संक्रमण की राजनीति, कोरोना की चैन:चुनावी माहौल के लिए नेताओं ने गांव-गांव से बुलाए लोग, सोशल डिस्टेंसिंग भूले
 

मंच-पंडाल से लेकर हैलिपैड तक कहीं भी सोशल डिस्टेंसिंग दिखाई नहीं दिखी
कोरोना संक्रमण रोकने के लिए जो खुद जिम्मेदार, उन्हीं का गैरजिम्मेदार रवैया

मंगलवार को छतरपुर जिले के बड़ामलहारा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सभा में कोरोना की चैन और ज्यादा मजबूत हो गई, क्योंकि सभा के लिए नेताओं ने गांव-गांव से कार्यकर्ताओं को बुलाया। सभा को सफल बनाने के लिए प्रशासनिक अमला भी जुटा रहा। नतीजा यह हुआ कि मंच-पंडाल से लेकर हैलिपैड तक कहीं भी सोशल डिस्टेंसिंग दिखाई नहीं दी। जहां मंच पर नेताओं ने एक-दूसरे का हाथ पकड़कर चुनावी शंखनाद किया, वहीं पंडाल और हैलिपेड पर धक्का-मुक्की होती रही।