[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: दुनियामे हलचल – Page 9 – News 4 India

दुनियामे हलचल

71 साल से इस गांव की महिलाओं ने नहीं डाला वोट

71 साल से इस गांव की महिलाओं ने नहीं डाला वोट

दुनियामे हलचल
इस्लामाबाद न्‍यूज 4 इंडिया।  मुल्तान से 60 किलोमीटर दूर स्थित मोहरीपुर गांव में 1947 से अब तक किसी भी महिला ने वोट नहीं डाला है। प्रतिबंध पुरुषों ने लगाया था, यह कहकर कि वोट डालने से औरतों की बदनामी होगी। लेकिन 25 जुलाई को होने वाले आम चुनाव में यहां की महिलाओं ने वोट डालने का इरादा पक्का कर लिया है। उधर, चुनाव आयोग ने भी नया नियम बनाया है। इसके मुताबिक हर संसदीय क्षेत्र के मतदान में महिलाओं की 10 फीसदी हिस्सेदारी जरूरी है। अगर ऐसा नहीं होता है तो चुनाव परिणाम अमान्य घोषित कर दिया जाएगा। मोहरीपुर की नाजिया तबस्सुम ने कहा- ज्यादातर पुरुष महिलाओं को किसी लायक नहीं समझते। कई दशक पहले गांव के बुजुर्गों ने महिलाओं के वोट न डालने का नियम बनाया था। उनका कहना था कि पोलिंग बूथ पर जाने से महिलाओं की बदनामी होगी। जब औरतें बाहर काम करती हैं और पुरुष घर में रहते हैं, तब उन्हें सम्मान की परवाह क्
शरीफ ने कहा- कुर्बानी देता रहूंगा

शरीफ ने कहा- कुर्बानी देता रहूंगा

दुनियामे हलचल
इस्लामाबाद  न्‍यूज 4 इंडिया।  पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ (68)  13 july को ब्रिटेन से अपने देश लौटने से पहले अबुधाबी एयरपोर्ट पर उतरे। यहां से वे लाहौर रवाना हो चुके हैं। यहां भ्रष्टाचार निरोधी संस्था नेशनल अकाउंटेबिलिटी ब्यूरो (नैब) ने उनकी गिरफ्तारी के लिए 10 हजार जवान तैनात किए हैं। पुलिस ने एयरपोर्ट के पास से नवाज के कुछ समर्थकों को हिरासत में लिया है। नवाज के साथ उनकी बेटी मरियम (44) भी पाकिस्तान लौट रही हैं। नवाज और मरियम दोनों को पाकिस्तान की कोर्ट ने भ्रष्टाचार के मामले में सजा सुनाई है। नैब ने 12 july  को ही कहा था कि नवाज और मरियम को एयरपोर्ट से ही रावलपिंडी की अदियाला जेल ले जाया जाएगा। लंदन से अबुधाबी की तरफ जाते वक्त नवाज ने एक वीडियो मैसेज में कहा, "जो मेरे बस में है और जो मेरे बस में था वो मैंने कर दिया है। मुझे 10 साल की सजा हुई है, लेकिन मैं ये कुर्बान
आप रूस के बंधक, अरबों डॉलर देकर उसे अमीर बना रहे

आप रूस के बंधक, अरबों डॉलर देकर उसे अमीर बना रहे

दुनियामे हलचल
ब्रसेल्स न्‍यूज 4 इंडिया।  जर्मनी और अमेरिका एक महीने में दूसरी बार आमने-सामने हो गए। अमेरिकी राष्ट्रपति  ने 11 july शाम ब्रसेल्स में नाटो नेताओं की बैठक में जर्मनी के खिलाफ खुलकर बयान दिए। ट्रम्प ने कहा, ‘‘एक तरफ हम आपकी रूस से और बाकी देशों से हिफाजत करते हैं, दूसरी तरफ आप रूस से अरबों डॉलर की डील कर लेते हैं। आप तो रूस को अमीर बना रहे हैं। जर्मनी पूरी तरह से रूस के नियंत्रण में है। रूस ने जर्मनी को बंधक बना रखा है। ये ठीक नहीं है।’’ ट्रम्प ने जब यह टिप्पणी की, उस वक्त जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल मौजूद नहीं थीं। ट्रम्प ने 29 देशों के सैन्य संगठन नॉर्थ अटलांटिक ट्रीटी ऑर्गनाइजेशन (नाटो) के सेक्रेटरी जनरल जेन्स स्टोलटेनबर्ग के साथ ब्रेकफास्ट मीटिंग में कहा, ‘‘बहुत दुख की बात है कि जर्मनी ने रूस के साथ तेल और गैस की एक बड़ी डील की है। ये सही नहीं है। जर्मनी के 70% नैचुरल गैस सेक्टर
अपनी शिफ्ट में  मौत नहीं चाहती थी, इसलिए उसने  धीमे जहर का इंजेक्शन देकर मार डाला

