उज्जैन स्थित महाकाल मंदिर में डांस के स्टेप का वीडियो बनाकर गाने पर मिक्सिंग करके वाली महिला पर FIR दर्ज हो गई। महिला ने मंदिर के अंदर का वीडियो बनाकर इंस्टाग्राम पर अपलोड किया था। इंस्टाग्राम पर उसके डेढ़ लाख से ज्यादा फॉलोअर हैं। वीडियो वायरल होने के बाद महाकाल मंदिर के पुजारी ने इसे आपत्तिजनक बताया था। उन्होंने मांग की कि महिला के मंदिर में प्रवेश पर रोक लगाई जाए। विवाद बढ़ा तो महिला ने माफी मांग ली थी और वीडियो को इंस्टाग्राम से हटा दिया था।

उज्जैन निवासी राकेश पुत्र शंकरलाल परमार ने इस मामले में महाकाल थाने में शिकायत की थी। सीएसपी पल्लवी शुक्ला ने बताया की सरकार की गाइडलाइन का उल्लंघन करने पर इंदौर निवासी महिला के खिलाफ सोमवार को धारा 188 में मामला दर्ज किया गया है। यह मामला धार्मिक आस्था को ठेस पहुंचाने को लेकर दर्ज किया गया है।

 क्या है पूरा विवाद?

पिलरों पर फिल्माया गया है। वीडियो वायरल होने के बाद हिंदू संगठनों ने आपत्ति जताई थी। उनका कहना है कि मंदिर में इस तरह के डांस करने वालों पर कार्रवाई होनी चाहिए।
महाकाल मंदिर के वरिष्ठ पंडित महेश पुजारी ने कहा कि वीडियो आपत्तिजनक है। देव स्थान पर इस तरह फिल्मी गानों पर अभद्र प्रदर्शन करना बिल्कुल जायज नहीं है। महाकाल करोड़ों लोगों की आस्था का केंद्र हैं। ये जगह फिल्मी गानों के लिए नहीं है। ऐ​​से सभी श्रद्धालुओं का मंदिर में प्रवेश प्रतिबंधित करना चाहिए

कौन हैं मनीषा रोशन

​मनीषा रोशन इंदौर की रहने वाली हैं। उन्होंने अपने इंस्टाग्राम पर महाकाल मंदिर के दो वीडियो अपलोड किए थे, हालांकि विवाद बढ़ने के बाद ये दोनों वीडियो डिलीट कर दिए गए। इनमें से एक वीडियो 7 सेकेंड और दूसरा 14 सेकेंड का था।

मनीषा ने रविवार को माफी मांगते हुए वीडियो जारी किया था। उन्होंने कहा है कि महाकाल मंदिर में बनाए गए वीडियो से किसी संगठन या व्यक्ति को ठेस पहुंची हो तो माफी मांगती हूं। मेरी भावना किसी को आहत करने की नहीं थी। मैं आगे भी ध्यान रखूंगी कि किसी की भावना आहत न हो।