[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: छिंदवाड़ा अप्डेट्स | News 4 India - Part 49

छिंदवाड़ा अप्डेट्स

कहीं पीछे न रह जाओ

कहीं पीछे न रह जाओ

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिन्दवाड़ा न्यूज 4 इंडिया। स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 में चार हजार से ज्यादा शहरों में नंबर वन पाने की होड़ में अभी और मेहनत करना होगा। प्राथमिक सर्वे रिपोर्ट के अनुसार कचरा संग्रहण परिवहन, पृथ्थककरण, क्षमता निर्माण जैसे बिन्दुओं में शहर में भले ही सुधार हुआ है, लेकिन अब भी इसमें कम अंक मिल रहे हैं। यह सर्वे फिलहाल नगरनिगम ने अपनी ओर से कराया है, जिसके अनुसार अभी और भी सुधार की आवश्यकता है। इन हालातों में सर्वेक्षण का सर्वे किया जाता है तो नगरनिगम को रैंकिंग में नंबर वन का स्थान लाने दोगुनी गति से मेहनत करना होगा। हालांकि निगम की इस सूची के आधार पर जिन जगहों पर नंबर कम हो रहे हैं उसे दूर करने का वादा किया जा रहा है। यहां मिल रहे अच्छे नंबर व्यवसायिक क्षेत्र में झाड़ू दो बार प्रतिदिन लगाने पर पूरे 34 अंक मिल रहे हैं घर-घर कचरा संग्रहण में 32 में से 32 , जीपीएस वाहन ट्रैकिंग में 40 मे
पुलिस महानिदेशक ने किया पुरस्कृत

पुलिस महानिदेशक ने किया पुरस्कृत

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
*आरक्षक खेमचंद हुए पुरस्कृत* छिंदवाडा// पुलिस महानिदेशक मध्यप्रदेश भोपाल द्वारा जबलपुर जोन के निरीक्षण के दौरान जोन अंतर्गत जिला छिंदवाडा के थाना कोतवाली में पदस्थ आरक्षक खेमचंद अहिरवार को आरक्षक के द्वारा अच्छे एवं उत्कृष्ट कार्य करने के लिए पुलिस कंट्रोल रूम जबलपुर में प्रशस्ति पत्र देकर पुरस्कृत किया गया । आरक्षक द्वारा विगत माह में स्थाई वारंट तामील हेतु चलाए गए विशेष अभियान में अर्सेे से फरार स्थाई वारंटीयों की तलाश पतासाजी की गई ,जो अपने निवास स्थान में ना रहकर लुक छिप कर या अन्य स्थानों पर निवास कर रहे थे ,और स्थाई वारंटी की जानकारी पता कर थाना कोतवाली के 36 स्थाई वारंटीयों को गिरफ्तार कराया जाकर वारंट तामील कराई गई।
नियमों को  किया दरकिनार

नियमों को किया दरकिनार

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिन्दवाड़ा न्यूज 4 इंडिया। जेल बगीचा काम्पलेक्स में इस बार दुकानों की संख्या ज्यादा होने के कारण सुरक्षा मानकों का ध्यान नहीं रखा गया हैं नियमानुसार दो दुकानों के बीच की दूरी तीन मीटर होना चाहिए, लेकिन लायसेंसधारी व्यापारियों की संख्या अधिक होने के कारण इसे कम कर एक मीटर कर दिया है। यहां सुरक्षा मानकों का ध्यान सिर्फ इसलिए नहीं रखा जा रहा है, क्योंकि दुकानों की संख्या अधिक हो गई है। पिछले वर्ष तक पटाखा दुकानों की संख्या 74 थी जो इस वर्ष 82 पहुंच गई है।
झाड़-फूंक पर मौत