अपनी शिफ्ट में मौत नहीं चाहती थी, इसलिए उसने धीमे जहर का इंजेक्शन देकर मार डाला

दुनियामे हलचल
टोक्यो न्‍यूज 4 इंडिया।  जापान में एक नर्स ने जहरीला इंजेक्शन लगाकर 20 बुजुर्ग मरीजों की हत्या कर दी। अपनी शिफ्ट के दौरान मरीजों की मौत को लेकर होने वाले सवाल-जवाब से बचने के लिए उसने ऐसा किया। उसका मानना था कि अगर किसी मरीज की मौत उसकी शिफ्ट के दौरान नहीं होगी तो उसे जिम्मेदार नहीं ठहराया जाएगा। योकोहामा के ओगुची अस्पताल में जुलाई से सितंबर 2016 के दौरान 48 लोगों की मौत हुई थी। वहीं, सितंबर 2016 में सोजो निशिकावा (88) और नोबुओ यामकी (88) की मौत के बाद पोस्टमॉर्टम के दौरान शरीर में एक ही तरह का केमिकल मिलने पर पुलिस से शिकायत की गई। इस मामले में पूछताछ के लिए अस्पताल की नर्स अयूमी कुबोकी (31) को हिरासत में लिया गया। उसने दोनों की हत्या कबूल की। साथ ही, पुलिस को बताया कि वह इस तरह 20 लोगों को मार चुकी है। जहर इस तरह देती थी कि शिफ्ट खत्म होने के बाद मौत हो : अयूमी ने पुलिस को बताया
चुनावी रैली में हमला 21 की मौत 16 घायल

चुनावी रैली में हमला 21 की मौत 16 घायल

दुनियामे हलचल
पेशावर न्‍यूज 4 इंडिया। पाकिस्‍तान में 25 जुलाई को होने वाले आम चुनाव से पहले सुरक्षा की पोल खुल गई है। देश में 37 हजार जवानों की तैनाती के बावजूद पेशावर में 10 जुलाई को देर रात अवामी नेशनल पार्टी की चुनावी रैली में फिदायीन हमला हुआ। इस हमले में 21 लोगों की मौत हो गई। 69 लोग घायल हो गए। विस्‍फोट में मारे गए लोगों में एएनपी नेता हारून बिलौर भी शामिल हैं। वे पेशावर की पीके-78 सीट से प्रांतीय उम्‍मीदवार थे। हमले के वक्‍त वे सभा को संबोधित करने जा रहे थे। जैसे ही स्‍टेज पर पहुंचे हमलावर ने खुद को उड़ा लिया। घायलों में हारून का 16 साल का बेटा दानियाल भी है। हमले में करीब 8 किलो डायनामाइअ का इस्‍तेमाल किया गया है। यह हमला पाकिस्‍तान की आतंकवाद रोधी एजेंसी क अलर्ट जारी करने के एक दिन बाद ही हुआ है। हारून के पिता एएनपी के पूर्व नेता बशीर अहमद बिलौर थे उनकी मौत भी 2012 में ऐसे ही आत्‍मघाती हमले
नोबेल पुरस्कार विजेता थे बंदी 

नोबेल पुरस्कार विजेता थे बंदी 

दुनियामे हलचल
बीजिंग न्‍यूज 4 इंडिया। ये हैं नोबेल पुरस्‍कार से सम्‍मानित चीन के असंतुष्‍ट कार्यकर्ता लियू शियाओबो की विधवा लियू शिया। वे 6 जुलाई को चीन छोड़कर फिनलैंड पहुंच गई हैं। लियू शियाओबो को जब 2010 का नोबेल पुरस्‍कार मिला था, तभी से उन्‍हें नजरबंद रखा गया है। हालांकि उन पर कोई आरोप नहीं हैं उनके पति लियू 1989 के प्रदेर्शन के अगुआ थे। वे 11 साल जेल में रहे।
18 दिन, मिशन हुआ पूरा, मिली कामयाबी

18 दिन, मिशन हुआ पूरा, मिली कामयाबी

दुनियामे हलचल
थाईलैंड न्‍यूज 4 इंडिया। आखिर रेस्‍क्‍यू टीम को सफलता मिल ही गई। थाईलैंड की 10 किमी लंबी गुफा में फंसे बाकी चार बच्‍चों को और उनके कोच को भी सुरक्षित निकाल लिया गया। इसी के साथ दुनिया के सबसे जोखिम भरे बचाव अभियान का सुखद अंत हो गया। सबसे आखिर में टीम के साथ गुफा में रूके तीन डाइवर्स और डॉक्‍टर की टीम बाहर निकाली गई। वाइल्‍ड बोर्स क्‍लब की अंडर-16 टीम के 12 फुटबाल खिलाड़ी और कोच 23 जून को इस गुफा में गए थे। लेकिन गुफा के गेट में बाढ़ का पानी घुस गया। इससे ये लोग फंस गए। बाढ़ के पानी और दलदल से बचते-बचातेये टीम गुफा में चार किमी के अंदर एक चेंबर में ऊंचे टीले पर पहुंच गई थी, जिससे इनकी जान बच सकी। गुफाममेंइनकी साइकिल, सामान और पैरों के निशान मिलने के बाद तय हो गया था कि ये बच्‍चे गुफा में ही हैं। इस दलदल और पानी से भरी इस गुफा में फिर दुनिया का सबसे जोखिम भरा इंटरनेशनल रेस्‍क्‍यू मिशन श
रिकॉर्ड समय में आइएसएस पर पहुंचा मानवरहित  अंतरिक्ष यान

