नवरात्रि का शुभ मुहूर्त और लक्ष्मी प्राप्ति के योग एवं पूजन

नवरात्रि में देवी पूजन का विशेष महत्व है।भक्ति से की साधना कभी निराश नही करती है। इस बार नवरात्रि 29 सितम्बर से 8 अक्टूबर तक है।29 सितम्बर को रविवार और नवरात्रि की एकम है।इसीतरह,6 अक्टूबर को अष्ठमी ,7 अक्टूबर को नवमी तथा 8 अक्टुबर को दसमी तथा विसर्जन होगा। 29 सितंबर के सर्वार्थसिद्धि योग 9:15 AM/प्रातःकाल से 12:20PM/दोपहर तक फिर शाम 6:15PM से 9:45PM तक इस दौरान अनुष्ठान प्रारंभ या घट प्रतिष्ठा का शुभ व अमृत मुहुर्त है। नवरात्रि में क्रमशः ब्रमचारणी, चंद्रघटा, कूष्मांडा, महागौरी,स्कन्दमाता,कृत्यायनी, कालरात्रि व सिद्धदात्री देवी के…

Read More

भगवत गीता से सफलता के अचूक फार्मूले

भगवत गीता से सफलता के अचूक फार्मूल आज से  लगभग 5000वर्ष पूर्व भगवतगीता की रचना हुई। भगवद्गीता मुख्य रूप से महाभारत का एक प्रसंग है। प्रसंग बताता है ,कि महाभारत के युद्ध के दौरान अर्जुन युद्ध में स्वयं के रिश्तेदार, नातेदार, गुरुजनों और इष्ट मित्रों को उपस्थित देखकर दुखी हो जाते हैं और महसूस करते हैं ,कि इन परिजनों, इष्ट मित्रों ,रिश्तेदार औऱ नातेदारो में से बहुत से लोग युद्ध के दौरान नष्ट हो जाएंगे। वह अपने मन की सारी व्यथा और मन के उठ रहे उद्विग्न विचारों को भगवान श्री…

Read More

पितृ शांति और पितृ दोष के निवारण का अचूक उपाय

पित्र मोक्ष अमावस्या के अवसर पर पितृदोष से निवृत्ति का सटीक उपाय इसे सिर्फ सुन कर करे पितृ दोष दूर ,इसे अधिक पूण्य लाभ के लिए अपने रिश्तेदारों और ईस्ट मित्रों में भी शेयर करे।• पित्तृ पक्ष हिंदुओं के जीवन का एक महत्वपूर्ण समय होता है। जबकि जातक/पुत्र अपने पितृ को स्मरण करते हैं और अपने वर्तमान और भविष्य की संतति के लिए आशीर्वाद प्राप्त करने पितृसत्ता से निवेदन करते हैं। सर्वप्रथम, यहां समझना आवश्यक है ,कि पितृपक्ष क्या है? पितृ क्या होते हैं? और पितृ दोष कैसे उत्पन्न होता…

Read More

दो और तीन जुलाई के मध्य पड़ने वाले सूर्य ग्रहण का क्या रहेगा प्रभाव जाने

साल 2019 का दूसरा सूर्य ग्रहण आषाढ़ मास की अमावस्या तिथि को यानी 2 और 3 जुलाई की मध्यरात्रि में लगने जा रहा है। भारतीय समय के अनुसार यह खग्रास सूर्यग्रहण आधी रात में होने की वजह से भारत में दृश्य नहीं होगा। 2 जुलाई को न्यूजीलैंड तट से ग्रहण का आरंभ होगा। इस ग्रहण को ब्राजील, अर्जेंटीना, चिली, कोलम्बिया, पेरू के अलावा प्रशान्त महासागर के क्षेत्र में भी देखा जा सकेगा। पारग्वे, उरुग्वे, इक्वाडोर में भी इस सूर्य ग्रहण को आंशिक रूप से लोग देख सकेंगे। सूर्य ग्रहण का…

Read More

आज : जानिए क्या है इसका महत्व, शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

गंगा दशहरा के बाद होने वाली एकादशी को निर्जला एकादशी कहते हैं। इस बार यह आज यानी गुरुवार को मनाई जा रही है। पूरे साल की 24 एकादशियों में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण मानी जाती है। इसे भीम एकादशी के नाम से भी जाना जाता है। हिंदू कैलेंडर के मुताबिक हर साल ज्‍येष्‍ठ महीने की शुक्‍ल पक्ष की एकादशी को निर्जला एकादशी या भीम एकादशी का व्रत किया जाता है। यह व्रत बिना पानी के रखा जाता है इसलिए इसे निर्जला एकादशी कहते हैं। निर्जला एकदशी का महत्‍व साल में पड़ने वाली…

