[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: छिंदवाड़ा अप्डेट्स | News 4 India - Part 6

छिंदवाड़ा अप्डेट्स

कैदियों की आई परीक्षा की घड़ी

कैदियों की आई परीक्षा की घड़ी

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिंदवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। जिला जेल में बंदियों को शिक्षित करने का भी कार्यक्रम चलाया जा रहा है, जिसमें उन्‍हें इग्‍नू पाठ्यक्रम से अध्‍ययन कराया जा रहा है पढ़ाई के बाद अब बंदी जेल में सुरक्षा के बीच वार्षिक परीक्षा भी दे रहे हैं, जिसमें 21 बंदी शामिल हैं जेलर आरके त्रिपाठी ने बताया कि बंदियों ने पहला प्रश्‍न पत्र 2 जून को दिया और दूसरा एवं अंतिम पेपर 21 जून को होगा। उन्‍होंने बतायाकि परीक्षा कक्षा दसवीं एवं बारहवीं के स्‍तर की है जिसमें एक प्रश्‍न पत्र संपूर्ण विषय पर आरधारित है और दूसरा सामान्‍य ज्ञान का है उन्‍होंने बताया कि प्रदेश सरकार की पहल पर विभाग की ओर से यह योजना गंभीर अपराधों में सजा काट रहे ऐसे बंदियों को जो शिक्षित नहीं हैं, परंतु वे अध्‍यापन कर शिक्षित होना चाहते हैं उनके लिए व्‍यवस्‍था जेल में ही शिक्षक नियुक्‍त करके बनाई गई है। उन्‍होंने बताया कि इस वर्ष जेल में इग्‍नू
वो डेढ़ किमी तक जमीन में घिसटा रहा

वो डेढ़ किमी तक जमीन में घिसटा रहा

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिंदवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। खेत से घर जाने साइकिल पर निकले 12 वर्षीय हिमेश लोखंडे को तेज रफ्तार हाइवा ने अपनी चपेट में ले लिया। टक्‍कर के बाद हिमेश साइकिल सहित हाइवा के नीचे बीच के हिस्‍से में फंस गया। हाइवा चालक ने वाहन रोकने के बजाए और तेज भागना शुरू कर दिया। लगभग डेढ़ किलोमीटर दूर तक बच्‍चा हाइवा में फंसकर घिसटता रहा। एक बाइक सवार युवक ने ओवरटेक कर बाइक अड़ाई और हाइवा रूकवाया। घटना 12 जून शाम पांच बजे नागपुर रोड स्थित सिमरिया हनुमान मंदिर के पास हुई। प्रत्‍यक्षदर्शी प्रिंस जावरकर ने बताया कि हाइवा के बीच के हिस्‍से में फंसी साइकिल को बच्‍चे ने मजबूती से पकड़ रखा था लेकिन वह गाड़ी भगाता रहा। जैसे-तैसे गाड़ी रूकवाई गई तो चालक गाड़ी से उतरकर भाग निकला। हाइवा रूकते ही बच्‍चे को बाहर निकालकर जिला अस्‍पताल पहुंचाया गया। गाड़ी में फंसे हिमेश पिता रामचंद्र लोखंडे के पैर, सिर पर गंभीर चोटे
हर्रई हॉस्पिटल भगवान भरोसे

हर्रई हॉस्पिटल भगवान भरोसे

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिंदवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। जिले के ग्रामीण अंचलों में स्‍वास्‍थ्‍य सेवाएं ठप्‍प हैं और चिकित्‍सक अक्‍सर अस्‍पताल से नदारद रहते हैं। हर्रई अस्‍पताल के संबंध में की गई एक शिकायत के आद अचानक 10 जून की रात निरीक्षण करने पहुंचे तहसीलदार को अस्‍पताल में कोई भी चिकित्‍सक नहीं मिला। यहां तक की बीएमओ का पता लगाने तहसीलदार ने कर्मचारियों को उनके घर भी भेजा, लेकिन वे वहां पर भी नहीं मिले। जिले के दूरस्‍थ अंचल में बने सामुदायिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्रों में भी स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाएं भगवान भरोसे ही चल रही हैं यहां चिकित्‍सक पदस्‍थ तो हैं, लेकिन लोगों को इन चिकित्‍सकों का फायदा नहीं मिल रहा है। जिला स्‍तर पर की गई शिकायत के बाद हर्रई अस्‍पताल में जांच करने पहुंचे तहसीलदार देवानंद गजभिए को हर्रई सामुदायिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र में कोई भी चिकित्‍सक नहीं मिला। इस दौरान बीएमओ डॉ. वैभव का मोबाइल भी बंद था। त
पहले दिया टोकन, केंद्र पहुंचे तो मना कर दिया

