नई दिल्ली । गोवा विधानसभा चुनाव के रण में पहली बार उतर रही तृणमूल कांग्रेस पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल  ने निशाना साधा। उन्होंने सीएम ममता बनर्जी की पार्टी को लेकर कहा, ''मेरे हिसाब से टीएमसी सरकार के पास 1% वोट शेयर भी नहीं है। वो पार्टी 3 महीने पहले गोवा में आई है ऐसे डेमोक्रेसी नहीं चलती है। डेमोक्रेसी के लिए आपको जनता के बीच काम करना पड़ता है। आपकी नज़रों में टीएमसी ऊपर होगी लेकिन मुझे नहीं लगता कि वो रेस में कहीं खड़ी भी है। आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल से जब प्रेस कॉन्फ्रेंस में टीएमसी पर उनकी चुप्पी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘‘देश में 1,350 पार्टियां हैं, क्या मुझे सभी का जिक्र करना शुरू कर देना चाहिए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आप केवल पोस्टरों के आधार पर चुनाव नहीं जीत सकते। आपको काम करने और वोट मांगते समय अपनी उपलब्धि को लोगों तक ले जाने की जरूरत होती है। अरविंद केजरीवाल और सीएम ममता बनर्जी को राजनीतिक तौर पर काफी करीब माना जाता है। आप ने 2017 में भी गोवा विधानसभा चुनाव लड़ा था, लेकिन 40 सदस्यीय सदन में एक भी सीट नहीं जीत सकी थी। टीएमसी ने घोषणा की है कि वह गोवा में आगामी चुनावों में सभी 40 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को कहा कि गोवा में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों में यदि आप सत्ता में आयी तो वह राज्य में ‘‘भ्रष्टाचार मुक्त और ईमानदार’’ सरकार देगी। केजरीवाल ने पणजी में संवाददाताओं से कहा कि आप की दिल्ली सरकार के पिछले कार्य निष्पादन रिकार्ड के आधार पर यह गारंटी दी गई है जहां उसके ही मंत्री को एक दुकानदार से रिश्वत मांगने के आरोप में पद से हटा दिया गया था। केजरीवाल ने कहा कि अगर आप गोवा में सत्ता में आती है तो उसकी सरकार घर-घर जाकर सेवाएं मुहैया कराकर छोटे स्तर के भ्रष्टाचार को भी रोकेगी। उन्होंने कहा, ‘‘हमने पहले ही दिल्ली में सेवाओं को घर पर मुहैया कराना शुरू कर दिया है। सभी सरकारी सेवाएं आपके दरवाजे पर उपलब्ध होंगी।