इंदौर  परिवार की बेरुखी के बाद भी इंजीनियर बेटे का प्यार परवान चढ़ा और लव मैरिज कर ली। शादी के पांच माह के अंदर ही प्यार में तकरार शुरू हो गई। अंतत: इंजीनियर पति ने जहर पीकर खुदकुशी कर ली। हालांकि, बेटे की मौत के बाद पिता ने बहू पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि बहू जया उस पर शक करती थी। उसे नौकरी पर भी जाने नहीं देती थी। वह सौरभ को कई बार मारा करती थी और खाना भी नहीं देती थी। पुलिस का कहना है कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल सकेगा उसकी मौत कैसे हुई। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

इंदौर के द्वारकापुरी थाना क्षेत्र में रहने वाले एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर सौरभ शिंदे ने जहरीला पदार्थ पीकर आत्महत्या कर ली। मामले की जानकारी लगने के बाद युवक को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। थाना प्रभारी सतीश द्विवेदी के अनुसार घटना गुरुवार दोपहर की बताई जा रही है। जब पुलिस को जिला अस्पताल से सूचना मिली थी। इसके बाद पुलिस ने घटनास्थल पर जाकर कमरे को सील किया। सौरभ की शादी 5 माह पूर्व जया से हुई थी। लव मैरिज होने के कारण दोनों परिवार से अलग रह रहे थे।

पिता का आरोप- बहू ने दे दिया जहर

सौरभ के पिता सुभाष शिंदे का आरोप था कि युवती जया और सौरभ ने 19 जुलाई 2021 को लव मैरिज की थी। लड़की पक्ष को कई बार शादी के लिए इंतजार करने की बात कही थी, लेकिन लड़की के परिवार वाले नहीं माने। इसके बाद सौरभ और जया ने शादी कर ली। वह दोनों ही द्वारकापुरी इलाके में किराए का मकान लेकर रह रहे थे। घटना के बाद पिता सुभाष के पास पुत्र सौरभ का फोन आया था। उन्होंने बताया कि फोन पर वह इस बात का जिक्र कर रहा था कि उसकी तबीयत खराब हो रही है। उन्होंने फोन पर यह कहा कि उन्हें लोकेशन नहीं मालूम है। वह सौरभ के पास कैसे पहुंचेंगे। कुछ देर बाद मकान मालिक से बात होने पर सुभाष ने सौरभ को अस्पताल ले जाने के बात भी कही।

8 माह से था बेरोजगार

सुभाष शिंदे ने बताया कि सौरभ और जया शादी के बाद परिवार से अलग हो गए थे। सौरभ गुजरात की हिताची कंपनी में काम करता था, लेकिन 8 माह से बेरोजगार था। सुभाष ने आरोप लगाया कि जया उनके बेटे सौरभ पर शक करती थी। उसे नौकरी पर जाने नहीं देती थी। वह सौरभ की पिटाई भी कर देती थी। खाना भी नहीं देती थी। मारपीट से परेशान होकर सौरभ पिता को इस बारे में बता दिया करता था।

दोनों पक्षों के बयान लिए जाएंगे

थाना प्रभारी सतीश द्विवेदी का कहना था कि अभी पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद दोनों पक्ष के बयान लेना बाकी है, लेकिन प्रथम दृष्टया जिस तरह से कमरे में बदबू आ रही थी, उससे यह प्रतीत हो रहा था कि सौरभ ने कोई जहरीला पदार्थ या कीटनाशक पीकर यह कदम उठाया है।