झाड़-फूंक पर मौत

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिन्दवाड़ा न्यूज 4 इंडिया। कुंडीपुरा थाना क्षेत्र के ग्राम खापाभाट में रहने वाली एक महिला अंधविश्वास की भेंट चढ़ गई। अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती महिला को झाड़-फूंक के लिए साथ ले गए। इस बीच महिला की मौत हो गई। अस्पताल चौकी पुलिस ने बताया कि खापाभाट निवासी 28 वर्षीय ममता पति श्रीराम यादव को 13 अक्टूबर रात लगभग दो बजे सर्पदंश की वजह से जिला अस्पताल में भर्ती किया गया था। इलाज के लिए परिजन बिना किसी सूचना के उसे साथ ले गए। इस दौरान सुबह लगभग पांच बजे ममता ने इलाज के अभाव में दम तोड़ दिया। पुलिस को पति श्रीराम यादव ने बयान दिए कि ममता को अस्पताल में बेचैनी हो रही थी और उसने घर जाने की जिद की। इस वजह से ममता को घर ले जाया जा रहा था, रास्ते में उसने दम तोड़ दिया। पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले को जांच में लिया है।
आईसीसीयू में लगेंगे चूहे पकड़ने पिंजरे

आईसीसीयू में लगेंगे चूहे पकड़ने पिंजरे

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिन्दवाड़ा न्यूज 4 इंडिया। जिला अस्पताल की व्यवस्थाएं कितनी लचर है यह इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि आईसीसीयू वार्ड में भर्ती गंभीर मरीजों को चूहे नौचकर खा रहे हैं। घटना तीन दिन बाद प्रकाश में आने पर अस्पताल प्रबंधन 14 अक्टूबर को होश में आया है। आरएमओ डॉक्टर सुशील दुबे ने अब वार्ड में चूहों पर लगाम लगाने पिंजरे रखने की बात कर रहे हैं। अस्पताल के आईसीसीयू वार्ड में खापाभाट निवासी 65 वर्षीय शांतिदेवी राज विगत 7 अक्टूबर को शुगर की अधिकता व बीपी बढ़ने की शिकायत पर भर्ती हुई थी। पीड़िता को रात में दाहिने पैर के अंगूठे व पंजे, फिर दूसरी रात दाहिने पैर के अंगूठे में जख्मी कर दिया था। जिसकी प्रबंधन ने सिर्फ पलंग बदलकर इतिश्री कर दी थी। अब पांच दिन बाद शिकायत पर प्रबंधन ने चूहों को ठिकाने लगाने पिंजरे रखने की बात कही है।
भोपाल में अटका मरम्मत कार्य

भोपाल में अटका मरम्मत कार्य

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिन्दवाड़ा न्यूज 4 इंडिया। लोक निर्माण विभाग के माध्यम से कुछ सड़कों के मरम्मत के प्रस्ताव जबलपुर और भोपला के कार्यालयों में महीनों से लंबित पड़ें हैं। विकासखंड के सबसे महत्वपूर्ण अंतर्राज्यीय पांढुर्ना-अमरावती मार्ग के मध्यप्रदेश  सीमा वाले हिस्से की सड़क के वृहद मरम्मत, लांघा से महाराष्ट्र सीमा और बड़चिचोली से सावरगांव महाराष्ट्र सीमा तक सड़कों के नवनिर्माण के प्रस्ताव भोपाल में फाइलों में कैद हैं। सनद रहे कि वर्ष 2007-08 में पांढुर्ना से वर्धा नदी सीमा तक इंटरस्टेट हाईवे बना था। बीते चार-पांच सालों में इस सड़क की हालत बहुत अधिक खराब हो गई हें स्थानीय लोकनिर्माण विभाग ने इस सड़क के मजबूतीकरण के लिए 3.390 करोड़ रूपए का प्रस्ताव छह महीने पहले बनाकर वरिष्ठ कार्यालय प्रेषित किय, जिसमें 4.6 किलोमीटर सड़क का मजबूतीकरण निर्माण होना है। इसी तरह लांघा से महाराष्ट्र सीमा के 2.3 किमी भाग के
खोलने पड़े गेट

खोलने पड़े गेट

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिन्दवाड़ा न्यूज 4 इंडिया। जल संसधन विभाग को माचागोरा बांध के गेट खोलना पड़ रहा है। 15 अक्टूबर सुबह 10 बजे से डेम का एक गेट खोलकर करीब 17 क्यूबिक मीटर प्रति सेकंड की दर से छोड़ा जाएगा। माचागोरा डेम से पानी छोड़ने महाराष्ट्र से लगातार दबाव की स्थिति बनी हुई है। तोतलाडोह डेम नहीं भर पाने की स्थिति में महाराष्ट्र सरकार ने पेंच नदी के माचागोरा बांध से 4 टीएमसी पानी की मांग कर रहा था। हालांकि जन संसाधन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि डेम का वाटर लेवल बढ़ने से डूब क्षेत्र के गांवों में लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। दिक्कतें और न बढ़े इसे ध्यान में रख गेट खोले जा रहे हैं।
यह तो हद है

