नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से यह सुनिश्चित करने को कहा है कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर आगामी त्योहार सावधानियों के साथ सुरक्षित तरीके से मनाए जाएं. केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को लिखे पत्र में कहा कि कोविड मामलों में किसी भी तरह की बढ़त पर काबू पाने के लिए पिछले महीने जरूरी है कि मानक संचालन प्रक्रियाओं (SOP) का पालन किया जाए.

'सामूहिक आयोजनों पर लगाएं रोक'
भूषण ने पत्र में कहा, 'निषिद्ध क्षेत्रों (Prohibited Areas) के रूप में पहचाने जाने वाले इलाकों और 5% से ज्यादा संक्रमण दर वाले जिलों में किसी भी सामूहिक आयोजन की अनुमति (Permission) नहीं दी जानी चाहिए. इसके आलावा त्योहारों के दौरान सावधानी बरतने के लिए संबंधित राज्य सरकारों द्वारा पर्याप्त रूप से पहले ही आवश्यक निर्देश जारी किए जाने चाहिए. साथ ही कोविड संबंधी उपयुक्त व्यवहार के उल्लंघन के मामले में दंडात्मक कार्रवाई के लिए भी सरकारें कदम उठाएं.

त्योहारों पर खास निगरानी रखने के दिए सख्त निर्देश
गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से ऑनलाइन समारोहों, ऑनलाइन खरीदारी और अनावश्यक यात्रा से बचने के लिए विभिन्न तौर-तरीकों का पता लगाने तथा उन्हें बढ़ावा देने को भी कहा. केंद्र ने कहा कि यह अहम है कि जिला स्वास्थ्य अधिकारी स्थानीय मामलों की संख्या पर कड़ी नजर रखें और स्वास्थ्य मंत्रालय और गृह मंत्रालय द्वारा समय-समय पर जारी परामर्श के आधार पर समय पर और सख्ती से हस्तक्षेप करें.

'कोरोना की दूसरी डोज पर ध्यान दें राज्य सरकारें'
गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने शनिवार को राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से उन लाभार्थियों पर जोर देने को कहा, जो अपनी वैक्सीन की टाइम ड्यूरेशन खत्म होने के बाद भी दूसरी डोज नहीं लगवा रहे हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘अब तक 71.24 करोड़ पहली खुराक, पात्र आबादी के 76% को कवर करती है, और 30.06 करोड़ दूसरी खुराक, पात्र आबादी के 32% को कवर करती है, जिन्हें कोविड टीके की खुराक लगाई हैं.'