आज चंद्रमा कर्क राशि में विराजमान रहेगा. साथ ही आज के दिन मार्गशीर्ष मास की कृष्ण पक्ष की सप्तमी की तिथि है. आज के दिन क्या कुछ विशेष है क्या शुभ मुहूर्त है इस बारे में जानना आपके लिए जरूरी है.
26 नवंबर को पंचांग (panchang) के अनुसार आश्लेषा नक्षत्र है. इस दिन ब्रह्म योग का निर्माण हो रहा है. साथ ही शुक्रवार का दिन लक्ष्मी जी को समर्पित है. इस दिन विधि पूर्वक लक्ष्मी जी की पूजा करने से जीवन में सुख-समृद्धि आती है. शुक्रवार के दिन सुबह शाम लक्ष्मी जी की पूजा करनी चाहिए.
क्या है आज का राहु काल
पंचांग के अनुसार, 26 नवंबर 2021, शुक्रवार को राहु काल प्रात: 10 बजकर 49 मिनट से अपरान्ह: 12 बजकर 8 मिनट तक रहेगा. राहु काल में शुभ कार्य करना वर्जित माना गया है.

26 नवंबर 2021 पंचांग

विक्रमी संवत्: 2078
मास पूर्णिमांत: मार्गशीर्ष
पक्ष: कृष्ण
दिन: शुक्रवार
तिथि: सप्तमी - 29:45:26 तक
नक्षत्र: आश्लेषा - 20:36:36 तक
करण: विष्टि - 17:20:10 तक, बव - 29:45:26 तक
योग: ब्रह्म - 07:59:52 तक
सूर्योदय: 06:52:02 AM
सूर्यास्त: 17:24:17 PM
चन्द्रमा: कर्क राशि - 20:36:36 तक
द्रिक ऋतु: हेमंत
राहुकाल: 10:49:08 से 12:08:10 तक (इस काल में कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता है)
शुभ मुहूर्त का समय, अभिजीत मुहूर्त - 11:47:05 से 12:29:14 तक
दिशा शूल: पश्चिम
अशुभ मुहूर्त का समय -
दुष्टमुहूर्त: 08:58:29 से 09:40:38 तक, 12:29:14 से 13:11:23 तक
कुलिक: 08:58:29 से 09:40:38 तक
कालवेला / अर्द्धयाम: 14:35:41 से 15:17:50 तक
यमघण्ट: 15:59:59 से 16:42:08 तक
कंटक: 13:11:23 से 13:53:32 तक
यमगण्ड: 14:46:13 से 16:05:15 तक
गुलिक काल: 08:11:04 से 09:30:06 तक