फांसी की सजा बरकरार पुनर्विचार याचिका खारिज 

नई दिल्‍ली न्‍यूज 4 इंडिया। दुष्‍कर्मियों को उनके गुनाहों की सजा मिलेगी। 16 दिसंबर 2012 की रात को दिल्‍ली में चलती बस में निर्भया के साथ बर्बरता और सामूहिक दुष्‍कर्म करने वाले दरिंदों को फांसी की सजा होगी। सुप्रीम कोर्ट ने 9 जुलाई को तीन दोषियों मु‍केश सिंह(29), पवन गुप्‍ता(22) और विनय शर्मा(23) की रिव्‍यू पिटीशन खारिज कर दी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि दोषियों की ओर से फांसी की सजा के उसके फैसले पर पुनर्विचार करने का कोई आधार नहीं दिया गया। चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस आर भानुमति…

Read More