इस्लामाबाद । बीमार चल रहे पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर कर उपचार के लिए छह सप्ताह जमानत अवधि बढ़ाने की मांग की है। शरीफ ने कहा अगर उनकी याचिका खारिज की गई तो उससे उन्हें अपूरणीय क्षति होगी।  सुप्रीम कोर्ट ने 26 मार्च को अल अजीजिया स्टील मिल भ्रष्टाचार मामले में शरीफ की सजा को निलंबित कर दिया था और उन्हें छह हफ्ते के लिए जमानत प्रदान की थी, लेकिन शर्त यह रखी थी कि इस अवधि में वह पाकिस्तान से बाहर नहीं जाएंगे। उनकी जमानत 7 मई को खत्म हो रही है, जिसे उन्होंने बढ़ाने की मांग की है। नवाज ने 26 मार्च के आदेश की अपनी समीक्षा याचिका पर फैसला होने तक इसे बढ़ाने की मांग करते हुए देश से बाहर जाने की अनुमति मांगी है। पिछले सप्ताह पूर्व प्रधानमंत्री ने उपचार के लिए विदेश जाने के लिए शीर्ष अदालत से अनुमति मांगी थी।