पहले दिया टोकन, केंद्र पहुंचे तो मना कर दिया

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिंदवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। किसानों के चना की उपज खरीदने के लिए शासन की योजनाओं पर खरीदी केंद्र संचालक की लापरवाही और बार-बार खरीदी के बदल रहे आदेश से किसान परेशान हैं शासन की ओर से पहले निर्देश दिया गया है कि ऐसे किसान जो पंजीकृत हैं और जिनका चना नहीं बिका है उन्‍हें टोकन मिलेगा जिसके बाद ही वह अपनी बेच सकेंगे। टोकन की आस में बैठे किसान जब 11 जून को खरीदी केंद्र पहुंचे तो यहां उनका चना खरीदने से मना कर दिया गया। अधिकारियों का कहना था कि शासन के आदेश हैं कि चना की उपज नहीं खरीदी जाएगी। ऐसे में अमरवाड़ा खरीदी केंद्र को छोड़ शेष सभी केंद्रों में टोकन लेकर अपनी उपज बेचने के इंतजार में किसान भटकते रहे। खरीदी केंद्रों में बैठे कर्मचारी भी उन्‍हें कोई जवाब नहीं दे पाए जिसके कारण बारिश में यहां वहां किसान परेशान हुए। शासन के निर्देश पर 9 जून के पहले कुल 1 हजार 127 किसानों को टोकन जारी किया
श्रमिक निकल रहे लखपति

श्रमिक निकल रहे लखपति

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिंदवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। मजदूर बन सरकारी योजना में पंजीयन कराने के लिए लोगों ने ऑनलाइन आवेदन तो कर दिए, लेकिन वेरीफिकेशन में कई दिलचस्‍प बातें सामने आ रही हैं आलीशान मकान और फोर व्‍हीलर में घूमते लोगों के यहां  पहुंची रही वे‍रीफिकेशन टीम में नाम देखकर चौक रही है वेरीफिकेशन के बाद अब तक एक लाख 22 हजार लोगों के नाम नगर और शहरी क्षेत्र से काटे जा चुके हैं। असंगठित श्रमिक कल्‍याण योजना के तहत पिछले दिनों पंजीयन किए गए थे। प्रक्रिया ऑनलाइन थी, जिसमें जिले के शहरी और ग्रामीण क्षेत्र मिलाकर 7 लाख 68 हजार 73 लोगों ने ऑनलाइन पंजीयन कराया था, जिसमें ग्रामीण क्षेत्रोंमें 6 लाख 82 हजार 659 और शहरी क्षेत्र में 85 हजार 414 लोगों ने पंजीयन किए थे, लेकिन अब तक हुए वे‍रीफिकेशन में ये आंकड़ा सिमटकर 6 लाख 46 हजार 252 पहुंच गया है। 1 लाख 22 हजार 821 लोगों के निरस्‍त किए हैं, जबकि अधिकारियों के अनुसार
सीईओ के माध्‍यम से हो रहे नोटिस जारी

सीईओ के माध्‍यम से हो रहे नोटिस जारी

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिंदवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। पिछले एक महीने से हड़ताल कर रहे हड़ताली कर्मचारियों पर प्रशासनिक कार्रवाई शुरू हो गई है खासकर रोजगार सहायकों को जनपद सीईओ के माध्‍यम से लगातार नोटिर जारी हो रहे हैं। रोजगार सहायकों की हड़ताल के चलते ग्राम पंचायतों में कामकाज पूरी तरह से ठप्‍प हो गया है नियमितीकरण की मांग को लेकर पिछले एक महीनेसे लगातार रोजगार सहायकों की हड़ताल जारी है इस हड़ताल के चलते सबसे ज्‍यादा असर ग्राम पंचायतों में चलने वाली मनरेगा, पीएम आवास सहित अन्‍य योजनाओं पर पड़ा है। वहीं शासन स्‍तर से भी इन रोजगार सहायकों के खिलाफ कार्रवाई के आदेश हैं, जिसके बाद सभी कर्मचारियों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा जा रहा है। वहीं हड़ताली कर्मचारियों को तुरंत ही काम में वापस आने का अल्‍टीमेटम दिया गया है। इनमें से ज्‍यादातर पंचायतों में सचिवों के न होने से पूरा कामकाज इन रोजगार सहायकों के माध्‍यम से ही
फिर अटक गया मास्‍टर प्‍लान

