RBI की खुदरा प्रत्यक्ष योजना (Retail Direct scheme) को शुक्रवार को PM नरेंद्र मोदी ने लॉन् किया। इस मौके पर PM ने कहा कि रिटेल डायरेक् स्कीम (RDG) के आने से निवेशक कहीं भी बैठकर निवेश कर सकता है। इसके लिए उसे अब फंड मैनेजर को फीस देने या राय लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

RBI की दो स्कीमों पर बड़ी बातें

1; PM मोदी ने कहा कि आज जिन दो योजनाओं को लॉन्च किया गया है, उनसे देश में निवेश के दायरे का विस्तार होगा और कैपिटल मर्केट्स को एक्सेस करना निवेशकों के लिए अधिक आसान, अधिक सुविधाजनक बनेगा।

2; PM मोदी ने कहा कि RDG से निवेशकों के बड़े वर्ग को निवेश का एक और प्लेटफॉर्म मिल गया है। खासकर छोटे निवेशक अब सरकारी सिक्योरिटी में निवेश कर पाएंगे।

3; PM मोदी ने कहा कि वहीं एकीकृत लोकपाल योजना ग्राहकों के हितों की रक्षा करने वाली है। इससे कोई भी निवेशक कहीं भी बैठकर एक पोर्टल पर शिकायत दर्ज कर सकता है।

4; PM मोदी ने कहा कि अब तक गर्वमेंट सिक्योरिटी मार्केट में हमारे मध्यम वर्ग, कर्मचारी, छोटे व्यापारी, वरिष्ठ नागरिकों को सिक्योरिटीज में निवेश के लिए बैंक इंश्योरेंस या म्यूचल फंड जैसे रास्ते अपनाने पड़ते थे। अब उन्हें सुरक्षित निवेश का एक और बेहतर विकल्प मिल रहा है।

5; बैंकिंग सेक्टर को और मज़बूत करने के लिए Co-operative बैंकों को भी RBI के दायरे में लाया गया है। इससे इन बैंकों की गवर्नेंस में भी सुधार रहा है और जो लाखों depositors हैं, उनमें भी इस सिस्टम के प्रति विश्वास मजबूत हो रहा है।

6; PM ने कहा कि बीते 7 साल में, NPAs को पारदर्शिता के साथ Recognize किया गया। Resolution और recovery पर ध्यान दिया गया। पब्लिक सेक्टर बैंकों को Recapitalize किया गया। फाइनेंशियल सिस्टम और पब्लिक सेक्टर बैंकों में एक के बाद एक रिफॉर्म्स किए गए।