यह तो हद है

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिंदवाड़ा// जिला अस्पताल की व्यवस्था इतनी लचर है कि यह इस बात का अंदाजा यहाँ से लगाया जा सकता है कि आईसीयू वार्ड में भर्ती गंभीर मरीजों को चूहे नोचकर खा रहे हैं घटना के 3 दिन बाद मामला प्रकाश में आने पर अस्पताल प्रबंधन को होश आया ।गौरतलब है कि अस्पताल के आईसीयू वार्ड में भर्ती 65 वर्षीय पीड़िता को शुगर की अधिकता व BP बढ़ने की शिकायत पर भर्ती कराया गया था ,पीड़िता को चूहों ने दाहिने हाथ वह पैर के अंगूठे व पंजो, और फिर रात में बाएं पैर के पंजे को काटकर जख्मी कर दिया जिसका प्रबंधन ने सिर्फ पलंग बदलकर मामला इतिश्री कर लिया।और अब 5 दिन बाद शिकायत पहुंचने पर प्रबंधन ने चूहों को ठिकाने लगाने के लिए पिंजरे रखने की बात कह कर बात टाल दी ,वहीं दूसरी ओर पीड़िता का कहना है कि अस्पताल में इलाज के नाम पर सिर्फ सलाइन चढ़ाई जा रहे हैं प्रतिदिन हमें बाजार से दवाइयां लाने को कहा जा रहा है पीड़िता की बेटी
लिस्ट तैयार

लिस्ट तैयार

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिंदवाड़ा न्यूज 4 इंडिया। आयुक्त के आदेश के बाद जनजाति विकास विभाग द्वारा संचालित हॉस्टलों में आधे अधीक्षकों का हटना तय माना जा रहा है, उसके मुताबिक पिछले दिनों जिन्हें अधीक्षक का प्रभार दिया गया। उसमें 50 फीसदी से ज्यादा सहायक अध्यापक हैं, जबकि शासन के स्पष्ट आदेश है कि सहायक अध्यापकों को अब हॉस्टल अधीक्षक बिल्कुल नहीं बनाया जा सकेगा। पिछले दिनों जनजाति विकास विभाग के आयुक्त ने आदेश जारी करनते हुए शिक्षक से हॉस्टल अधीक्षक बने टीचरों को तत्काल हटाने के आदेश जारी किए थे। छिंदवाड़ा में 184 हॉस्टल और आश्रम संचालित किए जाते हैं। आदेश के बाद जब सूची तैयार की गई तो ये जानकारी सामने आई कि 50 फीसदी सहायक अध्यापक अधीक्षक हैं, जबकि नए आदेश में सिर्फ संविदा वर्ग दो के ही शिक्षकों को हॉस्टल अधीक्षक बनाया जाना है। इस जानकारी से तय हो गया है कि 50 फीसदी हॉस्टलों में सर्जरी होना तय हो चुका है।
प्याज के दामों में दम

प्याज के दामों में दम

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिंदवाड़ा न्यूज 4 इंडिया। जिले में प्याज के रेट दिनोंदिन बढ़ते जा रहे हैं। पिछले एक सप्ताह में प्याज की कीमत दोगुने रेट पर पहुंच गई है। 13 अक्टूबर को प्याज की कीमत 40 रूपए फुटकर में दर्ज की गई। लगातार शहर में प्याज की कीमतों के बढ़ने का सबसे बड़ा कारण प्याज की आवक गुरैया मंडी में नहीं होना है। शासन ने प्याज की खरीदी आठ रूपए तथा बिक्री दो रूपए किलों के हिसाब से मंडियों तथा पीडीएस में की थी शाजापुर व मक्सी से आई यह प्याज लोकल के व्यापारियों ने खरीद ली। छोटी व गुणवत्ता युक्त प्याज नहीं होने से मंडियों से यह प्याज पांच से सात रूपए में बिक गई। स्थानीय व्यापारियों ने किसानों की अच्छी प्याज का स्टाक कर लिया जिसके कारण कुछ सय तक प्याज की आवक मंडी में नहीं हुई।