भगोड़े कारोबारी विजय माल्या ने प्रत्यर्पण रोकने की दोबारा अर्जी दी

विजय माल्या ने ब्रिटेन के उच्च न्यायालय में अपने प्रत्यर्पण के खिलाफ अपील करने को लेकर फिर आवेदन किया है। माल्या की यह भारत को उसके प्रत्यर्पण के खिलाफ एक और कोशिश होगी। माल्या 9,000 करोड़ रुपए के धोखाधड़ी और मनी लांड्रिंग मामले में भारत में वांछित है।

किंगफिशर एयरलाइन के पूर्व प्रवर्तक माल्या, 63 वर्ष, की अपील के लिये अनुमति याचिका की पिछली कोशिश इससे पहले शुक्रवार को असफल हो चुकी है। इसके बाद माल्या के पास दोबारा संक्षिप्त सुनवाई के लिये आवेदन के नवीनीकरण के लिये पांच कार्य दिवस का समय था।

न्यायालय के एक अधिकारी ने शुक्रवार को कहा, ‘एक रीन्यूअल फॉर्म प्राप्त हुआ है और इसे आने वाले समय में सूचीबद्ध कर दिया जाएगा।’ ब्रिटेन के गृह मंत्री साजिद जाविद ने माल्या के प्रत्यर्पण के न्यायालय के आदेश पर फरवरी में हस्ताक्षर कर दिये थे।

विजय माल्या पर धोखाधड़ी और मनी लॉन्डरिंग के आरोप हैं। माल्या 2016 से लंदन में है। उसका वहां की कोर्ट में 4 दिसंबर 2017 से ट्रायल चल रहा है। विजय माल्या पर भारत के 13 बैंकों से 9 हजार करोड़ रुपए की धोखाधड़ी का आरोप है। माल्या 2 मार्च 2016 से भारत में नहीं है। सीबीआई और ईडी विजय माल्या के प्रत्यर्पण के लिए कोशिश कर रहे हैं। अब उसका भारत आना लगभग तय हो चुका है।

Related posts

Leave a Comment