों द्वारा मनमानी फीस वसूली रोकने के लिए हर साल 10% की जगह अधिकतम 300 रु. फीस बढ़ाने, सीबीएसई के मापदंड के अनुसार स्कूलों में ही किताबें मुहैया कराने और निज
सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी ने कमलनाथ पर तानी बंदूक मध्यप्रदेश की राजनीतिक सरगर्मियां हो रही है  तेज

सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी ने कमलनाथ पर तानी बंदूक मध्यप्रदेश की राजनीतिक सरगर्मियां हो रही है तेज

छिंदवाड़ा अप्डेट्स, ब्रेकिंग, मध्य प्रदेश, मुख्य समाचार, राष्ट्रीय खबर
छिंदवाड़ा पुलिस ड्यूटी में तैनात आरक्षक रत्नेश पवार ने अचानक दिल्ली वापस लौट रहे सांसद और विपक्ष के वरिष्ठ नेता श्री कमलनाथ पर ऐसा लगा बंदूक तान दी ।लगभग 40 सुरक्षाकर्मी इस दौरान ड्यूटी पर तैनात थे ।आरक्षक को बंदूक ताना देखकर उसके बाजू में खड़ा सब इंस्पेक्टर घबरा गया और उसने तुरंत तत्परता दिखाते हुए आरोपी आरक्षक की बंदूक को नीचे करवा दिया. छिंदवाड़ा मध्य प्रदेश की इस घटना चक्र में महत्वपूर्ण तथ्य यह है कि इस मामले में जहां प्रभारी पुलिस अधीक्षक छिंदवाड़ा नीरज सोनी का कहना है कि घटना तो घटी परंतु घटना की वजह अभी सामने नहीं आई है वहीं दूसरी ओर छिंदवाड़ा रेंज के डीआईजी GK पाठक ने बताया कि इसके पीछे प्रथम दृष्टि किसी साजिश का होना नहीं प्रतीत होता है परंतु ऐसा प्रारंभिक जांच में सामने आया है की आरोपी आरक्षक राइफल को बार-बार एक कन्धे से दूसरे कंधे में रख रहा था जिससे ऐसा प्रतीत हुआ क