कोरोनाकाल की शुुरुआत से ही इस जंग से लड़ने के लिए नए-नए मॉडल पेश करने वाली गहलोत सरकार ने मंगलवार को एक और अनूठी पहल की। देश में पहली बार किसी मुख्यमंत्री ने कोरोना के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए एक ही मंच पर प्रदेश के ढाई लाख लोगों और 10 हजार पंचायतों से सबसे बड़ा ऑनलाइन जनसंवाद किया। इसमें देश के कई विख्यात डॉक्टर्स भी लोगों से रूबरू हुए। सीएम अशोक गहलोत ने कहा, आज कोरोना हर व्यक्ति की लड़ाई बन गया है। सरकार इससे लड़ने के हरसंभव प्रयास कर रही है। अब लोगों को भी खुद आगे आना होगा। कोरोना के प्रति जागरूकता अब सामाजिक आंदोलन बनना चाहिए। यदि कोरोना को काबू करना है तो हर व्यक्ति अनिवार्य रूप से मास्क पहने। सोशल डिस्टेंसिंग रखें, हैल्थ प्रोटोकॉल की पालना करें। मार्च में ही हमारे एक्सपर्ट्स ने कह दिया था कि 10% आबादी कोरोना से संक्रमित हो सकती है। वही हुआ। भारत पहला देश बन गया है, जहां रोज एक लाख रोगी मिलने शुरू हो गए हैं।