फिर अटक गया मास्‍टर प्‍लान

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिंदवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। वर्ष 2031 के आधार पर तैयार छिंदवाड़ा के मास्‍टर प्‍लान की फाइल का प्रमुख सचिव नगरीय प्रशासन विभाग ने किया। पूर्व निर्धारित तिथि के अनुसार 11 जून को टाउन एंड कंट्री प्‍लानिंग के अधिकारी भोपाल में पहुंचे थे यहां पर अब तक मास्‍टर प्‍लान की प्रथम दावे आपत्ति और इसके निराकरण के बाद तैयार फाइल को प्रमुख सचिव के समक्ष रखा गया। जहां पर फाइल परीक्षण में कुछ स्‍थानों की दूरियों को लेकर प्रमुख सचिव ने चर्चा करने की बात कही। स्‍थानीय अधिकारियों को एक सप्‍ताह के बाद इस फाइल को प्रस्‍तुत करने के लिए कहा गया है। 11 जून को हुए परीक्षण के बाद यह तो तय हो गया है कि मास्‍टर प्‍लान एक सप्‍ताह के लिए फिर टल गया है। अब दोबारा इस फाइल का परीक्षण के लिए रखा जाएगा, जिसमें कुछ दावे-आपत्तियों पर पुनर्विचज्ञर किया जा सकता है। उल्‍लेखनीय हैकि पांढुर्ना और छिंदवाड़ा का मास्‍टर प्‍लान का अ
दोपहिया सवारों को रौंदा, बिखरे शरीर के हिस्‍से

दोपहिया सवारों को रौंदा, बिखरे शरीर के हिस्‍से

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिंदवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। चौरई-सिवनी हाइवे पर 11 जून की रात लगभग 7.20 बजे किसी अज्ञात वाहन ने एक दोपहिया वाहन में जा रहे तीन ग्रामीणों को रौंद दिया। हादसे में तीनों ग्रामीणों की मौत हो गई। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव उठाकर अस्‍पताल में रखवाए हैं सर्रा से एक दोपहिया वाहन में तीन ग्रामीण बैठकर चौरई की तरफ आ रहे थे इसी दौरान रात लगभग 7.20 बजे सिवनी की तरफ से आते एक अज्ञात वाहन ने दोपहिया सवारों को टक्‍कर मार दी। हादसे में दोपहिया सवारों की मौके पर ही मौत हो गई। घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतकों का पता लगाने का प्रयास किया तबपता चला कि मरने वाले समसवाड़ा से दो किमी दूर स्थित ग्राम सुरजना और सर्रा के रहने वाले हैा पुलिस ने तीनों मृतकों के शव सड़क से उठवाकर चौरई अस्‍पताल की मरचुरी में रखवाए हैं घटना के संबंध में एएसआई एमपी श्रीवास्‍तव ने बताया कि टक्‍कर मारने
रात भर थाने में बैठे रहे भाजपा नेता व विधायक

रात भर थाने में बैठे रहे भाजपा नेता व विधायक

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिंदवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। दमुआ पुलिस पर भाजपा नेता की पिटाई का आरोप लगाकर जमाई विधायक और उनके समर्थक पूरी रात थाना परिसर में धरने पर बैठे रहे और प्रदर्शन करते रहे। सुबह जब थाना प्रभारी को लाइन अटैच करने की सूचना भाजपा नेताओं को मिली, तब जाकर आंदोलन समाप्‍त किया गया। 10 जून को दमुआ थाना प्रभारी दीपक यादव ने क्षेत्र के एक ढाबे में शराब बेचने और पिलाए जाने की सूचना पर दबिश दी। थाना प्रभारी को ढाबे में चार लोग शराब पीते मिले, जिन्‍हें थाना प्रभारी थाने तक ले आए। साथ में ढाबा संचालक भाजपा मंडल उपाध्‍यक्ष कल्‍लू राजगीर को भी ढाबे में अवैध रूप से शराब पिलाने के आरोप में थाने लाया गया। इस बात की सूचना जब क्षेत्रीय विधायक नत्‍थनशाह को लगी तो उन्‍होंने पुलिस की कार्रवाई के खिलाफ अपने समर्थकों को साथ लेकर थाना परिसर में ही हंगामा शुरू कर दिया और बाद में वहीं धरने पर बैठ गए। भाजपा विधायक और नेताओ
सड़क और पानी के लिए मोहताज

सड़क और पानी के लिए मोहताज

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिंदवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। गुरैया रोड स्थित सब्‍जी मंडी के हालात सुधारने में जनप्रतिनिधि, अधिकारी ध्‍यान नहीं दे रहे हैं हर बार बारिश के मौसम में दुकानों के सामने कीचड़ और पानी भर जाता है जिसके कारण व्‍यापारियों के साथ-साथ सब्जियों को बेचने आने वाले किसान भी परेशान होते हैं हर बार होने वाली मंडी समिति की बैठक में यहां के हालात सुधारने और व्‍यवस्‍था बनाने का दावा किया जाता है, लेकिन हालात जस की तस बन जाते हैं सब्‍जी मंडी में सड़क नहीं होने के कारण लोगों को आने जाने में परेशानी होती है, इसके अलावा पानी की व्‍यवस्‍था भी नहीं है जिससे किसान व्‍यापारी परेशान होते हैं। सब्‍जी मंडी में सुलभ शौचालय तो बना दिए गए हैं लेकिन पानी की व्‍यवस्‍था नहीं है यहां पर टैंकर से पानी की सप्‍लाई होती है जिसका सुलभ शौचालय में भी उपयोग किया जाता है ऐसे में अक्‍सर दोपहर बाद पानी खत्‍म हो जाने के कारण सुलभ शौ