रिकॉर्ड समय में आइएसएस पर पहुंचा मानवरहित अंतरिक्ष यान

दुनियामे हलचल
मॉस्को  न्‍यूज 4 इंडिया। रूस का मालवाहक अंतरिक्ष यान खाद्य सामग्री, ईंधन और अन्य जरूरी सामान लेकर रिकॉर्ड तीन घंटे 40 मिनट में धरती से अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (आइएसएस) पर पहुंच गया। पहली बार किसी अंतरिक्ष यान ने पृथ्वी की कक्षा में स्थापित आइएसएस तक का सफर इतने कम समय में तय किया है। इससे पहले किसी यान के आइएसएस पर पहुंचने का रिकॉर्ड समय पांच घंटे 39 मिनट था। प्रोग्रेस एमएस-09 यान ने स्थानीय समयानुसार10 july  तड़के तीन बजकर 51 मिनट पर कजाखस्तान के बैकानूर अंतरिक्ष प्रक्षेपण स्थल से उड़ान भरी। मानवरहित अंतरिक्ष यान करीब तीन टन सामग्री लेकर लांच के चार घंटे के भीतर ही आइएसएस पर पहुंच गया। रूस की अंतरिक्ष एजेंसी रॉसकोमोस के अनुसार, यान की तेज गति सोयूज बूस्टर रॉकेट के उन्नत संस्करण 2.1 की वजह से संभव हुई। इस रॉकेट को पहले पिछले साल परखा जाना था। लेकिन अक्टूबर, 2016
सबसे ज्यादा फॉलो किए जाने वाले नेता

सबसे ज्यादा फॉलो किए जाने वाले नेता

दुनियामे हलचल
जेनेवा  न्‍यूज 4 इंडिया।  डोनाल्ड ट्रम्प ट्विटर पर 5.33 करोड़ फॉलोअर्स के साथ दुनिया में सबसे ज्यादा फॉलो किए जाने वाले नेता बन गए हैं। उनके नरेंद्र मोदी से 99 लाख और पोप फ्रांसिस से 2.55 करोड़ ज्यादा फॉलोअर्स हैं। राष्ट्रपति बनने के बाद से ट्रम्प के फॉलोअर्स दोगुना हो गए हैं। यह जानकारी एक अध्ययन में सामने आई है। पिछले 12 महीनों में ट्रम्प ने अपने फॉलोअर्स के साथ 26.45 करोड़ संवाद किए। इस मामले में मोदी दूसरे और पोप फ्रांसिस तीसरे नंबर पर हैं। ट्रम्प के मुकाबले मोदी अपने फॉलोअर्स से 20% ही संवाद कर पाते हैं। पोप फ्रांसिस की अपेक्षा ट्रम्प अपने फॉलोअर्स से 12 गुना ज्यादा संवाद करते हैं। सबसे कम ट्वीट करने के मामले में सऊदी अरब के किंग सलमान पहले नंबर पर हैं। उन्होंने मई 2017 से मई 2018 के दौरान सिर्फ 11 ट्वीट किए। हालांकि, उनके एक ट्वीट पर औसतन 1 लाख 54 हजार 294 रिट्वीट हुए। वहीं, ट
गुफा से गोताखोरों ने 4 और बच्चों की बचाई जान अब 5 और बाकी

गुफा से गोताखोरों ने 4 और बच्चों की बचाई जान अब 5 और बाकी

दुनियामे हलचल
थाईलैंड न्‍यूज 4 इंडिया। गुफा में फंसे बच्‍चों को निकालने के लिए रेस्‍क्‍यू टीम बच्‍चों को बचाने में सफल हो रही है, लेकिन अभी कोच सहित 5 बच्‍चे गुफा के अंदर हैं। थाईलैंड की थाम लुआंग गुफा में फंसी जूनियर फुटबॉल टीम के 4 और बच्‍चों को 9 जुलाई को बाहर निकाल लिया गया। बाकी 5 सदस्‍यों को निकालने के लिए बचाव दल के जवान लगे हुए हैं। इन्‍हें 10 जुलाई को शाम तक रेस्‍क्‍यू किए जाने की उम्‍मीद है। हालांकि बारिश का खतरा बरकररार है इससे  पहले 8 जुलाई तक गुफा से 4 बच्‍चों को निकाला गया था। इन्‍हें मिलाकर रेस्‍क्‍यू हुए बच्‍चों की संख्‍या 8 हो गई है। बचाव अभियान के प्रमुख नारोंगसाक ने बताया कि अभी भी 8 जुलाई जैसे हालात हैं जो अच्‍छा है 8 जुलाई को बारिश हुई थी, पर उससे गुफा में जलस्‍तर नहीं बढ़ा। 11 से 16 साल तक के 12 खिलाडि़यों और उनके कोच सहित यह जूनियर फुटबॉल टीम 23 जून को गुफा देखने गई थी। बारिश