गाड़ी के लेग स्पेस में रखे विस्फोटकों के साथ कर रहे थे सवारी


चेन्नई। तमिलनाडु में पटाखा खरीदने के बाद घर जा रहे एक पिता-पुत्र की मौत हो गई। दरअसल जिस बोरी में वे पटाखे को ले जा रहे थे, उसमें अचानक विस्फोट हो गया, जिससे दोनों की तुरंत मौत हो गई। पुडुचेरी के पास अरियानकुप्पम के रहने वाले कलैयारासन और उनका 7 वर्षीय बेटा गाड़ी के लेग स्पेस में रखे विस्फोटकों के साथ स्कूटर की सवारी कर रहे थे। घटना का सीसीटीवी फुटेज सामने आया है, जिसमें एक बड़ा धमाका होते हुए दिखाई देता है जिसके बाद विस्फोट से निकला धुआं और आग की लपटें कई मीटर तक फैल जाती है। इस धमाके में स्कूटर पर जा रहे पिता और पुत्र के साथ, पास में सवार तीन अन्य भी घायल हो गए। घायलों को पुडुचेरी के जिपमेर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
 पीड़ित के परिवार के मुताबिक, कलैयारासन ने परिवार के खाने-पीने और पटाखों के एक हिस्से को बेचने के लिए खरीदारी की थी। विस्फोट और मौतों के बाद दोपहिया वाहनों पर ले जाने वाले पटाखों की सीमा को लेकर बातें शुरू हो गई हैं। पुलिस अधिकारियों ने मौके पर प्रारंभिक जांच की और बोरियों में रखे पटाखे बरामद किये। चेन्नई शहर की पुलिस ने दिवाली के दिन विभिन्न उल्लंघनों के लिए 760 से अधिक लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इनमें से अधिकतर मामले समय प्रतिबंधों को तोड़ने के लिए है। गुरुवार को चेन्नई में शहर के हवा में पटाखे फोड़ने की वजह से पैदा हुए घने धुएं के कारण कई इलाके अंधेरे में डूब गए थे।