Read More

चाणक्य ने बताए सफलता के 4 सूत्र

जीवन में सफलता के लिए सिर्फ कड़ी मेहनत ही आवश्यक नहीं होती बल्कि मनुष्य को देश, काल व परिस्थिति के अनुसार विवाद, विरोध, प्रलोभन और युद्ध जैसी स्थिति के लिए भी तैयार रहना चाहिए। महान कूटनीतिज्ञ आचार्य चाणक्य ने सफलता के लिए कूटनीति के चार प्रमुख अस्त्र बताए हैं, जिनका उपयोग समय और परिस्थितियों को ध्यान में रखकर करना चाहिए। यदि इन चारों को साध लिया गया तो फिर मनुष्य की जीत सुनिश्चित है। ये चार अस्त्र हैं- साम, दाम, दंड और भेद। जब मित्रता दिखाने (साम) की आवश्यकता हो…

Read More

सूर्य का गोचर आज, जानें भविष्यफल

सूर्य के वृषभ राशि में आते ही बदल जाएगी इन 7 राशि वाले जातको की क़िस्मत! अभी से हो जाएं सावधान नहीं तो भुगतना होगा ख़ामियाज़ा। वैदिक ज्योतिष में सूर्य देव को पिता, पूर्वज, आत्मा और सरकारी सेवा के कारक के रूप में देखा जाता रहा है। इसी चलते कुंडली में सूर्य के शुभ प्रभाव से सरकारी नौकरी, राजनीति और किसी भी संस्था में उच्च पद की प्राप्ति होने की संभावना बढ़ जाती है। सूर्य देव को सिंह राशि का स्वामित्व प्राप्त होता है और मेष, सिंह और धनु में…

Read More

क्लीं का चमत्कार, होगा वशीकरण और आकर्षक व्यक्तित्व

  यह क्लीं एक चमत्कारी मंत्र है। यह शक्ति का मूल स्रोत है। इस शक्ति के प्रभाव से सम्मोहन, वशीकरण और आकर्षक व्यक्तित्व की प्राप्ति संभव है। कहा जाता है, कलयुग में साधना से सिद्धि आसानी से मिल जाती है, परंतु यह बात अधूरी ही है। साधना से सिद्धि प्राप्त हो सकती है, यदि साधना का नियोजन और सिद्धि की प्राप्ति का लक्ष्य आत्म उत्थान और जनकल्याण हो तो निश्चित ही सफलता हासिल होती हैं। परंतु सावधान यदि आप शक्तियों का दुरुपयोग कर सम्मोहन वशीकरण जैसे तंत्र को किसी गलत…

Read More

जो पवित्र होना चाहिए वह तेजी से डरावना हो रहा है यह ना तो राय है और ना ही निष्कर्ष

हाईकोर्ट ने सरकारों से कहा- पता कीजिए, कहीं टीवी सीरियल देखने से तो नहीं बढ़ रहे विवाहेत्‍तर संबंध कोर्ट ने ऐसा इसलिए कहा क्योंकि पिछले कुछ समय में हत्या, हमले और अपहरण जैसी आपराधिक घटनाओं में तेजी आई है। मद्रास हाईकोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकारों से कहा है कि वो पता लगाएं कि विवाहेतर संबंध के लिए कहीं ‘मेगा टीवी सीरियल्स’ या अन्य चीजें तो जिम्मेदार नहीं है। कोर्ट ने ऐसा इसलिए कहा क्योंकि पिछले कुछ समय में हत्या, हमले और अपहरण जैसी आपराधिक घटनाओं में तेजी आई है।…

Read More

नव भारत का हुआ अभिनंदन

  यूं ही नहीं यह राष्ट्र बना .. यूं ही नहीं यह राष्ट्र गढ़ा .. आदि अनादि कालो से हर युग ने इसकाअभिनंदन किया .. पिछले सप्ताह जो कुछ भी हुआ उसे हम एक आयामी घटना के तौर पर नहीं देख सकते, एक ओर जहां भारत ने सख्त रूप अपनाया और दूसरी ओर पाकिस्तान में खलबली मच गई। पाकिस्तान ही क्या दुनिया के बहुत से देशों ने यह विचार नहीं किया होगा कि भारत इतना कड़ा और बढ़ा कदम उठा सकता है। सब को यह बात भी स्पष्ट हो गई…

Read More